Aditya L1 solar L1 mission paragraph writing in Hindi

चंद्रयान-3 मिशन की सफलता के बाद सोलर L1 मिशन लॉन्च करके भारत ने पूरी दुनिया में एक नई उपलब्धि फिर से रच दिया है। सोलर L1 Aditya L1 मिशन अंतरिक्ष की दुनिया में एक बड़ा मिशन है। इस मिशन के बारे में पूरी जानकारी पढ़िए इस अनुच्छेद में।

ग्रह और उपग्रह के बारे में अधिक जानकारी के साथ अब सूरज के बारे में भी जानकारी प्राप्त करने के लिए दुनिया के बड़े देश अपने मिशन को अंजाम दे रहे हैं‌। भारत ने अपनी उपलब्धि दर्ज की है। इस मिशन के बारे में जानकारी इस अनुच्छेद में पढ़ें-

अनुच्छेद लेखन आदित्य एल1

आदित्य एल1 लॉन्च लाइव अपडेट: ISRO का अंतरिक्ष यान 2 सितंबर 2023 को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया। इस उपलब्धि के बाद भारत ने अपना पहला सौर अभियान आरंभ कर दिया है।

सूरज के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए इस मिशन को शुरू किया गया है। आपकी जानकारी के लिए बता दे की पीएसएलवी आदित्य एल1 मिशन सूर्य के पास 125 दिन की यात्रा पर ले जाएगा।

Aditya-L1 भारत का पहला है जोsolar space observatory है । यानी सूर्य के नजदीक जाकर उसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने वाला यह आदित्य L1 मिशन 23 सितंबर को इसरो द्वारा लांच किया गया है। सूर्य के नजदीक जाकर सूरज की प्लाज्मा और मैग्नेटिक फील्ड के बारे में ध्यान करने वाला है। इस मिशन से सूरज के बारे में और अधिक जानकारी अंतरिक्ष मिशन के तहत दुनिया को प्राप्त होगी।

PSLV शॉर्ट फार्म का हिंदी अर्थ

आदित्य-एल1 सूर्य का अध्ययन करने वाला पहला अंतरिक्ष-आधारित वेधशाला कैटेगरी में आता है। इसे इसरो के विश्वसनीय ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) के द्वारा लांच किया गया है। PSLV का फुल फॉर्म Polar Satellite Launch Vehicle होता है। हिंदी में इसे “पोलर सैटेलाइट लांच व्हीकल” लिखा जाता है। इसका हिंदी में मतलब ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान कहा जाता है। आदित्य L1 पीसीएलवी रॉकेट के जरिए छोड़ा गया है।

See also  New Hindi Upsarg Pratyay class 9 mcq| उपसर्ग और प्रत्यय व्याकरण

125 दिनों की यात्रा में यह सूर्य के करीब पहुंचकर सूर्य के तापमान और प्लाज्मा टेंपरेचर के बारे में जानकारी इकट्ठा करेगा।

Leave a Comment