पानी कैसे बचाएं, निबंध अनुच्छेद लेखन

पानी कैसे बचाएं? (Pani kaise bachayen) पानी बचाकर हम अपने धरती को हरा भरा और जीवित रख सकते हैं। ‌ पानी कैसे बचाएं इस पर 10 लाइन के अनुच्छेद और ऐसे राइटिंग लिखने के लिए कई बार छोटे बच्चों से पूछा जाता है। इस लेख के माध्यम से पानी कैसे बचाई इसके बारे में 10 लाइन का पैराग्राफ राइटिंग और निबंध लेखन दे रहे हैं जो आपके लिए बहुत ही उपयोगी है। how to save water paragraph writing in Hindi 10 lines.

अक्सर होमवर्क में बच्चों से पूछा जाता है कि पानी की बचत के लिए हम क्या करसकते हैं पांच वाक्य लिखो? आंसर के लिए आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

पानी कैसे बचाएं इस पर 10 लाइन

आज हम आपको 10 पंक्तियों में पानी को कैसे बचाएं, जिससे पानी की बचत हो सके और हम जरूर के अनुसार ही अपना पानी प्रयोग करें।

  1. ब्रश करते समय नल को बंद कर दे इससे पानी बचता है।
  2. नहाने के लिए शावर की जगह बाल्टी का प्रयोग करें इससे कम पानी लगता है।
  3. वर्षा के पानी का उपयोग जमीन के नीचे टैंक बनवाकर करना चाहिए।
  4. कपड़े धोते समय बाल्टी और टब का प्रयोग करना चाहिए जिससे पानी कम लगता है।
  5. आरो (RO) मशीन के निकले हुए पानी को पेड़ पौधे और बर्तन धोने में उपयोग कर सकते हैं।
  6. कपड़ा धोते समय वाशिंग पाउडर का इस्तेमाल करके कपड़े को भिगो देने से मैल निकल जाता है और कम पानी में खंगाल कर कपड़ा आसानी से धो सकते हैं।
  7. नल खोलकर सब्जी नहीं धोना चाहिए बल्कि एक बर्तन में पानी लेकर सब्जी धोने से कम पानी लगता है।
  8. खुले नल से पानी टपकता रहता है इसलिए नल अच्छी तरीके से बंद कर देना चाहिए इससे भी पानी की बचत होती है।
  9. अपनी जमीन पर इधर-उधर फेंकने की जरूरत नहीं होती इसे पानी बर्बाद ही होता है।
  10. जितनी आवश्यकता हो उतना ही पानी का इस्तेमाल करना चाहिए आवश्यकता से अधिक पानी निकालने के बाद उसे फेंकना नहीं चाहिए।
See also  Vigyapan Lekhan Hindi class 10

पानी की बचत कैसे करें अनुच्छेद लेखन water saving paragraph writing in Hindi 150 words

धरती पर 71% पानी है‌। अंतरिक्ष से देखने पर यह पानी नीले रंग का दिखाई देता है इसलिए हमारे ग्रह को नीला ग्रह भी कहा जाता है। जल और वायु के कारण ही हमारा जीवन संभव है। इसलिए स्वच्छ जल और स्वच्छ वायु को बनाए रखने के लिए हमें अपने वातावरण को स्वस्थ रखना होता है। जल को इधर-उधर बर्बाद करने से स्वच्छ जल की कमी हो जाती है इस कारण से सूखे की स्थिति भी आ जाती है। धरती पर जीने के लिए जल की बचत करना बहुत जरूरी है। ‌ घरेलू उपयोग के अलावा उद्योग-धंधों में पानी की बहुत जरूरत होती है। ‌ यदि पानी को बर्बाद कर दिया जाए तो जल संकट का कारण बनता है। ‌ स्वच्छ पानी ही जीवन का आधार है। बारिश का पानी भूमि के अंदर चला जाता है इसी पानी का उपयोग अधिकतर किया जाता है। लेकिन अब हर जगह सड़के और मकान बन गए हैं इस कारण से बारिश का पानी भूमि के अंदर नहीं समाता (observe) है। बारिश का पानी नालों के माध्यम से बह जाता है।

इस कारण से बड़े-बड़े शहरों में भूमि के अंदर पानी की कमी होती चली जा रही है। बड़े-बड़े शहरों में जल संकट के कारण वहां जीवन जीना दुभर हो जा रहा है। पानी की बचत करना हमारा प्राकृतिक कर्तव्य है। पानी की बचत करने के लिए हमें प्रतिदिन पानी का सही इस्तेमाल करना चाहिए। अगर स्वच्छ पानी यूं ही बहा दिया जाएगा और उसे संग्रह नहीं किया जाएगा तो आने वाले समय में स्वच्छ पानी का दिक्कत बढ़ती चली जाएगी। पानी की बचत करने के लिए लोगों में जागरूकता होनी चाहिए। ‌ इसके लिए सरकार के कई कार्यक्रम चलते हैं और बच्चों को भी शिक्षा में जल की बचत के बारे में बताया जाता है। water saving paragraph writing in Hindi 150 words more than, essay writing.

जल बचत पर पांच नए उपाय water saving 5 new idea

पानी बचाना सीखे पानी बचत पर पांच नए उपाय के बारे में यहां जानकारी दी जा रही है।

  1. बारिश के समय छत के पानी की निकासी भूमि वाले क्षेत्र की ओर करना चाहिए जिससे की भूमि के अंदर पानी की मात्रा बढ़ सके।
  2. बाल्टी और मग से नहाने से कम पानी खर्च होता है।
  3. कपड़े को वॉशिंग मशीन में धोने के बजाय हाथों से धोने से पानी कम लगता है और शरीर की कसरत भी होती है।
  4. उपयोग किए गए पानी को प्राकृतिक रूप से छानकर इसका फिर से प्रयोग कपड़ा धोने और पेड़ पौधे की सिंचाई के लिए किया जा सकता है।
  5. बेवजह इधर-उधर फर्श धोकर पानी की बर्बादी होती है बल्कि फर्श पर पोछा लगाकर पानी की बचत किया जा सकता है। new idea saving water in Hindi

Leave a Comment