Education general knowledge Hindi

{खुशी दिवस} प्रसन्नता दिवस क्यों मनाया जाता है कब है? INTERNATIONAL DAY OF HAPPINESS 2022

 {खुशी दिवस} प्रसन्नता दिवस क्यों मनाया जाता है, कब है?  INTERNATIONAL DAY OF HAPPINESS 2022

newgyan, Educational Knowledge INTERNATIONAL DAY OF HAPPINESS 2022: 

HAPPINESS  day 2022 in hindi

भारतीय संस्कृति हमेशा शिक्षा देती रही है कि हमें खुशी से जीवन बिताना चाहिए आनंद से रहना चाहिए। हर इंसान का कर्तव्य है कि स्वयं में खुशियां देनी चाहिए और ऐसी गतिविधियों में लोग जुड़े रहते हैं जिसमें छोटी-छोटी खुशियों का एहसास करते हैं। पूरी दुनिया ने भी माना है कि खुशी ही जीवन है। धन दौलत के अलावा सबसे बड़ी पूंजी खुश रहना भी होता है। दुनिया के लोग खुशी दिवस मनाकर खुश रहने की सीख दे रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय खुशी दिवस या इसे अंतरराष्ट्रीय आनंद दिवस क्या है,आइए जाने इसके बारे में-

आनंद खुशी का संबंध जीवन में शांति से होता है। अगर शांत वातावरण है तो खुशियां और भी बढ़ जाती है। इस समय पूरी दुनिया में रूस और यूक्रेन के बीच में हो रहे युद्ध के कारण दुनिया चिंता में है कि आगे क्या होगा लेकिन हमें हमेशा पॉजिटिव सोचना चाहिए और इस दुनिया की तरक्की के लिए आगे आना चाहिए और युद्ध की निंदा की जानी चाहिए। अंतरराष्ट्रीय हैप्पीनेस डे 2022: (Happy Happiness day 2022) के बारे में बताने जा रहे इसके इतिहास के बारे में बताने जा रहे हैं पूरा आर्टिकल न्यू ज्ञान डॉट कॉम वेबसाइट में आप पढ़ रहे हैं। हमारे और भी आर्टिकल इस तरह के पढ़ने के लिए नए ज्ञान से जुड़ने के लिए इस वेबसाइट को सब्सक्राइब करें ।

 इंटरनेशनल हैप्पीनेस डे कब मनाया जाता है?

दुनिया भर में 20 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय खुशी दिवस मनाया जाता है जिसे अंग्रेजी में इंटरनेशनल हैप्पीनेस डे कहा जाता है. खुशी का मतलब होता है, आनंद और जिंदादिली। संयुक्त राष्ट्र संघ ने हैप्पीनेस डे 2013 को मनाना शुरू किया था। आपको बता दें कि हैप्पीनेस डे मनाने का संकल्प 12 जुलाई 2012 को संयुक्त राष्ट्र संघ पारित किया गया था. भूटान देश ने हैप्पीनेस डे मनाने की शुरुआत के लिए इस पर अपनी  बातें यूएनओ में उठाई थी. 

अंतर्राष्ट्रीय खुशी दिवस (INTERNATIONAL DAY OF HAPPINESS) इतिहास और महत्व

अंतर्राष्ट्रीय खुशी दिवस यानी अंतरराष्ट्रीय हैप्पीनेस डे मनाने कि शुरुआत भूटान से शुरू हुई थी। बात यह है कि 1970 के दशक में भूटान में राष्ट्रीय आय यानी जीडीपी पर राष्ट्रीय खुशी के मूल्य को भी प्राथमिकता दी थी। जानकारी है कि भूटान को 66वीं महासभा में सकल राष्ट्रीय उत्पाद  (GDP) पर सकल राष्ट्रीय खुशी के लक्ष्य को अपनाने के लिए जाना जाता है।

आर्थिक गतिविधियों में पैसे की बात होती लेकिन भूटान ने अपने लक्ष्य में खुशी और भलाई को भी एक आर्थिक प्रतिमान के रूप में परिभाषित किया था।  आपको बता दें कि संयुक्त राष्ट्र संघ ने 2015 में 17 सतत विकास लक्ष्यों को लांच किया था जिसमें गरीबी को समाप्त करना आता मानता को कम करना जैसे लक्ष्य शामिल थे.  इसके अलावा जिस प्लेनेट में यानी हम धरती में रहते हैं उसकी सुरक्षा और रक्षा के लिए भी संयुक्त  राष्ट्रीय इसकी जिम्मेदारी भी ली थी। 

जीवन में (INTERNATIONAL DAY OF HAPPINESS 2022) खुशी क्यों जरूरी है?

जिस दिन हम अपने जीवन में खुशी के महत्व को समझ जाएंगे। तब इंसान और दयालु हो जाएगा और दूसरों की मदद करने और उनकी खुशियों का ख्याल रखने वाला होगा.  आज इंसान रुपए पैसे को ज्यादा महत्व देता है लेकिन सबसे बड़ी आर्थिक उपलब्धि वह होती है कि आपके पास  जीवन में कितना आनंद है और आनंद को आप कैसे जीते हैं। इंटरनेशनल हैप्पीनेस डे इसीलिए मनाया जाता है कि हम अपनी खुशियों को जाहिर कर सके और एक इंसान होने के नाते खुश रहना सीखें। गरीबी, शोषण-अत्याचार के विरुद्ध हमारी आवाज उठनी चाहिए और सभी की खुशियों, प्रसन्नता और सुख का ख्याल हमें रखना चाहिए। 

अंतर्राष्ट्रीय खुशी दिवस 2022: थीम

हैप्पीनेस डे 2022 की थीम है, शांत रहो, समझदार रहो और दयालु रहो। हर संभव स्थिति में शांत और शांत रहना ही खुशी और संतुष्टि की कुंजी (key) है। कठिन परिस्थितियों में भी बुद्धिमान बने रहने से ही समझदारी भरे कदम और सफलता मिलती है। दूसरों की जरूरतों, गलतियों और त्रुटियों के प्रति दयालु होने से उन्हें बढ़ने में मदद मिलेगी और उन्हें बेहतर महसूस होगा। {खुशी दिवस} प्रसन्नता दिवस  INTERNATIONAL DAY OF HAPPINESS 2022 मनाया जाता है। 



Read more 


बुद्ध पूर्णिमा पर मैसेज शुभकामना संदेश


नए एजुकेशन कोटेशन हिंदी में पढ़ें

World Red Cross Day 2022, Whatsup status Subhkamna Sandesh in hindi, download

15 मई विश्व परिवार दिवस पर स्लोगन कविता शेरो शायरी भेजने के लिए कॉपी पेस्ट करें

International high blood pressure Day 17 Mai 2022 slogan WhatsApp message



About the author

admin

Hello friends!
New Gyan tells the words of knowledge with educational and informative content in Hindi & English languages. new gyan website tells you new knowledge. This is an emerging Hindi & English website in the Internet world. Educational, knowledge, information etc. new knowledge, new update, new method in a very simple and easy way.
Founder of Blog Founder of New gyan.

A. K Pandey - Teacher, Writer - Journalist, Blog Writer, Hindi Subject - Expert with more than 15 years of experience. Articles on various topics have been published in various magazines and on the Internet.
Educational Qualification- Master of Art. Professional Qualification-
Diploma in Journalism from Allahabad University, Master of Journalism and Mass Communication, B.Ed.

Leave a Comment