पर्यावरण प्रदूषण अनुच्छेद | paragraph writing in hindi CBSE board

 अनुच्छेद लेखन 10th|  पर्यावरण प्रदूषण अनुच्छेद| paragraph writing in hindi CBSE board 

Anuchchhed lekhan  पर्यावरण प्रदूषण 

पर्यावरण का अर्थ होता है- धरती के चारों को प्रकृति का आवरण। जिसमें जैविक व अजैविक पदार्थ होते हैं।  प्रकृति का गलत तरीके से  दोहन करने से प्रकृति प्रदूषित होती है। इसे पर्यावरण प्रदूषण  कहते हैं।  इस धरती पर प्रकृति ने हमें शुद्ध वायु, शुद्ध जल के साथ ढेर सारे संसाधन  दिए हैं। इस प्रकृति में पेड़-पौधे, जीव-जंतु निवास करते हैं।  परंतु इंसान बिना सोचे समझे प्रकृति के हर चीजों का दोहन करता है जैसे, फैक्ट्रियों और वाहनों का निकलता हुआ काला धुआं वायु को प्रदूषित करता है। खेतों में यूरिया और सीवर लाइन का गंदा जल हमारे नदियों और धरती को प्रदूषित कर रही हैं। 

 इस कारण से धरती का वायु-चक्र, जल-चक्र और मौसम-चक्र  पर बुरा प्रभाव पड़ता है।  जिस कारण से वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण एवं मृदा प्रदूषण जैसी घटनाएं हमारे धरती पर देखने को मिलती है। इस कारण से तरह-तरह की बीमारियां और संक्रामक वायरस पैदा होती हैं जो मनुष्य के दुश्मन बन जाते हैं।

  जीव-जंतु पेड़-पौधे एवं नदियों -पहाड़ों पर  प्रदूषण का प्रभाव साफ दिखाई पड़ता है। जंगल काटने से जानवर मरने लगते हैं। जल प्रदूषित होने से जीव-जंतु मरते हैं और पेड़ काटने से पहाड़ की मिट्टी बह जाती है। प्रदूषण के कारण धरती का भौगोलिक स्थिति बदलती जा रही है पहाड़ टूट टूट कर मैदान बन गए हैं और मैदान मृदा प्रदूषण के कारण रेगिस्तान में बदल रहे हैं। इसलिए धरती के संसाधनों को सोच समझकर उपयोग करना चाहिए। हमें प्रदूषण के खिलाफ खड़ा होना चाहिए। हमें प्रदूषण को दूर करने के लिए सौर ऊर्जा और प्रकृति के संसाधनों का समझदारी से इस्तेमाल करना चाहिए। यदि हम आज प्रदूषण के बढ़ते भयानक प्रभाव से सचेत नहीं होते हैं तो आने वाले वक्त में धरती पर किसी भी तरह का कोई जीवन बच नहीं पाएगा। 

See also  CBSE Examination 2024 परीक्षा में शामिल होने से पहले जानिए नए बदलाव

अनुच्छेद लेखन Anuched lekhan के अंतर्गत उपरोक्त अनुच्छेद लेखन पर्यावरण प्रदूषण, पर्यावरण प्रदूषण से होने वाली हानियाँ’ विषय से संबंधित है। 

छात्रों अनुच्छेद सरल और कम शब्दों में एक ही पैराग्राफ में लिखा जाता है इसलिए ऊपर पर्यावरण प्रदूषण पर आधारित अनुच्छेद बिल्कुल सही फॉर्मेट पर है आप इसे पढ़े और इस तरह से बेहतरीन अनुच्छेद इस टॉपिक पर लिख सकते हैं। आपको बता दें कि CBSE बोर्ड की कक्षा cbse board 9, 10, 11, 12 में अनुच्छेद लेखन का यही फॉर्मेट है। आपको कुछ आधार बिंदु अनुच्छेद लेखन के लिए दे दिए जाएंगे उसी आधार पर इसी तरह अनुच्छेद लिखना है।

CBSE Class 10 Hindi B अनुच्छेद लेखन| Anuched Lekhan in hindi

hindi anuched lekhan. Paragraph writing hindi with example

 सन 2024 के हिंदी के परीक्षा CBSE बोर्ड और दूसरे राज्यों की बोर्ड की परीक्षा board Class 10 and class12  में अनुच्छेद लेखन 6 अंकों या उससे अधिक नंबर का पूछा जाता है। Anuched Lekhan in hindi  सीबीएसई बोर्ड में अनुच्छेद लेखन के बारे में अधिक जानकारी एक दिए इस लिंक पर जाकर पढ़ें।  पैराग्राफ राइटिंग इन हिंदी क्लास 10th सीबीएसई बोर्ड

  अनुच्छेद लेखन कम से कम शब्दों में और दिए गए आधार बिंदु के आधार पर लिखा जाता है इसलिए यहां पर कुछ अनुच्छेद

(Anuched Lekhan) हम दे रहे हैं जो आपकी परीक्षा Cbse bard and other board examination)  के लिए बहुत उपयोगी है।

 अनुच्छेद लेखन अनुच्छेद लेखन  करते समय ध्यान रखने वाली बात

  1. अनुच्छेद लिखते समय शब्द सीमा का ध्यान रखना चाहिए।  लगभग 100 से 120 शब्दों में अनुच्छेद लिखा जाता है।
  2. अनुच्छेद  विषय और सब हेडिंग के अनुसार लिखना चाहिए इधर-उधर की बात नहीं लिखी चाहिए। 
  3. अनुच्छेद में अपने शब्द इधर-उधर की बात लिख कर बर्बाद नहीं करना चाहिए क्योंकि अनुच्छेद के लिए शब्द सीमा होती है। 
  4. अनुच्छेद  के हर वाक्यों के मध्य निकटता और संबद्धता (Related) होनी चाहिए।
  5. भाषा प्रभावशाली और धाराप्रवाह होना चाहिए वाक्य छोटे छोटे हो तो बेहतर रहता है।
  6. यदि शब्द सीमा 5 से 10 शब्द अधिक हो जाए तो ठीक है लेकिन इससे अधिक शब्द नहीं होना चाहिए।
  7. अनुच्छेद लिखने हेतु दिए गए उप शीर्षक (Sub Heading) या आधार बिंदु को ध्यान में रखकर अनुच्छेद लिखना चाहिए।  यहां पर कुछ अनुच्छेद दे रहे हैं, जो आपकी परीक्षा के लिए बहुत ही उपयोगी है। cbse class 10 Anuched lekhan.
See also  CBSE 2023 बोर्ड परीक्षा की तैयारी के लिए लिखने की प्रैक्टिस कैसे करें | math, science, English, hindi, social subjects writing tips

Leave a Comment