सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

अप्रैल, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

भक्तिकालीन कवि कविता का उद्देश्य क्या था?

 भक्तिकालीन कवि की कविता का उद्देश्य क्या था? इन्टरनेट के फायदे और नुकसान Advantages and Disadvantages of Internet नामदेव, कबीर दास, रैदास, गुरु नानक, दादू दयाल, पलटू दास, मलूक दास भक्तिकालीन कवि में। भक्तिकालीन कवि की कविता का क्या उद्देश्य था आइए इस पर थोड़ा सा चर्चा करते हैं, (Bhaktikalin Kavi) ज्ञानमार्गी शाखा (Gyanmargi) के कवि हैं।  कोई समाज तभी स्वस्थ होता है, जब वहां पर जागरूकता एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है।  भक्तिकालीन कवियों ने अपने वैज्ञानिक दृष्टिकोण से समाज को  जागरूक करने का प्रयास किया है।  सगुण ईश्वर उपासक  इसके साथ ही  सगुण ईश्वर के उपासक तुलसीदास, मीराबाई, सूरदास जी ने भी सामाजिक कुरीतियों को मिटाने का काम अपने काव्य की रचनाओं से भी किया। उस समय के सही सामाजिक वातावरण को अपनी रचनाओं में स्थान दिया। प्रेम और मानवीय मूल्यों की पराकाष्ठा को स्थापित कर इंसानों में नैतिकता के विकास पर बल दिया। रामचरितमानस  महाकाव्य के माध्यम से राम के चरित्र के माध्यम से मर्यादा को स्थापित किया।  सूरदास भक्ति प्रेम के अलग कवि हैं, जिनकी  सूक्ष्म दृष्टि  भक्ति प्रेम व मानव प्रेम  की सीख

काव्य के भेद कितने हैं: प्रबंधकाव्य किसे कहते हैं kind of hindi kavya

  काव्य के भेद कितने हैं: प्रबंधकाव्य किसे कहते हैं| Kind of hindi kavya काव्य के भेद/ प्रकार कितने हैं-प्रबंध काव्य किसे कहते हैं: दोस्तों हिंदी आज से पहले इस रूप में नहीं थी बल्कि कई बोलियों में हिंदी बंटी थी। भारत के प्राचीन भाषा संस्कृत के साहित्य भरतमुनि, बाल्मीकि, कालिदास आदि की परंपरा से शुरू हुई है। आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे कि हिंदी के काव्य में प्रबंध काव्य किसे कहते हैं. काव्य के भेद कितने होते हैं. काव्य के प्रकार कितने होते हैं. हिंदी भाषा अपने विकास के पहले चरण यानी कविता से शुरू होकर आज आधुनिक हिंदी भाषा के रूप में हमारे सामने हैं। इन सब जानकारी के लिए आप पूरा जरूर पढ़ें। Education, Hindi, veyakaran काव्य/ पद्य किसे कहते हैं what is the kavya in hindi

2021, CBSE, CLASS 10 :ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस क्या होता है? जिससे पास होंगे CBSE 10वीं के छात्र

  2021,  CBSE, CLASS 10 : CBSE objective criteria process क्या होता है? जिससे पास होंगे CBSE 10वीं के छात्र  सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10 की परीक्षा कैंसिल हो गई है और 12वीं की परीक्षा को पोस्टपोन कर दिया गया है। सीबीएसई क्लास 10th CBSE objective criteria process क्या होता है इसके बारे में बात करेंगे। CBSE के कक्षा 10 के छात्रों को पास करने के लिए यह तरीका अपनाया जाएगा। जिसे ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस कहते हैं।   CBSE 2021, ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस सरकार ने सीबीएसई बोर्ड की क्लास 10 की एग्जामिनेशन को टाल दिया है।  अब प्रश्न है कि  छात्रों का मूल्यांकन यानी कि उन्हें किस तरह से पास किया जाएगा ताकि   वे 11वीं कक्षा में प्रमोट हो सके। उनकी मार्कशीट में किस आधार पर अंक दिया जाएगा? 10वीं की मार्कशीट में दिए गए अंक का आधार क्या होगा? यह प्रश्न उठता है।  इसी के मंथन में ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया प्रोसेस सीबीएसई जल्द ही डेवलप करके देगा और उसी के आधार पर कक्षा 10 के विद्यार्थियों को नंबर दिया जाएगा।  आइए संभावना के आधार पर समझे CBSE objective criteria process क्या है?  ऑब्जेक्टिव क्राइटेरि

सूरदास पाठ New update NCERT Hindi Solutions for class, 9, 10,

 सूरदास पाठ New update NCERT Hindi Solutions for class, 10,  class 10 hindi solutions New NCERT Solutions For Class 10 Hindi Kshitiz Chapter 1 पद: cbse board latest 2021   news and Hindi website CBSE board class 10 Hindi special solution Board CBSE Class Class 10 Chapter Name       सूरदास के पद NCERT SOLUTIONS Book solution काव्य के भेद कितने हैं: प्रबंधकाव्य किसे कहते हैं cbse Solutions for Class 10 Hindi, हिन्दी Chapter 1 पद is part of NCERT Solutions for Class 10 Hindi. Here we have given NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitiz Chapter 1. पाठ 1. क्षितिज भाग 2 पुस्तक सूरदास पाठ का सलूशन class 10 hindi solutions NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitiz Chapter 1 पद प्रश्न 1. गोपियों द्वारा उद्धव को भाग्यवान कहने में क्या व्यंग्य निहित है? उत्तर- गोपियों द्वारा उद्धव को भाग्यवान कहने में   उपहास छिपा है। गोपियाँ कहना चाहती है कि  उद्धव अभागे हैं, श्रीकृष्ण के सानिध्य में रहकर उनके प्रेम को अनुभव नहीं कर सके। न किसी के हो सके, न किसी को अपना बना सके। उद्धव तुमने प्रेम का आनंद ज

गधे पर दो कविताएं: Hindi poetry on donkey

      नया  सृजन  अंक प्रथम  कविताएँ- गधे पर दो कविताएं: Hindi poetry on donkey कविता गधे की दुलत्ती (लात) जो चालाक है, वह बुद्धिमान नहीं है,  जो बुद्धिमान है वह चालाक नहीं। असल में चलाक न होना ही सच्ची बुद्धिमानी है, गधे से बड़ा बुद्धिमान कोई नहीं  गधा आत्मचिंतन से भरा  है,   वह ध्यान केंद्रित करता है  गधा दुनिया की परवाह  में डूबा, गधे का अंतिम न्याय  अन्याय के खिलाफ  जबरदस्त प्रहार वाला होता है  गधे की दुलत्ती।   गधा बुद्धिमान होता है,  दोस्तों गधा बेवकूफ नहीं है,  गधा बुद्धिमान होता है,  गधा ईमानदार होता है,  गधा  मेहनती होता है,   गधा कर्मठ होता है,   गधा चिंतन में डूबा हुआ सहनशील प्राणी है  गधा किसी का हक नहीं मारता,  गधा बेईमान नहीं होता है, गधा बदजुबान नहीं होता है,   गधा न्याय  पसंद  होता है,   गधा आत्मज्ञानी होता है, इंसान अपनी कमजोरियों को छुपाने के लिए  गधे को बेवकूफ कहता है,  क्योंकि गधा चालाक नहीं होता है,  असल में जो इंसान चालाक होता है,  वह कभी गधा जैसा नहीं बन सकता है  क्योंकि  गधा बुद्धिमान होता है!   कविता अभिषेक कांत पांडेय

परीक्षा पर चर्चा प्रधानमंत्री मोदी Pariksha Pe Charcha 2022

  परीक्षा पर चर्चा प्रधानमंत्री मोदी Pariksha Pe Charcha 2022 प्रिय विद्यार्थियो! परीक्षा पे चर्चा ( pariksha pe charcha) का 5वां संस्करण फरवरी 2022 में आयोजित किया जाएगा। पीपीसी प्रतियोगिता 28 दिसंबर 2021 से 20 जनवरी 2022 तक Mygov पोर्टल पर शुरू की गई है। इसमें कक्षा 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थी भाग ले सकते हैं। विवरण परिपत्र circular 2022 में हैं. https://cbseacademic.nic.in/web_material/Circulars/2021/133_Circular_2021.pdf पिछले साल आपके सक्रिय सहयोग से सीबीएसई ने 6 लाख का लक्ष्य पार किया। इस वर्ष हमें प्रतियोगिता को लोकप्रिय बनाने की भी आवश्यकता है, क्योंकि इसका उद्देश्य छात्रों के बीच परीक्षा के तनाव को दूर करना है। इसलिए, यह अनुरोध किया जाता है: (1) छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के बीच परीक्षा के तनाव को कम करने की दिशा में इस महत्वपूर्ण पहल का प्रचार और प्रसार करें। (2) सुनिश्चित करें कि परीक्षा पे चर्चा के बारे में जानकारी सभी छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के साथ साझा की जाती है। (3) 28 दिसंबर, 2021 से 28 दिसंबर, 2021 तक https://innovateindia.mygov.in/ppc-2022/ (पंजीक

IAS success story: यूपीएससी परीक्षा में सफलता के बाद, मन मुताबिक रैंक न मिली, तो किया फिर तैयारी बन गई आईएस

 कंचन  की IAS success story: UPSC में सफलता के बाद, मन मुताबिक रैंक न मिली, तो किया फिर तैयारी बन गई आईएस आईएएस परीक्षा में पहले ही प्रयास में कंचन ने यूपीएससी एग्जाम में सफलता हासिल की। सरकारी नौकरी हासिल कर लिया, लेकिन अच्छी रैंक ना आने के कारण फिर दोबारा से की यूपीएससी की तैयारी और IAS बन गई। दोस्तों यह प्रेरणादायक कहानी कंचन की है, जो हरियाणा की रहने वाली है। आइए कंचन की इस सफलता के पीछे छिपे मेहनत और लगन के बारे में जाने। सफलता दोबारा भी हासिल की जा सकती है कंचन ने पहले प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा पास करने के मन मुताबिक IAS का पद नहीं मिला तो उसने फिर से तैयारी करने की ठानी और उनके दूसरे प्रयास से कंचन को आईएस का पद हासिल हुआ।  दोस्तों सफलता एक बार मिले और उससे बड़ी सफलता पाने के लिए फिर से धैर्य और लगन के साथ कोई इंसान जुट जाए और फिर अपने मन मुताबिक सफलता प्राप्त कर ले, तो वास्तव में वह इंसान सबके लिए प्रेरणादायक बन जाता है।    आईएएस टॉपर कंचन की सफलता खुद पर भरोसा Success Story Of IAS Topper Kanchan: यूपीएससी का सपना हर कोई जब देखता है तो मंजिल चाहे एक हो लेकिन उसे ह

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

MCQ Vachya वाच्य class 10 cbse board new 2021

MCQ Vachya  वाच्य class 10 cbse board new 2021 CBSE Change question paper pattern in hindi. Hindi Grammar asking MCQ's. वाच्य Vachya topic given multiple cohice question with answer.     सीबीएसइ कक्षा 10 की हिन्दी  अ Syllabus 2021 में अब अधिकतर Questions Objective  टाइप के प्रश्न पूछे जाएंगें। यहां पर Vachya वाच्य टॉपिक से दे रहे हैं। Vachya Topic  में 5 में से 4  इस वाच्य टॉपिक questions आएंगे। वाच्य शब्द का अर्थ बोलने का तरीका वाच्य कहलाता है। ऐसा वाक्य जहां पर क्रिया का पर प्रभाव कर्ता, कर्म या भाव का पड़ता है तो क्रिया उसी के अनुसार परिवर्तित होती है। इस तरह से वाच्य तीन प्रकार के हुए। क्योंकि तीन तरह से क्रिया पर प्रभाव पड़ता है। यानी  1 कर्ता  2 कर्म  3 भाव क्रिया विधानों के अनुसार वाच्य 3 तरह के होते हैं- 1 कर्तृवाच्य (Active Voice) 2. कर्मवाच्य (Passive Voice) 3. भाववाच्य (Impersonal Voice) कर्तृवाच्य व अ कर्तृवाच्य   के अनुसार वाच्य दो प्रकार के होते हैं- 1 कर्तृवाच्य 2  अ कर्तृवाच्य  अ कर्तृवाच्य के दो भेद होते हैं-        i. कर्मवाच्य (Passive Voice)         ii भावव

MCQ Balgobin Bhagat CBSE Class 10

  MCQ Balgobin Bhagat CBSE Class 10  बालगोबिन भगत पाठ, लेखक रामवृक्ष बेनीपुरी क्षितिज भाग- 2 बुक से MCQ Balgobin Bhagat, CBSE Class 10  CBSE 2020-21 नए परीक्षा पैटर्न के अनुसार इस बार हिन्दी अ पाठ्यक्रम में पेपर में दो खंड होंगे। अ और ब खंड हैं। इग्जामिनेशन में 40 अंक के 40 MCQ क्यूश्चन ( questions) पूछा जाएगा।    सीरीज में MCQ Balgobin Bhaghat CBSE Class 10  MCQ दे रहे हैं। कक्षा 10 क्षितिज भाग 2 book kshitij   से Balgobin Bhaghat  MCQ  CBSE Class 10  पर बहुविकल्पी MCQs प्रश्न दे रहे हैं। Class 10 Hindi Class YouTube Channel Link    निम्नलिखित प्रश्नों के सही विकल्पों पर टिक ​लगाइए —  1 भगत जी कौन-सा काम करते थे? i खेतीबारी ii नौकरी iii भजन गाते ​थे iv व्यापार करते थे उत्तर—i  खेतीबारी 2 बालगोबिन भगत किसको साहब कहते थे? i भगवान ii कबीर iii जमींदार iv मुखिया उत्तर—ii कबीर 3. बालगोबिन भगत साहब के दरबार में फसल ले जाते थे। यहां साहब के दरबार से क्या अभिप्रायय है? i जमींदार की हवेली ii राजा का दरबार iii कबीरपंथी मठ iv मंडी उत्तर—iii कबीरपंथी मठ 4.  ठंडी पुरवाई का क्या मतलब

MCQ Ras Hindi class 10 cbse

MCQ Ras Hindi class 10 cbse MCQ Ras Hindi class 10 cbse Ras Hindi MCQ class# 10 CBSE board new# syllabus objective questions. New gyan dotcom Gmail important question topic ras रस पर क्वेश्चन आंसर यहां दिये जा रहे हैं।‌  If you have any problem of the topic of Hindi Ras write a comment, I will solve your problems within 24 hours. You have know that  multiple choice question coming Hindi grammar section class of 10.  Ras,  Rachna ke Aadhar per Vakya, Pad Parichy,  aur Vachy. रस, रचना के आधार पर वाक्य, पद परिचय और वाच्य है। यहां पर रस पर आधारित MCQ क्वेश्चन दिए जा रहे हैं यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इसके अलावा कई प्रतियोगी परीक्षा के लिए भी रस पर MCQ  प्रश्न काफी आते हैं। Given 10 topic question answer objective type. रस के बहुविकल्पी प्रश्न के उत्तर भी लिखे हुए हैं। १. निम्नलिखित प्रश्नों में दिए गए चार विकल्पों में से सर्वश्रेष्ठ सही विकल्प चुनिए। रस  को काव्य की आत्मा माना जाता है। " जब किसी नाटक, काव्य में आनंद की अनुभूति होती है तो वह रस  है।  रस  काव्य की

लघु-कथा' CBSE BOARD CLASS 9 NEW SYLLABUS LAGHU KATHS LEKHAN

'लघु-कथा' CBSE BOARD CLASS 9 NEW SYLLABUS LAGHU KATHA LEKHAN  लघु और कथा शब्द से मिलकर बना हुआ है। लघु का अर्थ होता है- छोटा और कथा का अर्थ होता है-कहानी। Laghu Katha ke Udharan  इस तरह लघुकथा का अर्थ हुआ कि 'छोटी कहानी'। छात्रों हिंदी साहित्य को दो भागों में बाँटा गया है, पहला गद्य साहित्य और दूसरा काव्य साहित्य।  गद्य साहित्य के अंतर्गत कहानी, नाटक, उपन्यास, जीवनी, आत्मकथा विधाएँ आती हैं। इसी में लघु-कथा विधा भी 'गद्य साहित्य' का एक हिस्सा है। कहानी उपन्यास के बाद यह विधा सर्वाधिक प्रचलित भी है। लघुकथा के महत्वपूर्ण बातें आधुनिक समय में इंसानों के पास समय का अभाव होने लगा और वे कम समय में साहित्य पढ़ना चाहते थे तो  'लघु-कथा' का जन्म हुआ। लघु कथा की परंपरा हमारे संस्कृति में 'पंचतंत्र' और 'हितोपदेश' की छोटी कहानियों  से भी  रही है। इन कहानियों को लघु-कथा भी कह सकते हैं। आपने भी छोटी-छोटी लघु कहानियाँ अपने बड़ों से जरूर सुनी होगी।  'पंचतंत्र' में इस तरह की लघु-कथाओं में जीव-जंतु यानी जानवरों और पक्

भारतीय आजादी के गुमनाम नायक

भारतीय आजादी के गुमनाम नायक bhaarateey aajaadee ke gumanaam naayak आज हम अपनी मर्जी से कहीं भी आ जा सकते हैं, पढ़ लिख सकते हैं अपने मनपसंद का करियर चुन सकते हैं, क्योंकि हम आजाद हैं और इस आजादी के लिए वीरों ने अपनी आहुति दी है, पर जब स्वतंत्रता सेनानियों के नाम बताने की बारी आती है तो हम सिर्फ गिने-चुने नाम ही बता पाते हैं, जबकि हकीकत यह है कि आजादी सिर्फ कुछ लोगों के बलिदान से नहीं मिली बल्कि इसके लिए बहुतों ने अपनी जान गंवाई। इनमें से कई तो गुमनामी की अंधेरों में खो चुके हैं। हम आपको ऐसे ही स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने आज़ादी की लड़ाई में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई थी-  आजादी के गुमनाम नायक हम बताने जा रहे हैं आजादी के महानायक जिनको हम भूल गए हैं-- कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी भारत छोड़ो आंदोलन से जुड़ने वाले कन्हैयालाल कई बार अंग्रेजी शासन के खिलाफ आवाज उठाने के आरोप में गिरफ्तार किए गए और अंग्रेजों के जुल्म का शिकार हुए पर उन्होंने कभी हार नहीं मानी हर बार दुगनी ताकत के साथ अंग्रेजों से मुकाबला किया। भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, इं

MCQ hindi pad parichayCBSE Class 10 Hindi A व्याकरण पद परिचय | New pattern hindi pad parichay 2021

CMCQ CBSE Class 10 Hindi A व्याकरण पद परिचय | New pattern hindi pad parichay 2021 CBSE Class 10 Hindi A व्याकरण पद परिचय पद परिचय का अर्थ— जब किसी वाक्य में कोई शब्द आता है। जैसे— ज्ञान स्कूल जाता है। तो यहां पर हर शब्द व्याकरण का नियम के पालन करते हैं। ज्ञान यहां पर नामवाला शब्द है। वाक्य में आने से ये शब्द पद कहलााता है। इस पद का अपना व्याक​रण के नियम के आधार पर परिचय है। जब इसके बारे में हम व्याकरणिक नियमों के बारे में बातएंगे तो ये बताना ही पद परिचय है। ज्ञान पद का परिचय इस तरह से देंगे— ज्ञान एक पद के रूप में इस वाक्य में आया है। संज्ञा के रूप में आया है। यानि व्यक्ति​वाचक संज्ञा,एकवचन, पुल्लिंग, कर्ताकारक इसका पद परिचय है। पद का शब्द की परिभाषा— पद – जब कोई शब्द व्याकरण के नियमों के अनुसार वाक्य में प्रयोग होता है तो उसे पद कहते हैं। पद-परिचय- वाक्य में प्रयुक्त पदों का विस्तृत व्याकरणिक परिचय देना ही पद-परिचय कहलाता है। आइए सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10  (CBSE BOARD CLASS 10) में इस टॉपिक से संबंधित MCQ बहुविकल्पी प्रश्नों को साल्व करें। पद परिचय सीबीएसई क्लास 10 हिन्दी अ पठ्यक्रम म

MCQ नेताजी का चश्मा पाठ 10 हिंदी. MCQ QUESTION CBSE BOARD New Examination Pattern-2021

 नेताजी का चश्मा पाठ  10 हिंदी/ MCQ-QUESTION CBSE BOARD. New Examination Pattern-2021  CBSE BOARD बहुविकल्पी प्रश्न. Cbseb board  Netajee-Ka-Chashma-path-class-10-Hindi-MCQ-QUESTION-CBSE-BOARD-New-Examination-Pattern-2021  नेताजी का चश्मा पाठ  10 हिंदी. MCQ-QUESTION-CBSE-BOARD-New-Examination-Pattern-2020  Catch up course kya hai कैच-अप कोर्स/ केचप कोर्स -2021क्या है?/Bihar education Neta jee ka chashma lesson: hindi class 10 mcq, cbse board new examination pattern 2021  CBSE  CBSE 2021-22 नए परीक्षा पैटर्न के अनुसार इस बार हिंदी अ पाठ्यक्रम में पेपर में दो खंड होंगे। अ और ब खंड। इस बार परीक्षा में 40 अंक के 40 प्रश्न बहुविकल्पी प्रश्न पूछेंगे जाएंगे। इसके अलावा लेखन और पाठ पर आधरित लिखने वाले प्रश्न भी 40 अंक के पूछे जाएंगे। इस सीरीज में आज हम नेताजी का चश्मा पाठ का MCQ  प्रश्न दे रहे हैं।  Netajee-Ka-Chashma-path-class-10-Hindi-MCQ-QUESTION-CBSE-BOARD-New-Examination-Pattern-2022  निम्नलिखित प्रश्नों के सही विकल्पों पर टिक ​लगाइए— 1. नेताजी का चश्मा पाठ किसने लिखा है? i स्वयं प्र