Important of Education in Mother Tongue मातृभाषा में शिक्षा क्यों जरूरी 10 लाइन में अनुच्छेद

important of education in mother tongue (matrabhasha mein anuchchhed lekhan)

मातृभाषा में शिक्षा क्यों जरूरी है इस पर 10 लाइन में निबंध essay writing anuched इस आर्टिकल के अंतर्गत आपके समक्ष प्रस्तुत किया जा रहा है। ये विचार आपके असेंबली में बोलने या किसी निबंध या किसी अनुच्छेद में लिखने में सहायता कर सकता है। matrabhasha mein padhaai anuchchhed lekhan

मातृभाषा में शिक्षा (Education) क्यों जरूरी है

जब बच्चा मातृभाषा (mother tongue) में सीखना (learning) है तो उसे अपने आसपास के विचारों और वस्तुओं को अपने syllabus यानी पाठ्यक्रम से जोड़कर पढ़ने में आनंद प्राप्त होता है और पढ़ाई उसे रुचि पूर्ण (interesting) लगती है। मातृभाषा में बच्चा गणित (maths) और विज्ञान की बातें प्रारंभिक तौर पर बहुत तेजी से सीखता है।

जबकि मातृभाषा के अलावा किसी दूसरी भाषा में यदि उसे सिखाया जाए। मान लीजिए की हिंदी या अवधी भाषा किसी बालक की मातृभाषा (mother tongue) है और वह प्रारंभिक कक्षा यानि प्राइमरी कक्षा में अंग्रेजी माध्यम से विज्ञान, गणित (science mathematics, technology)आदि को सीखता है तो निश्चित तौर उसे कठिनाई का अनुभव होगा जबकि वह मातृभाषा में गणित, विज्ञान इत्यादि को बेहतरीन तरीके से समझ सकता है।

See also  Chandrayaan-3 nibandh Hindi and GK

इसके साथ ही वह अपने आसपास के वातावरण से मातृभाषा के शब्दों के माध्यम से वह तेजी से सीखना है और इसके साथ ही वह दूसरी भाषाओं को भी सीखने के लिए प्रयास करता है, इस तरह से बच्चे का विकास भाषा सीखने के तौर पर बहुत तेजी से विकसित होता है।

conclusion

लेकिन यदि उसे मातृभाषा की जगह कोई नई भाषा के माध्यम से विज्ञान गणित प्राइमरी स्टेज पर सिखाया जाएगा तो उसे सीखने में दिक्कत भाषा के समझने में आएगी। जैसे मान लीजिए कि किसी की मातृभाषा हिंदी है और वह बच्चा नर्सरी स्कूल मे अंग्रेजी भाषा के माध्यम से पढ़ाई करता है तो उसे अन्य विषय समझने में कठिनाई होती है।

बच्चों की मातृभाषा बोलने की क्षमता का विकास बहुत तेजी से होता है, जबकि उसके मुकाबले में इसकी अंग्रेजी भाषा (दूसरी भाषा) का विकास अभी हो रहा है, ऐसे में अंग्रेजी भाषा जो कि उसकी मातृभाषा नहीं है, उसमें वह गणित, विज्ञान, संगीत आदि सीखने में कठिनाई का अनुभव करता है। जबकि वहीं उसे अगर उसकी mother tongue हिंदी या अवधी भाषा में विषय को सिखाया जाए तो तेजी से वह सीखता है।

Leave a Comment