लाल बहादुर शास्त्री जयंती 2 अक्टूबर. Lal Bahadur Shastri Jayanti

लाल बहादुर शास्त्री जयंती 2 अक्टूबर 



  Lal Bahadur Shastri Jayanti :  2 अक्टूबर (October) का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस दिन भारत के 2 महान विभूति का जन्म हुआ। अहिंसा और सादगी  का ज्ञान देने वाले महात्मा गांधी mahatma gandhi का जन्म 2 अक्टूबर सन 1869 को हुआ था।  2 अक्टूबर, 1904 को  निडर और सादगी पसंद व्यक्तित्व लाल बहादुर शास्त्री lal bahadur shastri का जन्म हुआ था। इसलिए 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री  की जयंती मनाई जाती है।

 भारत के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री (Lal Bahadur Shastri) स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। लाल बहादुर शास्त्री ने ‘जय जवान, जय किसान’ का नारा दिया था। उनका यह नारा भारत के विकास में उत्साह का काम किया।

शास्त्री जी का ईमानदार व्यक्तित्व


सादगी, ईमानदार व निडरता के व्यक्तित्व के धनी लाल बहादुर शास्त्री Lal Bahadur shastri के विचारों से  विदेशी लोग भी प्रभावित हैं।  
शास्त्री जी हमेशा गरीबों की मदद के लिए आगे  रहते थे।  बचपन में उन्होंने बहुत ही कठिनाई से पढ़ाई की। नदी के पार विद्यालय था। नाव से नदी पार करने के लिए उनके पास पैसे नहीं थे। वे तैरकर नदी पार करके विद्यालय जाते थे। वह किसी से मदद लेना नहीं चाहते थे। अपने छोटे संसाधनों में भी खुश रहते थे।  उनका व्यक्तित्व हमारे लिए आदर्श है। 
आज के इस भागमभाग युग में जहां लोग महंगे कपड़े और महंगी चीजों के प्रति प्रेम दिखाते हैं ऐसे में लाल बहादुर शास्त्री के व्यक्तित्व से सीख लेनी चाहिए।  सहजता, सरलता, निडरता उनके व्यक्तित्व की पहचान है।

लाल बहादुर शास्त्री जी के विचार-



 की अपनी एक गरिमा है और हर कार्य को अपनी पूरी क्षमता से करने में ही संतोष प्राप्त होता है। 


देश के प्रति निष्ठा  सभी निष्ठाओं से पहले आती है और यह पूर्णनिष्ठाा है क्यों कि इसमें कोई प्रतीक्षा नहीं कर सकता कि बदले में उसे क्या  मिलता है।

देश की तरक्की के लिए हमें आपस में लड़ने के बजाय गरीबी, बीमारी और अज्ञानता से लड़ना होगा। 


Lal Bahadur Shastri Birthday 
Shastri Jayanti
 
Lal Bahadur Shastri Birthday
 
2 October Gandhi Jayanti
 
Lal Bahadur Shastri Jai Jawan Jai Kisan
  

Read also

See also  UP Board Pariksha ki taiyari कक्षा 10 के सभी विषयों की तैयारी के टिप्स

भारतीय आजादी के गुमनाम स्वतंत्रता सेनानी

कौन है प्रथम हिंदी विज्ञान साहित्य के लेखक जानिए

हमें हिंदी साहित्य क्यों पढ़ना चाहिए?

Leave a Comment