Education funda

Why read hindi sahitya

हिन्दी साहित्य क्यों जरूरी है*

रचनात्मक तरीके से सीखने के लिए,  विश्लेषणात्मक, तर्कशक्ति और तुलनात्मक अध्ययन कर कहानी, कविताओं से भारतीय संस्कृति, इतिहास समाज पर पड़ने वाले साहित्य के प्रभाव के बारे में जानने के लिए साहित्य जरूरी है।
👉 समीक्षा, तर्कशक्ति व विश्लेषण की समझ विकसित करने के लिए साहित्य जरूरी है।
👉साहित्य कला व विज्ञान को समझने की शक्तिप्रदान करता है, उसके बारे में कहने की अभिव्यक्ति देता है।

Hindi sahitya

👉साहित्य का इतिहास से कैसा नाता रहा?
समाज से कैसा नाता रहा?
साहित्य समाज का आईना होता है तो साहित्य पढ़ना जरूरी है।
👉भारत की आजादी में साहित्य का बहुत बड़ा योगदान रहा है।
👉 जनमानस को समझ में आने के कारण हिन्दी ने विशाल जनसंख्या को आजादी के समय जाग्रत किया है, अन्य भारतीय भाषाओं के साहित्य ने भी यह कार्य किया है। लेकिन राष्ट्रभाषा के रूप में इसकी पहचान इसलिए है कि  यह बड़े भूभाग में बोली और समझी जाती है। हिंदी भाषा का योगदान समाज में नई चेतना लाने के लिए रहा है, इसका सबसे बड़ा उदाहरण भक्ति आंदोलन था, जब धर्म जाति-भेदभाव, अंधविश्वास स्त्रियों पर अत्याचार के खिलाफ और सामाजिक जागरूकता के लिए काव्य रचना की जाने लगी थी। अंधविश्वास के खिलाफ ज्ञान की महत्ता की बात कविता में कबीरदास, सूरदास, रहीम रसखान इत्यादि कवियों ने किया।
महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस, वल्लभभाई पटेल इत्यादि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने हिंदी में अपनी बातें कहकर लोगों को जागरूक किया, भारत के जनमानस में आजादी की अलख जगाई। उन्हें एकता के सूत्र में पिरोया।
Hindi sahitya
हिंदी की समृद्धिशील साहित्य ने  लोगों में चेतना का भी प्रसार किया,  लोगों को एकजुट रखा।

👉हिंदी साहित्य की कहानियों, कविताओं और रचनात्मक लेख में भारतीय समाज, संस्कृति और इतिहास की झलक मिलती है। उन ऐतिहासिक प्रतीक चिह्नों का साहित्य प्रयोग करता है, जी से आदर्श समाज का निर्माण होता है। यहाँ साहित्य पथ प्रदर्शक के रूप में होता है, जो समाज में आए हुए नए पीढ़ी को दिशा देता है।

पढ़ने के तरीके में बदलाव जरूरी है*

हमें इन बातों पर ध्यान देना चाहिए।
चर्चा-परिचर्चा, वाद-विवाद, ऑडियो प्रस्तुति, वीडियो प्रस्तुति, संचालन, लेखन, कहानी सुनाना, कविता सुनाना, तथ्य का विश्लेषणात्मक प्रस्तुति।
👉नाटक, कहानी, सिनेमा आदि में हिंदी भाषा का प्रभाव व मनोरंजन के रूप में सिनेमा में हिंदी के रूप में अपार करिअर की संभावनाएँ हैं।
👉हिंदी साहित्य hindi sahitya, कविता विचारोत्तेजक बातें जो अपनी संस्कृति और आजादी से पहले की स्थिति के बारे में बताती है, इन सबको जानने और समझने का सबसे उत्तम माध्यम साहित्य है। 

👉भारतीय संस्कृति समाज और इतिहास को समझने में मदद करती है।

रचनात्मक
    लेख
अभिषेक कांत पांडेय

सर्वाधिकार सुरक्षित (copy right)

About the author

admin

A. K Pandey,
Teacher, Writer, Journalist, Blog Writer, Hindi Subject - Expert with more than 15 years of experience. Articles on various topics have been published in various magazines and on the Internet.
Educational Qualification- MA (Hindi)
Professional Qualification-
Diploma in Journalism from Allahabad University, Master of Journalism and Mass Communication, B.Ed., CTET

Leave a Comment