CBSE Class 9 MCQ veyakaran

Hindi Samas class 9 mcq| समास और समास के भेद

  Hindi words Samas class 9 mcq|  समास  और समास के भेद

 
MCQ in Hindi words Topic samas इस आर्टिकल के अंत में दिया समास और उसके भेद से संबंधित बहुविकल्पी प्रश्न दिया गया है। हमारी सलाह है कि सबसे पहले आप समास टॉपिक के इस प्रभावशाली नोट्स को पढ़ लीजिए फिर आज समास पर आधारित बहुविकल्पी न्यू प्रश्न को हल करें। ये 2022 के लेटेस्ट एमसीक्यू आपके लिए बहुत उपयोगी होगा। 
 

New Hindi vyakaran Samas aur Samas ke bhed  के बारे में उपसर्ग-प्रत्यय  हिंदी व्याकरण की परिभाषा और समास  और समास के भेद  के बारे में सरल ढंग से यहां समझाया गया है। अंत में उपसर्ग प्रत्यय से समास बहुविकल्पी प्रश्न  (MCQ questions) भी दिए गए हैं, जो अलग-अलग बोर्ड परीक्षाओं में उपसर्ग प्रत्यय MCQ question class 10 and 9  एग्जामिनेशन के लिए बहुत ही जरूरी होते हैं, समास बहुविकल्पी प्रश्न कॉम्पिटेटिव एग्जामिनेशन के लिए बहुत उपयोगी सामग्री यहां पर दी जा रही है। Samas aur Samas ke bhed के उदाहरण Uptet यूपीटेट, SI परीक्षा, बोर्ड एग्जामिनेशन, SSC आदि के लिए उपयोगी है. हिंदी व्याकरण परीक्षा में पूछे जाते हैं यह टॉपिक बहुत महत्वपूर्ण है। समास के भेद (The kind of Samas) हिन्दी की परीक्षा में हमेशा पूछा जाता है। यहां पर हम आपको अव्ययीभाव समास, तत्पुरुष समास, कर्मधारय समास, द्विगु समास, द्वंद्व समास और बहुव्रीहि समास के भेद के बारे में जानकारी दे रहे हैं। हिन्दी व्याकरण के टाापिक में उपसर्ग और प्रत्यय पढ़ने और न्यू बहुविकल्पी प्रश्न पढ़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें। 

 mcq क्लास 9 और 10. उपसर्ग और प्रत्यय एक्सरसाइज उपसर्ग प्रत्यय pdf  class  9 अव्ययीभाव समास, तत्पुरुष समास, कर्मधारय समास, द्विगु समास, द्वंद्व समास और बहुव्रीहि समास के भेद का परिभाषा Samas के उदाहरण, शब्द निर्माण उपसर्ग और प्रत्यय Upsarg pratyay aur samas ke bhed

Hindi Grammar – हिन्दी व्याकरण (Vyakaran)

 

Hindi vyakaran topic Definition mcq questions

1.

Upsarg pratyay 

शब्द निर्माण उपसर्ग और प्रत्यय

MCQ

2.

समास  और समास के भेद

3.

संज्ञा और संज्ञा के विकार

4. 

सर्वनाम और सर्वनाम के भेद

5

विशेषण: लिंग, वचन कारक का विशेषण पर पड़ने वाला प्रभाव

6

क्रिया: क्रिया का भेद अकर्मक सकर्मक क्रिया मुख्य क्रिया सहायक क्रिया संयुक्त क्रिया

7

विशेषण और क्रिया विशेषण

8

संबंधबोधक

9

समुच्चयबोधक या योजक 

10

विस्मयादिबोधक

11

निपात

12

Pad Parichay पद परिचय

13

संज्ञा का पद परिचय 

14

सर्वनाम पद परिचय

15

विशेषण पद परिचय 

16

क्रिया पद परिचय 

17

क्रिया विशेषण पद परिचय 

18

संबंधबोधक पद परिचय

19

समुच्चयबोधक पद परिचय 

20

विस्मयादिबोधक पद परिचय 

21

वाक्य भेद रचना के अनुसार रचना अंतरण रूपांतरण 

22

वाक्य के लक्षण 

23

रचना के आधार पर वाक्य के भेद-

  1. सरल वाक्य, 

  2. संयुक्त वाक्य 

  3. मिश्रा वाक्य

24

आश्रित उपवाक्य के भेद

  1. संज्ञा उपवाक्य

  2. विशेषण उपवाक्य

  3.  क्रिया विशेषण उपवाक्य

25

वाक्य रचनांतरण/रूपांतरण

   

26

वाच्य-

१. कर्तृवाच्य

२. कर्मवाच्य 

३. भावाच्य

27

अलंकार

  1. शब्दालंकार – 

अनुप्रास अलंकार, यमक अलंकार, श्लेष अलंकार

  1. अर्थालंकार- उपमा रूपक, उत्प्रेक्षा, मानवीकरण, अतिशयोक्ति, अन्योक्ति, पुनरुक्ति अलंकार

28

पर्यायवाची शब्द

29

विलोम शब्द या  विपरीतार्थक शब्द 

30

श्रुतिसमभिन्नार्थक शब्द

 वे शब्द जिनके उच्चारण एक जैसे हैं लेकिन अर्थ अलग-अलग होते हैं।

31

मुहावरे और लोकोक्तियां

   
 

समास क्या होता है? समास के भेद कितने होते हैं?  समास के प्रकार

समास samas का अर्थ होता है- किसी चीज को छोटा (short) लिखना जिसे संक्षेपीकरण कहते हैं। 

इसे उदाहरण से समझे-

अगर हम कहें कि राष्ट्रपति का भवन तो इसे छोटे रूप में यानी संक्षेपीकरण (short form ) करके लिख सकते हैं- राष्ट्रपति भवन।  

ग्राम में वास करने वाला 

जिसे संक्षिप्त में लिख सकते हैं-ग्रामवासी। अब आप समझ चुके होंगे कि Samas 2 पदों को मिलाकर संक्षिप्त में लिखने की एक टेक्निक हिंदी व्याकरण में होती है।  अब आइए बात करते हैं समास की परिभाषा defination of samas  के बारे में।

 

समास (compound) की परिभाषा

 

जब दो या दो से अधिक पद (Pad) से मिलकर एक नया शब्द बनता है, उसे समास कहते हैं। 

यहां पद का मतलब शब्द है, जैसे— राजा का पुत्र।

 यहां दो पद हैं, इन पदों को मिलाया तो बन गया राजपुत्र एक नया शब्द।

‘दो या दो से अधिक शब्दों के मेल से शब्द बनाने की का तरीके को समास कहा जाता है।’

 
 
समास में पद किसे कहते हैं?
 

समास में पद किसे कहते हैं? What is the meaning of Samas in Pad?

 

समास की रचना करने के लिए 2 पद होते हैं। पहला पद होता है— पूर्वपद दूसरा पद होता है—उत्तरपद इसी से नया समास बनता है, जिसे समस्त पद कहते हैं। इस बात को समझने के लिए निम्नलिखित टेबल को समझें।

 

 

 

शब्द

पूर्व पद

उत्तर पद

नया शब्द बनाना समस्त पद यानी समास 

घोड़े पर सवार

घोड़ा

सवार

घुड़सवार

  राष्ट्र के पिता

राष्ट्र

पिता

राष्ट्रपिता

स्नान के लिए गृह

स्नान 

गृह

स्नानगृह

 
 

समास में समस्त पद और समास विग्रह किसे कहते है?

दो या दो से अधिक पदों को संक्षेप करके जो नया शब्द बनाया जाता है तो उसे समस्त पद कहते हैं।

जैसेकमल जैसे नयन – इनमें दो पद है।
पहला पद यानि पूर्व पद कमल है,
दूसरा पद यानि उत्तर पद इसमें नयन है।
दोनों पदों को मिलाने से नया पद बना कमलनयन इसे ही समस्त पद कहा जाता है।

MCQ समास

प्रश्न— MCQ samas topic
 
1. ‘राजा का पुत्र’ का दिये गये विकल्पों में से सही समस्त पद का चुनिए—
i राजापुत्र ii राजपुत्र iii राज्यपुत्र iv राजकुमार
 
Answer- ii राजपुत्र
 

समास विग्रह किसे कहते हैं?

समास विग्रह का शब्दिक अर्थ— विग्रह का मतलब अलग करना। यानि समाज के समस्त पद को अलग करना ही समास विग्रह कहलाता है। जैसेसमस्त पद— युद्धभूमि समास विग्रह— युद्ध के लिए भूमि समस्त पद से समास विग्रह करने का मतलब आप छोटे से उसे बड़ा करना होता है।

 

2. ‘हस्तलिखित’ समस्त पद का सही समास विग्रह वाला विकल्प कौन—सा है?

i हाथ से लिखावट

ii हाथ से लिखना

iii हाथ से लिखित

iv हस्तलेखन

Answeriii हाथ से लिखित
 
समास के भेद द काइंड ऑफ द समास

About the author

admin

नमस्कार दोस्तो!
New Gyan हिंदी भाषा में शैक्षणिक और सूचनात्मक विषयवस्तु (Educational and Informative content) के साथ ज्ञान की बातें बतलाता है। हिंदी-भाषा में पढ़ाई-लिखाई, ज्ञान-विज्ञान, साहित्य, तकनीक आदि newgyan website नया ज्ञान आपको बताता है। इंटरनेट जगत में यह उभरती हुई हिंदी की वेबसाइट है। हिंदी भाषा से संबंधित शैक्षिक (Educational) साहित्य (literature) ज्ञान, विज्ञान, तकनीक, सूचना इत्यादि नया ज्ञान, new update, नया तरीका बहुत ही सरल सहज ढंग से प्रस्तुत करते हैं।
ब्लॉग के संस्थापक Founder of New gyan
अभिषेक कांत पांडेय- शिक्षक, लेखक- पत्रकार, ब्लॉग राइटर, हिंदी विषय -विशेषज्ञ के रूप में 15 साल से अधिक का अनुभव है। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं और इंटरनेट पर विभिन्न विषय पर लेख प्रकाशित होते रहे हैं।
शैक्षिक योग्यता- इलाहाबाद विश्वविद्यालय से फिलासफी, इकोनॉमिक्स और हिस्ट्री में स्नातक। हिंदी भाषा से एम० ए० की डिग्री। (MJMC, BEd, CTET, BA Sanskrit)
प्रोफेशनल योग्यता-
इलाहाबाद विश्वविद्यालय से पत्रकारिता मे डिप्लोमा की डिग्री, मास्टर आफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन, B.Ed की डिग्री।
उपलब्धि-
प्रतिलिपि कविता सम्मान
Trail social media platform writing competition winner.
प्रतिष्ठित अखबार में सहयोगी फीचर संपादक।
करियर पेज संपादक, न्यू इंडिया प्रहर मैगजीन समाचार संपादक।

Leave a Comment