Education Hindi Tips

How Teach your child moral values to kids, नैतिक मूल्य बच्चों को कैसे सिखाएं

नैतिक मूल्य बच्चों को कैसे सिखाएं
Written by Abhishek pandey

Bacho ko sekhay moral values शिक्षक व अभिभावक होने के नाते अपने छात्रों में नैतिक मूल्यों (Moral Values) सिखाएं। moral value in hindi नैतिक मूल्य कहा जाता है. Moral Value for kids in hindi information.

Table of Contents

How Teach your child moral values to kids

  • बच्चों को मोरल वैल्यू यानी नैतिक शिक्षा (Why is the important for moral value educations) किस तरह से दी जाए? कैसे हम बच्चों को बता सकते हैं कि क्या सही है? क्या गलत है? उनके जीवन के लिए।
  • नैतिक शिक्षा से जीवन अनुशासित होता है। इस आर्टिकल में आपको हम बच्चों को मोरल वैल्यूज की शिक्षा कैसे देनी चाहिए? इसके बारे में पूरी जानकारी हेडिंग वाइज दे रहे हैं जो आपके लिए बहुत उपयोगी है।
  • यदि आप शिक्षक हैं, अभिभावक हैं तो यह लेख आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकता है क्योंकि आप अपने बच्चों को मोरल वैल्यूज यानी नैतिक (moral value for kids) शिक्षा से जोड़ना चाहेंगे ताकि वह आगे बड़े होकर मान सम्मान से जीवन जी सके।

बच्चों Moral (मोरल वैल्यूज) क्यों सिखाना चाहिए?

Why should children be taught moral values? : आज एजुकेशन (Education) में केवल पढ़ना ही जरूरी नहीं है। बल्कि पढ़ाई के साथ बच्चे को मोरल वैल्यूज सीखाएँ ताकि उनका कैरेक्टर Character अच्छा बन सकें। पढ़ाई के साथ-साथ नैतिक मूल्य और चरित्र निर्माण ( Character) भी बच्चों में होना जरूरी है। अगर बच्चे नैतिक मूल्य को नहीं समझते हैं तो वह सभ्य नागरिक नहीं बन सकते हैं। इस लेख में नैतिक मूल्य moral value और चरित्र निर्माण कैसे किया जाए इससे संबंधित कुछ व्यवहारिक टिप्स (Practical tips) दिए गए हैं जिसे आप अपना सकते हैं।

मोरल वैल्यूज सीख के खुद उदाहरण केसे बने
Describe biographies of great men for moral values

आज के नये ज्ञान (new Gyan) में बच्चे को नैतिक मूल्य सिखाना जरूरी है। अच्छी बातें छात्रों में विकसित करें। दूसरों के प्रति दया की भावना विकसित करने के लिए टीचर या पेरेंट्स को खुद के उदाहरण के साथ ही व्यवहारिक जीवन के उदाहरण प्रस्तुत करना चाहिए।

 बच्चों को सिखाएं मोरल वैल्यूज महापुरुषों की जीवनी कैसे बताएं

महापुरुषों की जीवनी  उनके त्याग और समर्पण की भावना के बारे में बताएंगे ही नहीं बल्कि अनुभव भी कराएंगे इसलिए महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के किसी जीवन (life experience) के एक अनुभव पर छोटी सी लघु नाटिका (short Drama) कक्षा के  कलांश (Period) के दौरान बच्चों से तैयार करने के लिए कहेंगे। 

See also  Teaching idea Method शिक्षण युक्तियां | Nibandh Hindi Teaching method

बच्चे उस महापुरुष के व्यक्तित्व और उस समय उनके द्वारा किए गए कार्यों का अनुभव उस लघु नाटिका के रूप में अवश्य करेंगे और इस तरह से उन्हें प्रैक्टिकल ज्ञान प्राप्त होगा। (Practical knowledge)

डॉक्यूमेंट्री या फिल्म दिखाकर नैतिक मूल्य के लिए बच्चों को केसेप्रेरित करना
(Motivating children to moral value by showing a documentary or film)

 डॉक्यूमेंट्री और फिल्म एक सशक्त माध्यम होता है। देश की किसी ऐसी समस्या पर बनी फिल्म को दिखाकर, उस पर कक्षा चर्चा (class discussion) करना और उस समस्या पर समाधान निकालने के लिए प्रेरित (Motivation) करना।

भविष्य में आप एक वैज्ञानिक, एक डॉक्टर, एक टीचर, एक व्यवसाई बनकर उस समस्या का हल कैसे निकाल सकते हैं? इसके लिए उन्हें प्रेरित करना,  बच्चों में अंदर उत्तरदायित्व Responsibility का भार अभी से डालना था कि छात्र चिंतन- मनन (Contemplation) कर सके यह एक तरह का शिक्षण तरीका है। (Method of teaching.

बच्चों को मोरल वैल्यू कैसे सिखाएं घर पर

How to teach children moral values at home: दिखावे की संस्कृति से उन्हें दूर कैसे रखा जाए (Keep away to Consumerist culture) उपभोक्तावादी संस्कृति (counsumer calture) में बिना उपयोग किए चीजों को बेकार समझ लेना, फैशन के चक्कर में उपयोगी कपड़े को बेकार समझ लेना आज की युवा पीढ़ी को बाजारवाद बिगाड़ रही है।

लेकिन स्कूली शिक्षा उन्हें सही दिशा दिखा सकती है। ऐसी कहानियां सम्मिलित की जाएगी, जो हमारे समाज के सच का आइना हो, अपने संसाधनों  का सही उपयोग करना। बेवजह  के झूठे दिखावे से दूर रहना।

बच्चों को सिखाएं दूसरे की मदद करना Help to another

 बच्चों को सिखाएं कि दूसरे की मदद करना मदद इसलिए भी जरूरी है क्योंकि हमारी मदद भी बहुत लोग करते हैं इसलिए जरूरत पड़े तो दूसरे की हेल्प बिना स्वार्थ के करना यह बात भी बताई जाए।

moral value for kids बच्चों को मोरल वैल्यू सिखाएं इसके लिए कुछ उदाहरण हैं- Here are some examples of how to teach children moral values:

 बच्चों को मोरल वैल्यू सिखाएं इसके लिए कुछ उदाहरण दिया गया एक कहानी पेड़ के माध्यम से बताया गया है। वृक्ष के माध्यम से कि वह कुछ लेता नहीं लेकिन हमारी बहुत मदद करता है। 

 दूसरों की मदद करने में जो सुख और आनंद होता है, उसकी अनुभूति बच्चों को व्यवहारिक तौर पर कराना। इसके लिए उन्हें प्रेरित करना कि अपने  आसपास जरूरतमंद लोगों की मदद कैसे कर सकते हो।

सभी मानव जाति और सभी धर्म का सम्मान करना बच्चों को सिखाना कर्मों जरूरी?
To teach respect to all mankind and all religions

सर्वधर्म समभाव की अवधारणा बताना।  सभी धर्म का एकमात्र उद्देश्य मानव कल्याण इसलिए धार्मिक भेदभाव जैसी चीजों का कोई स्थान नहीं होना चाहिए।  सभी वर्ग, जाति और धर्म के लोगों का सम्मान करना सिखाना चाहिए।

बच्चों को सिखाएं की पढ़ाई के समय कौन सी बातें बताना जरूरी है

 Teach your child what they need to know while studying.सार्वजनिक भवन, (Preservation of national heritage like public buildings, historical buildings, park railways etc. is necessary.) ऐतिहासिक इमारतें, पार्क रेलवे इत्यादि राष्ट्रीय धरोहर का संरक्षण करना जरूरी है।  बच्चों को यह बात बताना कि यह संसाधन (Resources) सभी के उपयोग की है।

इन्हें हम नुकसान पहुंचा कर या  इसे गंदा कर के हम अपनी ही चीजों का नुकसान कर रहे हैं क्योंकि अगर  ये राष्ट्रीय धरोहर National heritage नष्ट हो गईं तो फिर दोबारा उस तरह से नहीं बन पाएंगी।

फिर आने वाली आपकी पढ़ी यानी कि आपके बच्चे (moral value for kids) इस ऐतिहासिक  धरोहर के माध्यम से कैसे इतिहास के गुजरे समय को समझ पाएंगे।

See also  MCQ Answer पाठ 'निराला' NIRALA बहुविकल्पी प्रश्न उत्साह और अट नहीं रही है, Hindi class 10 CBSE board

सार्वजनिक संसाधनों को गंदा या उसे नुकसान पहुंचाना अनैतिक होने के साथ-साथ  अपराध भी है।  हमें इन सब का संरक्षण करना चाहिए साफ सफाई का ध्यान रखना चाहिए। 


बच्चों को सिखाएं राष्ट्रीय एकता की बात बताना, कैसे हम एक होकर रह सकते हैं
How can we unite to talk about national unity.

moral value Ki Shiksha bacchon ko kaise den : बच्चों को सिखाएं की नेशनल इंटीग्रेशन यानी राष्ट्रीय एकता और बंधुता की भावना स्थापित करने के लिए शिक्षक को स्वयं भी इन भावनाओं का कद्र करना चाहिए। उनके व्यवहार में यह चीज सामने आना चाहिए।

संस्कृति के आधार पर भेदभाव नहीं करना चाहिए। खान-पान, रहन- सहन पहनावा के आधार पर अगर हम भेदभाव करने लगे तो इसका मतलब हम मानव होकर मानव का सम्मान नहीं करते हैं। बच्चों के मोरल वैल्यूज और अच्छे संस्कार के लिए आपको इन बातों को बताते रहना है। खुद में भी प्रैक्टिकल के तौर पर उनके लिए आदर्श भी बनना होगा।

Moral Value for Kids

जब हम किसी दूसरे संस्कृति के बनाए हुए अविष्कार को अपना सकते हैं तो उसकी संस्कृति का सम्मान क्यों नहीं कर  सकते हैं। कुछ तर्क है जो आप बच्चों को बता सकते हैं। मानव सेवा का भाव होगा तो मोरल वैल्यू जल्दी सीखेंगे। जरूरतमंदों की मदद का भाव या किसी दुखी व्यक्ति के प्रति करुणा की संवेदना बच्चों में आती ही है। इन सब बातों की मदद से उनके अंदर नैतिकता यानी मोरल वैल्यू की बातें बच्चे को सिखा सकती हैं।

मोरल वैल्यू इस तरह बताएं

  • इस तरह के विश्लेषणात्मक प्रश्नों के माध्यम से हम बच्चों में चिंतन- मनन की प्रवृत्ति को जाग्रत करते हैं (Through analytical questions, we awaken the tendency of thinking among children) और वह जब धीरे-धीरे बड़ा होता है तो सही फैसले स्वयं ही लेने लगता है।
  • जैसे जैसे आप इन बातों को सिखाते हैं तो बच्चा सच के मार्ग पर अग्रसर होने लगता है, जैसे बड़े होने पर महात्मा  गांधी ने सत्य के मार्ग को अपनाया (Mahatma Gandhi adopted the Lesson of truth)  हमारी शिक्षा की दिशा सही हो तो हर बालक  बड़ा होकर महान व्यक्तित्व बन सकता है। अरविंदो घोष के शिक्षा दर्शन में इन्हीं बातों का उल्लेख हुआ है।
  • अपने बच्चे के भविष्य को उज्ज्वल बना सकते हैं। आपका बच्चा नैतिक मूल्य ऊंचा उठेगा अखाड़ा बचपन से ही मोरल वैल्यू को समझेगा निश्चित ही उसका कैरेक्टर अच्छा होगा और फिर आपका बच्चा आपके जीवन का सहारा बनेगा।
  • वह कामयाब भी होगा तो भी आपके साथ होगा। यही मोरल वैल्यू एजुकेशन जरूरी है। इसके लिए स्कूल के साथ-साथ घर में भी आपको बेहतर माहौल अपने बच्चे को देना है।
  • moral value for kids सबसे बड़ी बात कि आप खुद ही उनके आदर्श बने निश्चित ही आपका बच्चा आप के नक्शे कदम पर चलेगा आपके बुढ़ापे का सहारा भी बनेगा।
  • अच्छी आदतें बच्चे को चरित्रवान और मूल्यवान बनाता है। बच्चों में यह ज्ञान व्यवहारिकता के उदाहरणों (प्रैक्टिकल एग्जांपल) के से ही दिया जा सकता है।
  • आज का इंसान अज्ञानता के दलदल में फंसते जा रहे हैं,  भले वह पढ़ा- लिखा हो लेकिन सच्चा ज्ञान अपनी आत्मबल से ही प्राप्त होता है और इसका मार्गदर्शक  गुरु यानी मेंटर होता है। लेकिन अगर सत्यता के आसमान को देखें तो पता चलता है कि सत्य (Truth) हासिल करना आसान है।
  • उसके लिए हमें विचारों को परिमार्जित करते रहना चाहिए। अपने बच्चे में बचपन से ही मोरल वैल्यू का बीज बोना है ताकि बड़ा होकर वह एक ऐसा पेड़ बने जो इस देश और समाज को के साथ आपके परिवार के मान सम्मान को बढ़ाता जाए।
See also  हिन्दी में ढपली Dhapli arth का क्या मतलब होता है?

FAQ

  1. बच्चों को नैतिक शिक्षा (moral value for kids) कैसे दें?

Answer: बच्चों को नैतिक शिक्षा कहानियां और कविताओं के माध्यम से देनी चाहिए, इसके अलावा खुद उदाहरण बनाकर बच्चों को अच्छे कार्य के लिए प्रेरित करना चाहिए।


2. छात्रों में नैतिक मूल्यों का विकास कैसे किया जा सकता है?

Answer- छात्रों में नैतिक मूल्यों का विकास करने के लिए दो मूलभूत तरीके हैं।

बच्चों के पाठ्यक्रम और पाठ पुस्तकों से मोरल वैल्यू की शिक्षा पढ़ते समय देना।

दूसरा खेल और दूसरे गतिविधियों के जरिए कम्युनिकेशन स्किल, बात करने का तरीका, व्यवहार करने का तरीका, नेतृत्व के गुण विकसित करना, टीम भावना का विकास करना यह सब गतिविधियों के द्वारा नैतिक शिक्षा छात्रों को स्कूल में आसानी से दी जा सकती है।


3. बच्चों में नैतिक मूल्यों का विकास कैसे करें?

बच्चों में नैतिक मूल्य का विकास घर से ही शुरू हो जाता है उन्हें अच्छी आदत सीखना खुद आदर्श बनाकर उनके सामने अच्छी आदत का विकास करना होता है।


4. आप छात्रों को नैतिक शिक्षा कैसे पढ़ाते हैं?

मैं छात्रों को नैतिक शिक्षा कहानी, कविता, केस स्टडी, पहेली और एक्टिविटी के माध्यम से सीखता हूं।

असल में मोरल वैल्यू सीखने की चीज नहीं होती है बल्कि इसे अपने आदत में लाने की बात होती है, इसलिए स्कूल की पढ़ाई और दूसरी गतिविधियों के द्वारा आदर्श वातावरण का निर्माण करते हैं, जिससे बच्चा अपने आप ही मोरल वैल्यू पर ध्यान देने लगता है। इसका प्रभाव उसके व्यक्तित्व पर पड़ता है और किताबों की मोरल वैल्यू की बातें भी उसे समझ में आने लगती है।


5. बच्चों के लिए नैतिक मूल्य क्या है?

Answer: Moral value for kids : एक आदर्श इंसान बनने के लिए नैतिक मूल्यों को अपनाना जरूरी होता है। बच्चा ही आगे चलकर एक जागरूक नागरिक बनता है इसलिए उसके लिए नैतिक मूल वही है जो एक नागरिक के लिए होता है।

moral value for kids बच्चों के लिए और दूसरों के लिए नैतिक मूल निम्नलिखित है-

  • मनुष्य का सम्मान करना।
  • हमेशा सच बोलना।
  • अपने प्रकृति के संसाधनों का समझदारी से इस्तेमाल करना, पर्यावरण की रक्षा करना पेड़-पौधे लगाना।
  • आपने पढ़ाई में मन लगाना।
  • पेड़ पौधे और जानवरों को नुकसान नहीं पहुंचाना।
  • गुरु माता-पिता और समाज के दूसरे लोगों की सम्मान करना।
  • स्कूल, समाज और इसके साथ घर में अच्छा व्यवहार सबके साथ करना।
  • झूठ और लालच से दूर रहना।
  • हमेशा सकारात्मक सोच रखना।
  • किसी को परेशान नहीं करना।
  • अपने राष्ट्र से प्रेम करना।
  • समय पर भोजन करना।
  • किसी से लड़ाई झगड़ा नहीं करना।
  • टीम भावना के साथ लोगों से कार्य करना।
  • किसी का दिल नहीं दुखाना।
  • अपने दोस्तों और जरूरतमंद लोगों की मदद करना।

यहां कुछ बातें दी गई है जो बच्चों के लिए नैतिक शिक्षा है। इसके अलावा ढेर सारी और बातें हैं जिसे बच्चा धीरे-धीरे बड़े होकर सीखता रहता और वह एक आदर्श नागरिक बनता है।


6. स्कूल में नैतिक शिक्षा क्या है?

स्कूल में नैतिक शिक्षा वही है जो परिवार और समाज में नैतिक शिक्षा दी जाती है। यदि स्कूल में नैतिक शिक्षा विषय की बात करें तो यह पाठ्यक्रम है जिससे बच्चों को अच्छी आदत सिखाई जाती ताकि वह बड़ा होकर आदर्श नागरिक बन सके और देश के कानून का पालन करें नैतिक मूल्य को अपनाकर अपने जीवन को सुंदर बना सके।


7. स्कूलों में नैतिकता क्यों सिखाई जानी चाहिए?

स्कूल पढ़ाई के साथ नैतिक मूल्य भी सीखना है। एक छात्र पढ़ाई के साथ अच्छी आदतें सिखाता है तो वह एक अच्छा इंसान बनता है इसलिए नैतिक मूल स्कूलों में सिखाई जाती है। पूरी दुनिया के शिक्षा नीति में नैतिक मूल्यों को बहुत महत्व दिया जाता है।


8. एक शिक्षक में क्या क्या नैतिक मूल्य होना चाहिए?

एक शिक्षक आदर्श नागरिक होता है जो आदर्श नागरिक के नैतिक मूल्य होते हैं, वही एक शिक्षक का नैतिक मूल भी होता है।

बच्चों को बिना भेदभाव से शिक्षा देना। अपने कार्य के प्रति सजग रहना। बच्चों को पढ़ाना और उनका मार्गदर्शन करना। बच्चों को एक आदर्श नागरिक बनाना ताकि देश एक सशक्त राष्ट्र बन सके। ‌

About the author

Abhishek pandey

Author Abhishek Pandey, (Journalist and educator) 15 year experience in writing field.
newgyan.com Blog include Career, Education, technology Hindi- English language, writing tips, new knowledge information.

Leave a Comment

हिंदी में बेस्ट करियर ऑप्शन, टिप्स CBSE Board Exam tips 2024 एग्जाम की तैयारी कैसे करें, मिलेगा 99% अंक