Hindi Lekhan

Drishya lekhan on first day of 11 class in Hindi| दृश्य लेखन क्या है? | drishya lekhan example

न्यू ज्ञान दृश्य लेखन के उदाहरण मेरा पहला दिन कक्षा ग्यारहवीं दृश्य- लेखन

CBSE board class 11- 12 abhivyakti aur madhyam, drishya lekhan writing, एनसीईआरटी सलूशन सीबीएसई बोर्ड दृश्य लेखन के बारे में यहां पर बताया जा रहा है। दृश्य लेखन visual writing कैसे लिखा जाता है? First day in class 11th. इस आर्टिकल में दृश्य लेखन के बारे में बताया गया है। दृश्य लेखन कितने प्रकार का होता है और जिस लेखन के ढेरों उदाहरण दिए गए हैं। अनुच्छेद-लेखन लघुकथा-लेखन, विज्ञापन-लेखन, दृश्य-लेखन।

Drishya lekhan दृश्य लेखन की परिभाषा

लेखन करते समय किसी कहानी के लिए लेखन करते हैं या किसी धारावाहिक या किसी विज्ञापन के लिए लेखन करते हैं उसमें जब दृश्यों के बारे में लिखा जाता है यानी की seen क्या है उसका उल्लेख किया जाता है तो उसे दृश्य लेखन कहते हैं। साहित्य में दृश्य लेखन एक कला विधा के तौर पर प्रयोग होता है। दृश्य लेखन (Seen writing) के अंतर्गत सिनेमा के लिए राइटिंग, कहानी में दृश्य लेखन, टीवी सीरियल आदि में दृश्यों यानी कि जो दिख रहा है उसके बारे में आंखों देखा हाल, क्रिकेट मैच आदि का आंखों देखा हाल लिखना विश्लेषण के अंतर्गत आता है। CBSE board NCERT class 11 12th दृश्य लेखन पर प्रश्न भी आता है। drishya lekhan example.

Seen lekhan का तरीका

जब सिनेमा के लिए या किसी घटना का दृश्य का वर्णन करते हैं, तो सभी घटनाक्रमों का और वातावरण का भी विवरण दिया जाता है। जैसे रात में, सुबह, दोपहर, स्थान समय लोगों की उपस्थिति आसपास का वातावरण आदि का भी जिक्र अपने लेखन में किया जाता है। पाठक जब पड़ता है तो उसे लगता है कि यह घटना उसके सामने घटित हो रही है।

घटनाक्रम का विवरण देते हुए बताना जैसे कि जब मैं रेलवे प्लेटफार्म पर पहुंचा तो बहुत भीड़ थी और लगातार अनाउंसमेंट हो रहा था कि मुंबई मेल 2 घंटे विलंब से आने की संभावना है। मैंने उस भीड़ में प्लेटफार्म के किनारे एक बेंच पर बैठ गया और अपनी ट्रेन का इंतजार करता रहा। तभी 60 साल का एक भिखारी आया, जिसके कपड़े फटे थे, वह मेरे पास आया कहा बाबूजी कुछ खाने को दे दो भूख लगी है। मैं अपने ख्यालों में खोया था तभी अचानक उसकी तरफ देखा तो वह दया की नजरों से मेरी ओर देख रहा था मैंने उससे कहा ठीक है यह ले ₹50 और कुछ खा लेना। ‌ उच्च अधिकारी की आंखों में खुशी के भाव झलक उठे थे। मुझे भी बहुत सुकून मिल रहा था।

इस तरह से आप दृश्य लेखन कर सकते हैं।‌ घटनाक्रम का जिंदादिली के साथ वर्णन करना और बातों को अच्छे से बताना जिससे की लगे कि घटना सामने घट रही हो यही दृश्य लेखन का मतलब होता है।

दृश्य लेखन के उदाहरण

परीक्षा में दृश्य लेखन के कई रेलवे स्टेशन का दृश्य लिखिए। कार्तिक के मेले में स्नान का दृश्य लिखिए। महाकुंभ के मेले का वर्णन करते हुए दृश्य लिखिए। ‌ कक्षा 11 के पहले दिन की कक्षा के बारे में अपना अनुभव लिखते हुए एक दृश्य लेखन कीजिए। किसी स्थान वातावरण जहां पर आप कुछ देख रहे हैं उसके बारे में ऐसा लिखना कि घटनाक्रम और उस समय घटित होने वाली बातों का ज्ञान पाठक तक आसानी से हो जाए उसे दृश्य लेखन कहा जाता है।

Drishya lekhan on first day of 11 class in Hindi

दृश्य लेखन का उदाहरण । 11वीं की परीक्षा में मेरा पहला दिन पर दृश्य लेखन।

दसवीं कक्षा पास करने के बाद मेरे पिताजी का तबादला प्रयागराज शहर में हो गया। प्रयागराज शहर के एक मोहल्ले में हम लोग रहने लगे। वही 1 किलोमीटर की दूरी पर एक स्कूल था, वहां पर मेरा प्रवेश कराया गया। पहले दिन जब मैं स्कूल गया तो मुझे बड़ी हैरानी हुई इतना बड़ा और बेहतरीन स्कूल है। चारों तरफ का प्रांगण हरियाली से भरा और बड़ा सा मैदान वहां पर था। स्कूल में फुटबाल, वालीबाल, क्रिकेट खेलने की भी सुविधा थी। मैं अपनी कक्षा ग्यारहवीं ‘ब’ की तरफ गया। ढेर सारे छात्र कैंपस में मुझे दिखाई दिए। जैसे मैं अपनी कक्षा में प्रवेश किया, कक्षा के अंदर का दृश्य इतना अच्छा लग रहा था। थोड़ा सा वाइटबर्ड और स्मार्ट कक्षा की भी व्यवस्था थी। कक्षा में बेंच अच्छे से व्यवस्थित था। अभी चार-पांच छात्र ही कक्षा में बैठे थे।

इस समय 8:00 बज रहे थे और 8:15 बजे स्कूल शुरू होता है। कक्षा के दूसरी पंक्ति वाले बेंच पर मैं बैठ गया। तभी एक छात्र मेरे पास आया और मुझसे मेरा नाम पूछने लगा। मैंने उससे कहा कि मेरा नाम मोहन है और तुम्हारा नाम क्या है? उसने हंसते हुए कहा मेरा नाम सोहन है और मैं इस स्कूल में पिछले 5 साल से पढ़ रहा हूं। सोहन की बात मुझे बहुत अच्छी लगने लगी और वह कक्षा के पहले दिन ही मेरा दोस्त बन गया था। थोड़ी देर में 8:30 बज गए और असेंबली शुरू हो गई हम लोग नीचे की ओर गए और वहां असेंबली के लिए पंक्तिबद्ध हो गए।

असेंबली पूरी होने के बाद हम लोग कक्षा में वापस आकर बैठ गए। तभी चश्मा लगाए हुए 1 शिक्षक महोदय अंदर प्रवेश किया उनका नाम अभिनव सर था। वे हिंदी भाषा के शिक्षक के थे। सोहन ने बताया कि वे कक्षा अध्यापक हैं। ‌‌

हम सभी छात्रों ने उठकर उन्हें प्रणाम किया। अभिनव सर ने उपस्थिति पत्रिका खोलकर हमारा उपस्थिति भरा और उसके बाद उन्होंने दृश्य लेखन प्रकरण पर हमें पढ़ाया। पढ़ते-पढ़ते इतना मगन हो गए कि पहला पीरियड बीत गया और फिर दूसरे दूसरे पीरियड में अंग्रेजी भाषा हम लोगों ने पढ़ी।

बहुत अच्छा लग रहा था यह मेरा पहला दिन था. लंच में हम लोग बाहर गए और मैदान के चारों तरफ ढेर सारे झूले लगे थे उसमें झूला झूला और पूरा कैंपस मैंने देखा.

आप तक सोहन मेरा बहुत अच्छा मित्र बन चुका था. विद्यालय का पहला दिन बहुत ही अच्छे से बीत गया और मुझे अपना विद्यालय बहुत अच्छा लगने लगा.

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

  1. दृश्य लेखन करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

दृश्य लेखन करते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए-

घटना की बारीक जानकारी देना चाहिए।

स्थान की जानकारी भी देना चाहिए।

समय देशकाल वातावरण आदि की भी जानकारी इसमें देना चाहिए।

2. दृश्य लेखन के लिए किन-किन शब्दों का प्रयोग अक्सर किया जाता है?

दृश्य लेखन के लिए कई शब्दों का प्रयोग किया जाता है जैसे स्थान के लिए दोपहर का समय था और चारों तरफ सन्नाटा था इसलिए क्योंकि गर्मी की सूरज के कारण तापमान बहुत तेजी से नगर का बढ़ चुका था। इसी बात को शाम के वातावरण से जोड़ते हुए कह सकते हैं। –

चिलचिलाती गर्मी की दुपहरिया के बाद ठंडा शाम नगर वासियों को आनंद देता है इसलिए बाजार में भी रौनक शाम को बढ़ गई थी। इसी बहाने हम लोग भी घूमने के लिए घरों से बाहर आ गए थे। सड़क के दूधिया रोशनी से नहाए हुए थे। वातावरण में उल्लास भरा हुआ था। हम लोग सामने उस सड़क के पार लगे चाट की दुकान की ओर एक साथ चलने लगे।

दृश्य लेखन के लिए लाइव टेलीकास्ट जैसी यानी कि आंखों देखा हाल व्यक्त करना चाहिए। ऐसा लगे कि पाठक के सामने घटना का विवरण दिखाई दे रहा है।

Drishya lekhan conclusion

CBSE board class 11 drishya lekhan के बारे में इस ले के माध्यम से आपको बताया गया। दृश्य लेखन करते समय घटनाक्रम का ध्यान रखना जरूरी होता। pahla din kaksha 11 mein drishya lekhan के बारे में बताया गया है आप पढ़कर उसके बारे में जान गए हैं। ‌ how to write visual writing in Hindi दृश्य लेखन किस तरह करें इन सब के बारे में जानकारी दी गई है।

About the author

admin

Hello friends!
New Gyan tells the words of knowledge with educational and informative content in Hindi & English languages. new gyan website tells you new knowledge. This is an emerging Hindi & English website in the Internet world. Educational, knowledge, information etc. new knowledge, new update, new method in a very simple and easy way.
Founder of Blog Founder of New gyan.

A. K Pandey - Teacher, Writer - Journalist, Blog Writer, Hindi Subject - Expert with more than 15 years of experience. Articles on various topics have been published in various magazines and on the Internet.
Educational Qualification- Master of Art. Professional Qualification-
Diploma in Journalism from Allahabad University, Master of Journalism and Mass Communication, B.Ed.

Leave a Comment