New Gyan सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

मई, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Online hindi cbse alternative academy calender activities study

डिजिटल माध्यम से अध्ययन कक्षा १० हिंदी 'अ'  📲🖥️📱🖥️📱  * सीबीएसई द्वारा पिछले सप्ताह जारी किया गया वैकल्पिक अकादमी कैलेंडर के आधार पर यह पाठ योजना बनाई गई है। *  विवरण यानी एक्ट नंबर के माध्यम से वसीयत।  * पहले सप्ताह और दूसरे सप्ताह की कार्ययोजना *  क्षितिज भाग -2 में काव्य खंड के अंतर्गत 'यह दंतुरित मुस्कान' कविता 'नागार्जुन' द्वारा लिखा गया है, इस कविता का अध्ययन करेगा। ऑनलाइन हिंदी सीबीएसई वैकल्पिक अकादमी कैलेंडर गतिविधियों का अध्ययन अध्ययन की प्रविष्टि और दिशानिर्देश मेरे द्वारा बनाए गए 'वीडियो क्लास' से समझेंगे। लगभग 13 मिनट का वीडियो क्लास मैंने YouTube सूची के माध्यम से प्रस्तुत किया है। वीडियो क्लास के लिए यहां क्लिक करें- https://youtu.be/3NnbOAkgS1g 👉 * निर्देश का पालन करने के लिए करें- *  📲सर्वप्रथम आप इस कविता का अनुकरण अर्थात सुनकर वाचन करेंगे और इस कविता का वाचन द्वारा एक AUD क्लिप मुझे व्हाट्सएप व्यक्तिगत रूप से भेजेंगे। 👉इसके साथ ही इस कविता के अर्थ को समझते हुए पूरे वीडियो को देखकर आप 100 से 150 शब्दों में लगभग इस कविता पर आधारित

Why read hindi sahitya

हिन्दी साहित्य क्यों जरूरी है * रचनात्मक तरीके से सीखने के लिए,  विश्लेषणात्मक, तर्कशक्ति और तुलनात्मक अध्ययन कर कहानी, कविताओं से भारतीय संस्कृति, इतिहास समाज पर पड़ने वाले साहित्य के प्रभाव के बारे में जानने के लिए साहित्य जरूरी है। 👉 समीक्षा, तर्कशक्ति व विश्लेषण की समझ विकसित करने के लिए साहित्य जरूरी है। 👉साहित्य कला व विज्ञान को समझने की शक्तिप्रदान करता है, उसके बारे में कहने की अभिव्यक्ति देता है। Hindi sahitya 👉साहित्य का इतिहास से कैसा नाता रहा? समाज से कैसा नाता रहा? साहित्य समाज का आईना होता है तो साहित्य पढ़ना जरूरी है। 👉भारत की आजादी में साहित्य का बहुत बड़ा योगदान रहा है। 👉 जनमानस को समझ में आने के कारण हिन्दी ने विशाल जनसंख्या को आजादी के समय जाग्रत किया है, अन्य भारतीय भाषाओं के साहित्य ने भी यह कार्य किया है। लेकिन राष्ट्रभाषा के रूप में इसकी पहचान इसलिए है कि  यह बड़े भूभाग में बोली और समझी जाती है। हिंदी भाषा का योगदान समाज में नई चेतना लाने के लिए रहा है, इसका सबसे बड़ा उदाहरण भक्ति आंदोलन था, जब धर्म जाति-भेदभाव, अंधविश्वास स्त्रियों पर अत्याचार के खिलाफ और स

किंतु -परंतु -अगर- मगर- लेकिन (कविता)

किंतु -परंतु -अगर- मगर- लेकिन  (कविता) ईश्वर का दिया सब कुछ है... गांव में नेचर है। गांव में सरकारी स्कूल भी है! गांव में सरकारी अस्पताल भी है! गांव में लाइब्रेरी भी है! गांव में लहलाती खेती के साथ  सवाल उठाता हुआ साहित्य भी है! असल में गांव- गांव ही है, जैसा शहर है। फर्क बस इतना है  जो चीज वहां है,  वह चीज यहां नहीं इसे इस तरह कहे जो चीज यहां है,  वह चीज वहां नहीं फिर समझ में असल में अधूरे! गांव और शहर  बल्कि हम बल्कि हमारा प्रयास! परंतु....! असुर आदिवासी' पुस्तक समीक्षा

ऑनलाइन online डिजिटल वीडियो पाठ बनाने के टिप्स- अध्यापक के लिए वीडियो पाठ बनाते, समय निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखना चाहिए

ऑनलाइन डिजिटल वीडियो पाठ बनाने के टिप्स- अध्यापक के लिए वीडियो पाठ बनाते, समय निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखना चाहिए। प्रभावशाली video वीडियो पाठ lesson बनाने के लिए निम्नलिखित योजनाएँ-  #चयनित टॉपिक  पर अब तक यूट्यूब वीडियो (video) या और कहीं वीडियो है, उसे देखना समझना, उससे बेहतर बनाने की कोशिश करना। #ऑडियो (Audio), विजुअल (Visual) और ग्राफिक्स का सही उपयोग। #कॉपीराइट (copyright) को ध्यान में रखना। #रिसर्च (research) पर आधारित स्क्रिप्ट लेखन। #प्रभावशाली लेसन प्लान (lesson plane) बनाना। #इस्तेमाल होने वाले चित्र (photo) और ग्राफिक्स की सही एडिटिंग। #ऑडियो और वीडियो अच्छी क्वालिटी की होनी चाहिए नहीं तो डिस्टरबेंस होगा। #वीडियो एडिटिंग इसके अंतर्गत अनावश्यक बातें जो प्रस्तुति को खराब करती हैं, उन्हें काटकर अलग करना। #वीडियो और ऑडियो को सपोर्ट करने वाले चित्र और उदाहरण, रेखाचित्र आदि सही जगह पर वीडियो या ऑडियो पर सही तरीके से लगाना यानी एडिटिंग का एक हिस्सा है। #टीचर के ऑडियो और वीडियो को सपोर्ट करने वाले चित्र, उदाहरण, इनका  संयोजन 50: 50 के अनुपात में होना चा