teacher kaise bane टीचर बनने के कई कोर्स

दुनिया का सबसे बेहतरीन profession शिक्षक का होता है इसलिए अक्सर लोग पूछते हैं कि टीचर कैसे बने teacher kaise bane अगर आप भी कैरियर ऑप्शन के तौर पर शिक्षक बनने का चुनाव कर रहे हैं तो हम आपको बताने जा रहे हैं कि टीचर बनने के लिए कई कोर्स हैं। एक नहीं ऐसे आधा दर्जन कोर्स है, जिसमें से आप एक करके टीचर बन सकते हैं। career education new knowledge के इस एपिसोड में हमारे साथ आप बनी रहे और जाने की टीचर कैसे बना जाता है इसके लिए कौन-कौन से कोर्स होते हैं इसके बारे में संपूर्ण जानकारी इस न्यू अपडेट के साथ प्रस्तुत करने जा रहे हैं।

आपकी योग्यता इंटरमीडिएट हो या ग्रेजुएशन या पीजी आप अलग-अलग कोर्स करके टीचर बन सकते हैं। how to become a teacher पहले हम टीचर ट्रेनिंग कोर्स B.Ed (बैचलर ऑफ एजुकेशन) के बारे में बात करने जा रहे हैं।

b.ed टीचर ट्रेनिंग कोर्स

टीचिंग की कोर्स में सबसे आकर्षित करने वाला कोर्स जो पहले 1 साल का था अब या 2 साल का हो गया है। आपने किसी भी किसी से ग्रेजुएशन किया है तो आप b.ed यानी बैचलर ऑफ एजुकेशन की डिग्री ले सकते हैं। इसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम से गुजर ना होता है मेरिट लिस्ट जाने पर आपका सिलेक्शन डिग्री कॉलेज या यूनिवर्सिटी में हो जाता है। उत्तर प्रदेश b.ed एंट्रेंस टेस्ट, बिहार टीचर ट्रेनिंग कोर्स टेस्ट का आयोजन होता है। दूसरे राज्यों में भी टीचर ट्रेनिंग के लिए एंट्रेंस परीक्षाएं होती है। इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए किसी भी स्ट्रीम में एक ग्रेजुएशन 50% अंकों से होना जरूरी है।

teacher kaise bane

b.ed कोर्स में आपको क्ला 6 से लेकर 10 तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए ट्रेन किया जाता है। केवीएस और नवोदय जैसे स्कूलों में कक्षा 6 से लेकर 10वीं तक के पढ़ाने वाले शिक्षकों की योग्यता बीएड और बैचलर डिग्री होती है। इन्हें ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर यानी टीजीटी TGT कहा जाता है।

See also  KVS Syllabus Hindi 2023 | PRT, TGT, PGT सामान्य हिंदी प्रश्न हल करने की रणनीति

टीचर बनने के लिए BTC यानी बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट कोर्स

आप प्रायमरी लेवल तक के बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं। इसके के लिए बीटीसी यानी बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं। उत्तर प्रदेश में यह कोर्स डायट द्वारा कराया जाता है। अन्य राज्यों में डीएलएड नाम से यह कोर्स चलता है।
प्राइमरी से अपर प्राइमरी लेवल के टीचर बनने के लिए योग्यता वाला बीटीसी डीएलएड कोर्स होता है जो 2 साल का होता है। जो कई वर्षों से पढ़ा रहे हैं लेकिन अनट्रेंड टीचर है उनके लिए डीएलएड NOS के द्वारा कराया जाता है। अगर आप बाहर भी पास है तो डीएलएड या बीटीसी के लिए एंट्रेंस परीक्षा में बैठकर इस कोर्स के लिए दाखिला ले सकते हैं। प्राइवेट शिक्षण संस्थानों में डीएलएड बीटीसी कोर्स में डायरेक्ट एडमिशन भी हो जाता है।

बीटीसी, डीएलएड कोर्स में दाखिला लेना चाहते हैं तो कम से कम ग्रेजुएट होना जरूरी है। 4 साल के डीएलएड कोर्स में दाखिला लेने के लिए इंटरमीडिएट योग्यता कम से कम होनी चाहिए।

BPEd बैचलर इन फिजिकल एजुकेशन टीचर ट्रेनिंग कोर्स

यहां अब आपको बैचलर इन फिजिकल एजुकेशन टीचर ट्रेनिंग कोर्स यानी बीपीएड से आम भाषा में खेल टीचर कहा जाता है इस कोर्स के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

आप को पढ़ाना और खेल भी पसंद है तो बैचलर इन फिजिकल एजुकेशन यानी बीपीएड कोर्स आपके लिए बहुत ही सही ऑप्शन है। आजकल सभी स्कूलों में खेल टीचर की डिमांड बहुत तेजी से बढ़ी है। खेल टीचर 1 से लेकर कक्षा बारहवीं तक के बच्चों को खेल, योग, एनसीसी आदि का ज्ञान देता है उसके साथ ही वह कक्षाएं भी लेता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 12th में फिजिकल सब्जेक्ट को पढ़ाने वाले पीजीटी टीचर बीपीएड ट्रेन होती है।

See also  KVS Exam result 2023: केंद्रीय विद्यालय शिक्षक result

BPEd 3 साल का ग्रेजुएशन वाला टीचर ट्रेनिंग कोर्स है। इसको करने के लिए आपके पास स्नातक की डिग्री होनी चाहिए। इसके बाद आप MPEd भी कर सकते हैं। MPEd course ka ful form master of physical education hai. यदि किसी ने इंटरमीडिएट फिजिकल सब्जेक्ट से किया और स्नातक में सब्जेक्ट से किया है तो BPEd 1 साल वाला कोर्स कर सकता है।

JBT जूनियर टीचर ट्रेनिंग

अब आपके सामने हम बात करने जा रहे जूनियर टीचर ट्रेनिंग कोर्स जिसकी कम से कम योग्यता 12वीं कक्षा होती है। इस कोर्स का एडमिशन मेरिट बेस पर होता है और कहीं-कहीं एंट्रेंस एग्जाम ही होता है। यह कोर्स प्राइमरी टीचर बनने के लिए है। इस कोर्स की अवधि कहीं 2 साल और कहीं 3 साल है।

D.Ed डिप्लोमा इन एजुकेशन कोर्स

बिहार और मध्य प्रदेश में डिप्लोमा एंड एजुकेशन यानी डीएड कोर्स शिक्षक बनने के लिए कराया जाता है। यह कोर्स 12वीं के अंकों के आधार पर मेरिट बेसिस पर एडमिशन होता है। b.ed कोर्स के लिए बिहार एजुकेशन डिपार्टमेंट से इसका एंट्रेंस एग्जाम कराया जाता है।

conclusion

आज हमने आपको teacher kaise bane टीचर बनने के कैरियर के बारे में और कोर्स के बारे में बताया जिसमें हमने D.Ed, JBT teacher, BPEd, BTC, B.Ed (बैचलर ऑफ एजुकेशन) पूरी जानकारी दी है जो आपके लिए बहुत उपयोगी है। इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और हमारे newgyan.com वेबसाइट पर विजिट करते रहे नई-नई जानकारियां आपके लिए यहां पर है।

See also  Agniveer, अग्निपथ योजना Agnipath yojna| सैलरी, Application form 2022 bharti

Leave a Comment