CBSE, CLASS 10 :ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस क्या होता है? जिससे पास होंगे CBSE 10वीं के छात्र

 सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10 की परीक्षा कैंसिल हो गई है और 12वीं की परीक्षा को पोस्टपोन कर दिया गया है। सीबीएसई क्लास 10th CBSE objective criteria process

क्या होता है इसके बारे में बात करेंगे। CBSE के कक्षा 10 के छात्रों को पास करने के लिए यह तरीका अपनाया जाएगा। जिसे ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस कहते हैं।

  CBSE, ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस

सरकार ने सीबीएसई बोर्ड की क्लास 10 की एग्जामिनेशन को टाल दिया है।  अब प्रश्न है कि  छात्रों का मूल्यांकन यानी कि उन्हें किस तरह से पास किया जाएगा ताकि   वे 11वीं कक्षा में प्रमोट हो सके। उनकी मार्कशीट में किस आधार पर अंक दिया जाएगा? 10वीं की मार्कशीट में दिए गए अंक का आधार क्या होगा? यह प्रश्न उठता है।  इसी के मंथन में ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस सीबीएसई जल्द ही डेवलप करके देगा और उसी के आधार पर कक्षा 10 के विद्यार्थियों को नंबर दिया जाएगा।

 आइए संभावना के आधार पर समझे CBSE objective criteria process क्या है?

 ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस (objective criteria process 2023-24)

 CBSE बोर्ड कक्षा दसवीं के छात्रों के लिए खुद ही डेवलप करेगा।  जिसके आधार पर स्कूलों को आंतरिक मूल्यांकन के जरिए यानी कि बच्चे के अब तक के पढ़ाई से मूल्यांकन करके उस ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस को पूरा करना है।

 इंग्लैंड जैसे देशों में भी कोरोना के कारण ऑफलाइन कक्षाएं और परीक्षाएं नहीं हुई है।  पूरी दुनिया में बच्चों की पढ़ाई कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण प्रभावित हुई है। CBSE कक्षा 10 के छात्रों को बिना बोर्ड के एग्जाम नए तरीके से उनका मूल्यांकन  कर उन्हें अंक प्रदान करेंगी।

See also  ई परीक्षा पोर्टल क्या है? E Pariksha portal kya hai?

इंग्लैंड में असाइनमेंट और दूसरे तरीके अपनाकर छात्रों का मूल्यांकन किया जा रहा है। इंग्लैंड की शिक्षा विभाग ने बच्चों के मूल्यांकन करने के लिए इसी तरह के प्रोसेस डेवलप कर रही है। सीबीएसई बोर्ड भी  कक्षा 10 के विद्यार्थियों के लिए CBSE 2023-24, ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस को डेवलप करने को कहा गया।  इसमें छात्रों के प्रोजेक्ट और वर्क  (project work) को ध्यान में रखकर रिजल्ट तैयार किया जाएगा। ( how to make CBSE result)

 बीते वर्ष क्या-क्या छात्रों ने सीखा

 सीबीएसई बोर्ड या ध्यान रखेगा की एकेडमी वर्ष में छात्रों ने क्या सीखा और कैसे सीखा इस आधार पर ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया मूल्यांकन का स्कूलों द्वारा तैयार किया जाएगा।  इसी आधार पर सीबीएसई कक्षा 10 के बोर्ड के छात्रों के अंक पत्र पर नंबर लिखेगी।  ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया मूल्यांकन के लिए सीबीएसई जल्द ही पॉइंट्स जारी करने वाली है। याने केवल जानकारी पर है जो सीबीएसई की खबरों के आधार पर है लेकिन अभी सीबीएसई बोर्ड के अधिकारी वेबसाइट पर ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया मूल्यांकन का तरीका जारी नहीं हुआ है।  जल्दी ही  ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया मूल्यांकन  का तरीका सीबीएसई द्वारा स्कूलों को भेजा जाएगा।

FAQ

objective criteria process के लिए कौन-कौन से पॉइंट रखे जा सकते हैं?

ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया मूल्यांकन के जरिए कुछ पॉइंट्स रखे जाते हैं,  जिसके जरिए छात्रों का मूल्यांकन होता है। academic panel इस बात को ध्यान रखते कि छात्रों ने अपने पूरे साल कैसे और क्या सीखा है। इस आधार पर उनके अब तक के कार्यों और उपलब्धि का ब्योरा इकट्ठा करके परीक्षा परिणाम तैयार किया जाता है।

Leave a Comment