New Gyan सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

जनवरी, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

2014 में आप से बदलाव की ओर राजनीति

2014 में आप से बदलाव की ओर राजनीति अभिषेक कांत पाण्डेय भारतीय राजनीति में इस समय वह दौर चल रहा जहां बदलाव आवश्यक है। आप पार्टी इस बदलाव की अग्नि पथ पर चलना शुरू कर दिया है। 2014 का साल आप के साथ ही सभी राजनीति पार्टियों के लिए महत्वपहूर्ण होने वाला है। वहीं एक साल से ज्यादा समय पुरानी आप पार्टी अपनी परिपक्व अवस्था में है। विधान सभा में दिल्ली में पहली बार चुनाव लड़ने वाली आम पार्टी ने 28 सीटें लेकर राजनीति के महान धुरंधरों की बोलती बंद कर दी है। क्या है यह जादू , क्या यह अरविंद केजरीवाल का व्यक्तित्व है या भारतीय राजनीति में वर्तमान पार्टियों के खिलाफ उनके कार्यशैली के प्रति आम जनता का विरोध है। यह बड़ा सवाल आज सभी के मन में है। 2014 में लोक सभा चुनाव भी है। दो धुरी पर खड़ी तो पर्टियां काग्रेस और भाजपा के बीच चुनावी बिगुल बज चुका है। हमें समझना होगा दिल्ली के परिदृश्य में यहां सत्ता में कांग्रेस की सरकार के विरोध स्वर को