कन्यादान कविता पर क्लास 10 हिंदी MCQ-QUESTION-CBSE-BOAR-New-Examination-Pattern-2020 सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

कन्यादान कविता पर क्लास 10 हिंदी MCQ-QUESTION-CBSE-BOAR-New-Examination-Pattern-2020

कन्यादान कविता पर क्लास 10 हिंदी MCQ-QUESTION-CBSE-BOARD-New-Examination-Pattern-2020 

Kanyadan kavita class 10 mcq cbse board new examination pattern 2020 सीबीसई नए परीक्षा पैटर्न के अनुसार इस बार हिंदी अ पाठ्यक्रम में पेपर में दो खंड होंगे। अ और ब खंड। इस बार परीक्षा में 40 अंक के 40 प्रश्न बहुविकल्पी प्रश्न पूछेंगे जाएंगे। इसके अलावा लेखन और पाठ पर आधरित लिखने वाले प्रश्न भी 40 अंक के पूछे जाएंगे। इस सीरीज में आज हम  कन्यादान पाठ का MCQ  प्रश्न दे रहे हैं।

kanyada kavita mcq


कक्षा 10 सीबीएसई बोर्ड क्षितिज भाग 2 किताब  कन्यादान पाठ एमसीक्यू क्वेश्चन नीचे दिया जा रहा है। इस कविता के कवि हैं ऋतुराज। 

Kanyadan-Kavita-per-CLASS10-HINDI-MCQ-QUESTION-CBSE-BOARD-New-Examination-Pattern-2020 for examination 2021 cbse class 10 hindi

कन्यादान पाठ के पद्यांश पर आधारित एम सी क्यू क्वेश्चन आंसर KANYADAN LESSON IN HINDI CLASS 10 MCQ      MULTIPLE QUESTION ANSWER OBJECTIVE TYPE QUESTION ANSWER 2020 NEW EXAMINATION PATERN

 निम्नलिखित पद्यांश को पढ़कर दिए प्रश्नों के उत्तरार्थ सबसे उचित विकल्प लिखिए-


(उपरोक्त प्रश्न का इंग्लिश में अर्थ After reading the following passage, write the most appropriate option for the questions given.)


Asking MCQ questions in Hindi new examination pattern of Hindi CBSE board 2020



 कितना प्रमाणित था उसका दुख

 लड़की को दान भी देते वक्त

 जैसे वही उसकी अंतिम पूँजी हो 

लड़की अभी सयानी नहीं थी

 अभी इतनी भोली सरल थी 

कि उसे सुख का आभास तो होता था 

लेकिन दुख बांचना नहीं आता था

 पाठिका थी वह ध्ंधले प्रकाश की

कुछ तर्कों और लयबद्ध पंक्तियों की


1 कवि ने किसके दुख को प्रमाणिक बताया?

I. बेटी के दुख को 

II. मां के दुख को 

III. पिता के दुख को 

IV. उपरोक्त विकल्पों में से कोई भी सही नहीं है।


2 'लड़की अभी सयानी नहीं थी'— इस पंक्ति से क्या अर्थ है?

I. लड़की अभी पढ़ी -लिखी नहीं थी।

 II. लड़की अभी भोली भाली मासूम थी।

III उसे लोक व्यवहार का ज्ञान नहीं था।

IV उपरोक्त विकल्प II  व III सही है।


3. ये पंक्तियां किस कवि की है—

I शेखर जोशी

 II ऋतुराज

 III निराला जी

 IV सुमित्रानंदन पंत


4. धुँधली  प्रकाश की  पाठिका किसे कहा गया है? क्यों कहा गया है?

I लड़की को कहा गया है क्योंकि वह जीवन की जटिलताओं को नहीं  पहचानती है।

II. लड़की को कहा गया है जिसका कन्यादान हो रहा है। वह कम रोशनी में पढ़ नहीं पाती है।

III.  लड़की को कहा गया है जिसका कन्यादान हो रहा है और समाज की व्यवहारिक जटिलताओं को नहीं समझ पा रही है।

IV. उपरोक्त सभी विकल्प सही है


5. लड़की का कन्यादान करते समय माँ दुखी क्यों है?

I. वह अपने बेटी के भावी भविष्य को लेकर चिंतित है। 

II. बेटी  सयानी नहीं है और उसे सुख का तो एहसास है लेकिन दुख को बचना नहीं आता है।

III. ससुराल में उसका जीवन कैसा रहेगा इसको लेकर परेशान है।

IV. उपरोक्त सभी विकल्प सही है।

 6. 'बाँचना' शब्द का क्या अर्थ है?

I. बांधना

II. पढना

III.गाना

IV. खाना

उत्तर - 1. II, 2. IV 3. II 4. III 5. IV 6. II 

कन्यादान पाठ से MCQ प्रश्न दिये जा रहे हैं, इसकी प्रेक्टिस कीजिए



1.       लड़की हो पर लड़की की तरह दिखाई न देना’- इस पंक्ति से क्या तापतर्य है?

I. शोषण व अत्याचार को नहीं सहना।

II. सौंदर्य प्रसाधन का तरस्कार करना।

III. शोषण और अधिकार नहीं सहाना और अपने अधिकारों की रक्षा करना।

IV.  सभी विकल्प गलत हैं।


2. कन्यादान कविता में 'वस्त्र और आभूषण' को शाब्दिक भ्रम क्यों कहा गया है?

I. प्रशंसा वाले शब्द सुनकर भ्रम जाल में न फंस जाए इसलिए।

II. वस्त्र आभूषण और सुंदरता की प्रशंसा स्त्री के बँधन की तरह है। इसके भ्रम जाल में फँसने के कारण नारी बँधन में बँध जाती है।

III. वस्त्र और आभूषण स्त्री के लिए प्रिय होता है।

IV. सभी विकल्प गलत हैं।

3. कन्यादान कविता की मुख्य विशेषता है—

I कविता में बेटी को लीक से हटकर शिक्षा दी जा रही है।

II कविता में बेटी को पारंपरिक शिक्षा दी जा रही है।

III कविता में केवल भावुकता नहीं बल्कि माँ के अनुभव को व्यक्त किया है जो अपनी बेटी के भावी जीवन के प्रति चिंतित है। बेटी को बँधन में न बँधने की सलाह देती है। अत्याचार और शोषण के खिलाफ जागरुक होने की बात कहती है। 

IV उपरोक्त चारों विकल्प सही है।

4. माँ ने अपनी ​बेटी को अंतिम पूँजी क्यों कहा?

i. माँ के निकट उसकी बेटी है, वह उससे अपना सुख—दुख बाँटती है।

ii. बेटी नौकरी करती है।

iii. बेटी अपनी माँ का ध्यान रखती है

iv. उपरोक्त में से कोई नहीं।

 5. लयबद्ध का अर्थ होता है—

i. लय में बँधी हूई

ii. लय में गाना

iii. गीत की रचना

iv. लकड़ी में बाँधना

उत्तर- 1.iii 2.ii 3. iii 4.i 5. i 

MCQ Objective type questions



टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

लघु-कथा' CBSE BOARD CLASS 9 NEW SYLLABUS LAGHU KATHS LEKHAN

'लघु-कथा' CBSE BOARD CLASS 9 NEW SYLLABUS LAGHU KATHA LEKHAN  लघु और कथा शब्द से मिलकर बना हुआ है। लघु का अर्थ होता है- छोटा और कथा का अर्थ होता है-कहानी। इस तरह लघुकथा का अर्थ हुआ कि 'छोटी कहानी'। छात्रों हिंदी साहित्य को दो भागों में बाँटा गया है, पहला गद्य साहित्य और दूसरा काव्य साहित्य।  गद्य साहित्य के अंतर्गत कहानी, नाटक, उपन्यास, जीवनी, आत्मकथा विधाएँ आती हैं। इसी में लघु-कथा विधा भी 'गद्य साहित्य' का एक हिस्सा है। कहानी उपन्यास के बाद यह विधा सर्वाधिक प्रचलित भी है। आधुनिक समय में इंसानों के पास समय का अभाव होने लगा और वे कम समय में साहित्य पढ़ना चाहते थे तो  'लघु-कथा' का जन्म हुआ। लघु कथा की परंपरा हमारे संस्कृति में 'पंचतंत्र' और 'हितोपदेश' की छोटी कहानियों  से भी  रही है। इन कहानियों को लघु-कथा भी कह सकते हैं। आपने भी छोटी-छोटी लघु कहानियाँ अपने बड़ों से जरूर सुनी होगी।  'पंचतंत्र' में इस तरह की लघु-कथाओं में जीव-जंतु यानी जानवरों और पक्षियों के माध्यम से मनुष्य को नीति की शिक्षा यान

Laghu Katha Lekhan CBSE Board

    लघु कथा कैसे लिखें, उदाहरण से समझें CBSE board hindi  प्रस्थान बिंदु के आधार पर लघु कथा (laghu katha)  लिखना। CBSE Board 9th class Laghu Katha lekhan दसवीं बोर्ड की कक्षा 9 के सिलेबस में और कई  बोर्ड की परीक्षा में इस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं।  (new syllabus 2020 Laghu Katha lekhan)    दिए गए प्रस्थान बिंदु (prasthan Bindu) का मतलब है कि दो या चार लाइन लघुकथा के दिए होते हैं। उसके बाद आपको 80 से 100 शब्दों में लघुकथा को पूरा करना होता है। उसका एक शीर्षक (title) लिखना होता है।  नई शिक्षा नीति 2020 (New Education Policy) में भाषा में रचनात्मक लेखन (Creative Writing) को बढ़ावा दिया गया है। इसलिए  हिंदी Hindi, अंग्रेजी, मराठी  उर्दू किसी भी भाषा के पेपर में संवाद लेखन, लघुकथा, लेखन अनुच्छेद, (anuchchhed lekhan) लेखन विज्ञापन लेखन, (Vigyapan lekhan) सूचना लेखन (Hindi mein Suchna lekhan) जैसे टॉपिक में नई शिक्षा नीति के ( new education policy 2020) अंतर्गत सिलेबस में रखे गए हैं।  लघुकथा लेखन 9 व 10 की परीक्षा में पूछा जाता है Laghu katha lekhan in Hindi in board examination आप ह

Laghu katha prasthan bindu ke adhar per kaise likhe/ लघु कथा प्रस्थान बिंदु के आधार पर कैसे लिखें?

    लघु कथा प्रस्थान बिंदु के आधार पर कैसे लिखें? Laghu katha prasthan bindu ke adhar per kaise likhe लघुकथा लेखन उदाहरण सहित    कई बोर्ड की परीक्षाओं (board examination CBSE board) में लघुकथा (laghu Katha) लिखने को दिया जाता है। स्टेट बोर्ड (State board) की परीक्षा में भी लघुकथा पर प्रश्न (question of laghu katha) पूछता है। लघु कथा कैसे लिखा (How To write short story in hindi) जाए? आज हम laghu katha टॉपिक पर चर्चा करने जा रहे हैं। छात्रों सीबीएसई बोर्ड की कक्षा 9 के नए (CBSE board syllabus class 9 session 2020-21) सिलेबस 2020 के अनुसार हिंदी यह पाठ्यक्रम में प्रस्थान बिंदु के आधार पर लघु कथा लिखने का प्रश्न इस बार आएगा। CBSE class 10 B hindi syllabus. लघु कथा लेखन पूछा जाता है। According to the new syllabus 2020 of class 9 of CBSE board students, this question of writing short story based on the point of departure in Hindi syllabus will come this time.  निम्नलिखित   प्रस्थान बिंदु के आधार पर 100 से 150 शब्दों में एक लघुकथा लिखिए। (Write a short story in 100 to 150 words based on t