CBSE board examination 2024: ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए पुलिस थाना अधीक्षक को पत्र ​(dhvni pradushan per Patra)

CBSE board examination 2024 latest update कई विषयों पर पत्र लेखन आता है। लेखन के 20 अंकों में 5 अंक पत्र लेखन (लेटर राइटिंग) के होते हैं। (dhvni pradushan per Patra) CBSE board examination preparation for class 10th and 12th student Hindi grammar section asking letter writing various topics we have provide the noise pollution topic a later writing for your practice. Letter to the Superintendent of Police Station to stop noise pollution letter writing ine Hindi

letter writing examples

10th 12th के हिंदी विषय की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए ध्वनि प्रदूषण के रोकथाम पर पत्र लेखन से भी प्रश्न पूछा जाता है। (dhvni pradushan per Patra) ध्वनि (प्रदूषण पर पत्र लेखन) noise pollution यानी ध्वनि प्रदूषण के बढ़ते प्रभाव के कारण चारों तरफ अखबारों में इसकी चर्चा है। Today letter writing for noise pollution ध्वनि प्रदूषण पर कई तरह के पत्र के उदाहरण यहां पर दिए जा रहे हैं जो आपकी परीक्षा के लिए उपयोगी है।

ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए थाना पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखिए

सेवा में,

पुलिस अधीक्षक महोदय

(यहां पर थाना का नाम लिखेंगे),

(यहां शहर का नाम)।

विषय : ध्वनि-प्रदूषण रोकने और कार्यवाही करने हेतु

महोदय,

मैं सेक्टर ‘‘ क्षेत्र का निवासी हूं। इस क्षेत्र में बढ़ते हुए ध्वनि प्रदूषण को लेकर चिंतित हूं इसलिए आपको पत्र लिख रहा हूं। लगातार वाहनों का हार्न, लाउडस्पीकर का शोर वाला संगीत और आसपास निर्माण का शोर हमारे इलाके की शांति को भंग कर रहा है। वाहनों में तेज आवाज में चलता हुआ म्यूजिक मोहल्ले और कॉलोनीवासियों का जीना दूभर किए हुए हैं।

See also  Buddha Purnima Wishes Hindi Buddha Quotes 2023, बुद्ध पूर्णिमा 2023 मैसेज व्हाट्सएप शुभकामना संदेश

ध्वनि प्रदूषण के कारण लोग मानसिक रूप से परेशान और चिड़चिड़े हो रहे हैं। सुबह से देर रात्रि तक इस शोर के कारण नगर वासी और इस क्षेत्र के वासी बहुत ही परेशान है।

देर रात तक गेस्ट हाउस से आती हुई डीजे की आवाज कान के साथ-साथ दिल को भी नुकसान पहुंचती है। इस कारण से हम नगरवासी/ क्षेत्रवासी ठीक ढंग से सो भी नहीं पाते हैं। वहीं देर रात तक बाजार खुली रहती है और सड़कें ध्वनि-प्रदूषण की चपेट से उबर नहीं पाता है। मनुष्य के साथ ही पशु-पक्षी पेड़-पौधे ध्वनि प्रदूषण से परेशान है। ‌तरह-तरह के लाउडस्पीकर म्यूजिक, वाहन के हार्न का शोर घर, स्कूल, अस्पताल और कार्यालय के माहौल को बर्बाद कर रहा है।

आपसे विनम्र अनुरोध है कि क्षेत्र में ध्वनि प्रदूषण के बारे में लोगों को जागरूक करें और उचित कानूनी कार्रवाई करके ध्वनि प्रदूषण पर लगाम लगाएं।

आशा है कि हमारे इस अनुरोध को आप गंभीरता से लेंगे और इस पर उचित कार्रवाई अवश्य करेंगे।

क्षेत्रनिवासी

चंपकलाल

मकान संख्या 25 ए

(क ख ग) शहर, उत्तर प्रदेश

02 फरवरी, 2024

Leave a Comment