Latest update क्या आप जानते हैं?

Kapoori Thakur कौन थे, जनरल नॉलेज क्वेश्चन आंसर

कर्पूरी ठाकुर
Written by Abhishek pandey

Kapoori Thakur जनरल नॉलेज क्वेश्चन आंसर कपूरी ठाकुर कौन थे। ‌ अलग-अलग परीक्षाओं में और राजनीतिक इतिहास में कपूरी ठाकुर के बारे में कई जनरल नॉलेज प्रश्न पूछे जाते हैं, उनके बारे में यहां जानकारी देते हुए यह बेहतरीन आर्टिकल आपके लिए।

Who was Karpoori Thakur

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर एक ऐसे व्यक्तित्व थे, जिन्होंने पिछड़ों और वंचितों की हक के लिए संघर्ष किया था। PM Modi ‌केंद्र सरकार द्वारा कर्पूरी ठाकुर को मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित करने का फैसला किया है।

23 जनवरी दिन मंगलवार को राष्ट्रपति भवन से जारी एक प्रेस रिलीज में यह बात कही गई है।

आपको बता दे कि 24 जनवरी 2024 को कर्पूरी ठाकुर जी की 100वीं जयंती मनाई जा रही है।

जननायक के रूप में पहचाने जाते हैं कर्पूरी ठाकुर

पिछड़े और वंचितों को समाज की मुख्य धारा में जोड़ जाने की खास भूमिका उन्होंने निभाई है। ईमानदार छवि के जननायक कर्पूरी ठाकुर के बारे में पूरी जानकारी इस आर्टिकल में आप पढ़े।

सामाजिक आंदोलन के प्रतीक ‘कर्पूरी ठाकुर’

बिहार के समस्तीपुर जिले में पारंपरिक तौर पर हजाम (बाल काटने वाले) परिवार में कर्पूरी ठाकुर का जन्म हुआ। पिछड़े और वंचितों के सामाजिक आंदोलन का प्रतीक के तौर पर उन्हें जाना जाता है।

कर्पूरी ठाकुर का जन्म समस्तीपुर जिले के पितौंझिया (अब कर्पूरीग्राम) में हुआ था।

कर्पूरी ठाकुर GK

Kapoori Thakur कभी नहीं हारे बिहार विधानसभा का चुनाव

See also  बदलना जारी

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि जनता के बीच उनकी लोकप्रियता इस कदर थी कि 1952 की पहली विधानसभा में चुनाव (बिहार असेंबली इलेक्शन) जीतने के बाद वह बिहार विधानसभा का चुनाव कभी नहीं हारे।

राजनीतिक उपलब्धि

कर्पूरी ठाकुर एक बार बिहार के उप-मुख्यमंत्री (Deputy Chief Minister), दो बार बिहार राज्य के मुख्यमंत्री (chief minister), दशकों तक विधायक और विरोधी दल के नेता रहे हैं।

कर्पूरी ठाकुर बिहार के पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री रहे हैं।

उपमुख्यमंत्री बनने के बाद अंग्रेजी के अनिवार्यता को खत्म करने की पहल की। इस कारण से कर्पूरी ठाकुर की बहुत आलोचना हुई। लेकिन इसका फायदा हुआ कि आम लोगों तक शिक्षा सुलभ हो गई। आम लोग भी पढ़ने लगे क्योंकि उनकी भाषा में पढ़ाई शुरू होने लगी।

1. कर्पूरी ठाकुर जी का जन्म कहां हुआ था?

उत्तर: कर्पूरी ठाकुर का जन्म समस्तीपुर जिले के पितौंझिया (अब कर्पूरीग्राम) में हुआ था।

2. कपूरी ठाकुर का राजनीतिक सफर क्या रहा है?

उत्तर: कर्पूरी ठाकुर का जन्म 24 जनवरी 1924 और देहांत 17 फरवरी 1988 को हुआ। दो बार बिहार के 11वें मुख्यमंत्री रहे। पहला कार्यकाल दिसंबर 1970 से जून 1971 तक और फिर मुख्यमंत्री का दूसरा कार्यकाल जून 1977 से अप्रैल 1979 तक रहा। उन्हें जननायक के नाम से जाना जाता था।

3. कर्पूरी ठाकुर की मृत्यु कब हुआ?

उत्तर: कर्पूरी का मृत्यु 64 वर्ष की उम्र में 17 फरवरी 1988 को हुआ था।

4. कर्पूरी ठाकुर का जन्म किस समाज में हुआ था?

उत्तर: उनका जन्म नाई समाज में हुआ था।

See also  CBSE 10th 12th के लिए Free Question Bank PDF ऐसे करें डाउनलोड

About the author

Abhishek pandey

Author Abhishek Pandey, (Journalist and educator) 15 year experience in writing field.
newgyan.com Blog include Career, Education, technology Hindi- English language, writing tips, new knowledge information.

Leave a Comment

हिंदी में बेस्ट करियर ऑप्शन, टिप्स CBSE Board Exam tips 2024 एग्जाम की तैयारी कैसे करें, मिलेगा 99% अंक