Class 10 Hindi MCQ veyakaran

रचना के आधार पर वाक्य Trick सीबीएसई बोर्ड class x

Table of Contents

रचना के आधार पर वाक्य Trick

Rachna ke adhar per vakey trick

Multiple choice questions CBSE board class 10 hindi

Complete class Hindi

Simple vakey,

Saunkt vakeya, 

Mishr vakey

संयुक्त वाक्य मिश्रा वाक्य सरल वाक्य

New syllabus 2023

New pattern

 सीबीएसई बोर्ड के परीक्षा पैटर्न के अनुसार कक्षा 10 के हिन्दी अ पाठ्यक्रम में में 4 अंकों का इस बार बहुविकल्पी प्रश्न mcq भी पूछा जाएगा। वाक्य के भेद, रचना के आधार पर वाक्य टॉपिक Rachna ke Aadhar per vakya ke bhed Rachna #keAadharpervakya

 रचना के आधार पर वाक्य तीन प्रकार के होते हैं-

 rachana ke aadhaar par vaaky teen prakaar ke hote hain

रचना के आधार पर वाक्य तीन प्रकार के होते हैं

सरल वाक्य, संयुक्त वाक्य और मिश्र वाक्य-

सरल वाक्य- (Simple sentence)

जिस वाक्य में एक ही क्रिया (verb) होता है, मतलब कि एक ही विधेय हो। कर्ता या उद्देश एक या एक से अधिक हो। उसे सरल वाक्य या साधारण वाक्य कहते हैं।

 उदाहरण 

बालक हिन्दी पढ़ता है।

 ‘बालक’ यहाँ पर उद्देश (कर्ता) है। 

 हिन्दी पढ़ता है। एक विधेय है यानी एक क्रिया है।

  यह सरल वाक्य है।

 अब दूसरा उदाहरण लेंगे और इसमें उद्देश्य यानी कर्ता एक से अधिक का प्रयोग करके देखिए, 

इसी उदाहरण में। 

See also  What is the meaning of Agniveer in hindi

 बालक और बालिका हिन्दी पढ़ते हैं। 

 इस वाक्य में बालक और बालिका दो कर्ता है यानी कि दो उद्देश हैं 

लेकिन क्रिया पढ़ना एक है, यानी विधेय है इसलिए यह सरल वाक्य यानी साधारण वाक्य का उदाहरण है। 

Saral vakeya

 सरल वाक्य के कुछ उदाहरण 

 वहाँ मत जाओ। 

 यहाँ उद्देश्य छिपा हुआ है इसलिए ‘सरल वाक्य’ का उदाहरण है। क्योंकि यह वाक्य पूरा अर्थ बता रहा है। 

 अकर्मक क्रिया होने पर वाक्य में कर्म नहीं होता है। लेकिन वाक्य पूरा अर्थ बता रहा है इसलिए सरल वाक्य हुआ।

 उदाहरण- 

1. बालक रोता है।

 2. पक्षी उड़ते हैं। 

3.  सफेद शर्ट वाला व्यक्ति समझदार है।


 सरल वाक्य के और उदाहरण 

 शीला ने चम्मच से खीर खाई। 

 यहाँ चम्मच और खीर दो कर्म है।

 लेकिन क्रिया एक है इसलिए सरल वाक्य है।

 राजू ने टिफिन बस्ते में रखा। 

यहाँ टिफिन और बस्ता दो कर्म है, द्विकर्मक।

 लेकिन क्रिया एक है इसलिए सरल वाक्य है।

 प्रेरणार्थक क्रिया का उदाहरण देखें- 

 अध्यापक ने छात्रों से प्रोजेक्ट बनवाया। 

 मैनेजर ने क्लर्क से वेतन- पर्ची बनवाई।

 सरल वाक्य के कुछ उदाहरण 

 आज मैं दिल्ली घूमने जाऊँगा।

 घनश्याम क्रिकेट खेलता है। 

 वह किसी बात पर हँसता है। 

 संयुक्त वाक्य sanukt vakey

जब दो या दो से अधिक सरल वाक्य को समुच्चयबोधक द्वारा जोड़ा जाता है-

 यह दोनों वाक्य एक दूसरे के पूरक हो जाते हैं। 

यह दोनों वाक्य किसी पर आश्रित नहीं होते हैं। 

यह दोनों उपवाक्य प्रधान उपवाक्य कहलाते हैं। 

ऐसे वाक्य संयुक्त वाक्य कहलाते हैं।

 उदाहरण देखें दो सरल वाक्य से कैसे बनाते हैं,

 संयुक्त वाक्य पहला सरल वाक्य-

  मैं पढ़ रहा हूँ।

 दूसरा सरल वाक्य

 तुम लिख रहे हो। 

संयुक्त वाक्य बनाने की पहली शर्त की समानाधिकरण समुच्चयबोधक द्वारा जोड़ा जाना, तो 

यहाँ पर ‘और’ समुच्चयबोधक प्रयोग करेंगे। 

 मैं पढ़ रहा हूँ और तुम लिख रहे हो। 

 संयुक्त वाक्य का दूसरा उदाहरण देखिए-

   दादा जी आने वाले थे, लेकिन नहीं आए।

 क्या सोचा था, क्या हो गया। 

See also  CTET July 2023 notification: candidates check exam pattern, application process, syllabus | CTET PDF in hindi

 यहाँ पर समुच्चयबोधक का लोप है। 

 संयुक्त वाक्य समुच्चयबोधक अव्यय से जुड़े होते हैं उनकी सूची ये है- 

 और तथा एवं 

 इसलिए सो अत:

 या अथवा या 

ना नहीं तो अन्यथा वरना 

 लेकिन किंतु अगर मगर पर परंतु  

चाहे…. चाहे, न कि 

 आइए कुछ उदाहरण देखें और समझे की संयुक्त वाक्य कैसे बनते हैं- 

 मनीष आया और बैग रखकर खेलने चला गया।

 प्रधानाचार्य कक्षा में आए एवं सभी छात्र खड़े हो गए। 

पिताजी ने समझाया किंतु मैं समझ न सका।

 वह खेलने में तो अच्छा है मगर पढ़ाई लिखाई नहीं करता। 

 आप पहुँच जाएँगे या मैं आपको फोन करूँ। 

 सरल वाक्य से संयुक्त वाक्य बनाएँ। 

 सरल वाक्य

 हम लोग तैरने के लिए तालाब पर गए थे। 

 संयुक्त वाक्य 

 हम लोग को तैरना था इसलिए हम तलाब पर गए थे। 

सरल वाक्य 

माँ ने बच्चों को नहला कर स्कूल भेजा।

 संयुक्त वाक्य 

 माँ ने बच्चों को नहलाया और स्कूल भेजा।

 सरल वाक्य 

 आकाश और विकास में से कोई एक नौकरी करेगा।

 संयुक्त वाक्य 

 आकाश नौकरी करेगा अथवा विकास नौकरी करेगा। 

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए- 

 वह बाजार गई और मेरे लिए खिलौना लाई।

 इस संयुक्त वाक्य को सरल वाक्य में बदलिए। 

 उत्तर-

  बाजार जाकर वह मेरे लिए खिलौना लाई।

 सूर्योदय होते ही पक्षी चहचहाने लगे। 

रचना के आधार पर यह कौन- सा वाक्य है?

 उत्तर- सरल वाक्य 

 इसे संयुक्त वाक्य में बदलिए – 

सूर्योदय हुआ और पक्षी चहचहाने लगे।

 मिश्र वाक्य mishra vakeya

जिस वाक्य में एक प्रधान वाक्य और एक या कई आश्रित उपवाक्य हो उन्हें ‘मिश्र वाक्य’ mishra vakeya कहते हैं। प्रधान उपवाक्य किसे कहते हैं? मुख्य उद्देश और मुख्य विधेय वाले उपवाक्य प्रधान उपवाक्य होते हैं। 

 बचे हुए उपवाक्य आश्रित उपवाक्य कहलाते हैं।

 आइए उदाहरण से समझे

 आज वह नहीं आएगा क्योंकि उसकी तबीयत ठीक नहीं है।  

ध्यान दें कि मिश्र वाक्य में आश्रित उपवाक्य, वाक्य के पहले या बीच में या अंत में कहीं भी हो सकता है।

 आज वह नहीं आएगा

See also  World No Tobacco Day Quotes Images in Hindi| Anti tobacco day 2023 – विश्व तंबाकू निषेध दिवस massage .

 यह वाक्य का प्रधान उपवाक्य है। 

 जबकि इस पर आश्रित उपवाक्य है-

क्योंकि उसकी तबीयत ठीक नहीं है। 

 छात्रों यहाँ ध्यान दें कि क्योंकि समुच्चयबोधक अव्यय क्योंकि से जुड़ा है लेकिन दोनों उपवाक्य स्वतंत्र नहीं है इसलिए संयुक्त वाक्य नहीं है बल्कि दोनों उपवाक्य में एक उपवाक्य प्रधान उपवाक्य है और दूसरा उपवाक्य उस पर आश्रित उपवाक्य है इसलिए यहां मिश्र वाक्य का उदाहरण है।

 कुछ उदाहरण और देखें 

 शिक्षक महोदय बताते हैं कि शाम को एक घंटा पढ़ना जरूरी है। 

 छात्रों यहां दो उपवाक्य है लेकिन एक प्रधान उपवाक्य है और दूसरा उस पर आश्रित उपवाक्य है इसलिए यह मिश्र वाक्य है। 

आइए इसे पहचाने तो-

शिक्षक महोदय बताते हैं 

यह इस वाक्य का प्रधान उपवाक्य है और इस पर ही आश्रित उपवाक्य है कि 

शाम को एक घंटा पढ़ना जरूरी है। 


मिश्र वाक्य पहचानने की ट्रिक 

मिश्र वाक्य के उपवाक्य हमेशा कि, जो, जहाँ, जब तक, तो, अगर तो समुच्चयबोधक अव्यय से जुड़े होते हैं। 

 मिश्र वाक्य का आश्रित उपवाक्य वाक्य के आरंभ में या बीच में या अंत में कहीं भी हो सकता है।

 उदाहरण देखें 

जो लड़का यहाँ आया था, उसने प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया है। 

 यहां आश्रित उपवाक्य वाक्य के आरंभ में है यानी शुरुआत में है।

——–

 वह लड़का, जो कल यहाँ आया था, प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया है।

 यहां आश्रित उपवाक्य वाक्य के बीच में है। 

——-

उसने प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया है जो कल यहाँ आया था। 

 आश्रित उपवाक्य वाक्य के अंत में है। 

———-

 सरल वाक्य से मिश्र वाक्य बनाएं

 मैंने श्याम से अपने साथ चलने के लिए कहा।

मैंने श्याम से कहा कि वह मेरे साथ चले।

 फायदे वाला काम करो। 

संयुक्त वाक्य-

ऐसा काम करो जिसमें फायदा हो।

 मिश्र वाक्य से सरल वाक्य बनाइए

 जो सच बोलता है उसे सभी प्यार करते हैं।

संयुक्त वाक्य-

सच बोलनेवाले से सभी प्यार करते हैं।

नवोदय विद्यालय में छात्र पढ़ते हैं और अच्छे अंक लाते हैं- रचना के आधार पर कौन सा वाक्य है?

उत्तर –

रचना के आधार पर यह वाक्य संयुक्त वाक्य है।

 छात्रों आशा है कि आपको सरल वाक्य, संयुक्त वाक्य और मिश्र वाक्य समझ में आया होगा। किसी तरह की समस्या है तो समाधान के लिए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं और चैनल पर नए हैं तो सब्सक्राइब कर ले। बेल आईकॉन को दबाकर सूचना पाना सुनिश्चित कर लें और वीडियो को लाइक करना न भूलें। अपने सहपाठियों को शेयर करें ताकि उन्हें भी वीडियो क्लास का लाभ मिल सके।

Netaji ka chashma MCQ CLASS 10 CBSE 2023

Swavrit lekhan CBSE board class 10th| स्ववृत्त लेखन के उदाहरण biodata example in Hindi

ईमेल लेखन कैसे करें | cbse class 10, 9 Email writing in hindi

वीडियो क्लास के लिए लिंक

About the author

Abhishek pandey

Author Abhishek Pandey, (Journalist and educator) 15 year experience in writing field.
newgyan.com Blog include Career, Education, technology Hindi- English language, writing tips, new knowledge information.

Add Comment

Leave a Comment

हिंदी में बेस्ट करियर ऑप्शन, टिप्स CBSE Board Exam tips 2024 एग्जाम की तैयारी कैसे करें, मिलेगा 99% अंक