CBSE Board Class 10 Hindi MCQ

Anuched Lekhan Paragraph Writing CBSE Class 9 and 10 new pattern

Table of Contents

Anuched Lekhan Paragraph Writing CBSE Class 9 and 10 new pattern

Paragraph Writing Definition, Tips, Examples, अनुच्छेद-लेखन की परिभाषा 

Paragraph Writing (अनुच्छेद-लेखन) – All Board Examination, CBSE, UP, MP etc. Board class 9 to 10 asking in the examination. Anuched lekhan ke udharan update 2022-23


CBSE board, UP board, MP Board  के अलावा  नौकरी की कई परीक्षाओं में भी अनुच्छेद-लेखन Paragraph Writing पर क्वेश्चन पूछा जाता हैअनुच्छेद-लेखन किसे कहते हैं? एक अच्छा अनुच्छेद लिखने के समय  कौन-कौन सी बातों का ख्याल रखना चाहिए?  एक अच्छे अनुच्छेद की कौन-कौन-सी विशेषताएं होती हैं? अनुच्छेद-लेखन होता क्या है? अनुच्छेद लिखते समय किन-किन  तथ्यों का का ध्यान रखना चाहिए?  इन सबके बारे में इस लेख में बताने वाले हैं, ध्यान से समझिए। 

According to new syllabus of cbse board Hindi Class 10 and 9 asking paragraph writing based questions.


 अनुच्छेद-लेखन की परिभाषा – Definition of

Paragraph writing in hindi


  जब हम बातें करते समय भाव या विचार को संप्रेषित (Communication) करने के लिए छोटे-छोटे वाक्यों  के समूह में  किसी विषय पर विचार या भाव से संबंधित बात को संक्षिप्त रूप में लिखते हैं, उसे ‘अनुच्छेद-लेखन’ कहते हैं।


सरल तरके से कहे तो जब हम किसी घटना या दृश्य या किसी विषय पर कम शब्दों में अपनी बात को लिखते हैं तो इसे ‘अनुच्छेद- लेखन’ कहते हैं।

 

 अनुच्छेद लेखन की शब्द सीमा

CBSE Board Class 10 and 9 in hindi paper asking Anuched Lekhan question in 80-100 words.


आप जानते ​हैं। अनुच्छेद निबंध का छोटा रूप होता है। अनुच्छेद को अंग्रेजी भाषा में पैराग्राफ कहते हैं। अनुच्छेद लेखन (पैराग्राफ राइटिंग) कम शब्दों में लिखा जात है, अनुच्छेद लेखन में किसी विषय के किसी एक बात के बारे में 100 से 120 शब्दों में विचार व्यक्त किए जाते हैं। जैसे कोरोना महामारी और हम, इस विषय के इसी पक्ष के बारे में लिखा जाएगा। इस टॉपिक से संबंधित बात ही कम से कम शब्दों में कहीं जाएगी।
CBSE board के कक्षा 9 और 10 में अनुच्छेद लेखन पर पांच 5 नंबर के क्यूश्चन पूछे जाते है। स्टेट लेवल बोर्ड की परीक्षा में भी अब अनुच्छेद लेखन पर प्रश्न पूछा जाता है।
सीबीएसइ बोर्ड के 9 और 10 में अनुच्छेद लेखन की शब्द सीमा 80 से 100 शब्द सैंपल पेपर में दिया है।


अनुच्छेद लेखन परीक्षाओं में क्यों पूछा जाता है?


कम से कम शब्दों में किसी विषय के एक पक्ष पर विद्यार्थियों की अभिव्यक्ति के स्तर को जांचने के लिए अनुच्छेद- लेखन पर आधारित प्रश्न पूछा जाता है। अनुच्छेद- लेखन के माध्यम से छात्रों में उनके  भाषा पर पकड़, सोचने और रचनात्मकता  की क्षमता की परख को भी जाना जाता है।


 अनुच्छेद लेखन में विचार महत्वपूर्ण है Thinking is very important in Paragraph writing

हर अनुच्छेद Paragraph अपने आप में अधूरा incomplete नहीं होता है। जो बात कहते हैं, उन्हीं कम शब्दों में पूरी बात होती है। छात्राों अनुच्छेद Patagraph में विचार thinking एक ही विषय पर फोकस होता है। इसमें मुख्य विचार या भाव मेन आइडिया (Main Idea) अनुच्छेद के शुरुआती पैराग्राफ से शुरू हो जाती है या तो यह अंतिम में आता है। लेकिन अच्छा अनुच्छेद वही होता है, जहां मुख्य विचार अन्तिम में लिखा जाता है।

 

अनुच्छेद लिखते समय सावधानियां-

अनुच्छेद लिखते समय सावधानिया रखें। सर्वश्रेष्ठ अनुच्छेद लिखने के लिए दिए जा रहे नियमों को याद रखिए। अनुच्छेद लिखते समय गलतियां होती हैं तब आपका अनुच्छेद प्रभावशाली नहीं होगा। इसी कारण से अनच्छेद लेखन के अंक कट जाते है।  
  तो अनुच्छेद लेखन में निम्नलिखित बातों का ध्यान रखिए-

 सीबीएसइ बोर्ड की 9 व 10 की बोर्ड परीक्षा में आपको संकेत बिंदु भी दे दिया जाता है। 80 से 100 शब्दों में अनुच्छेद इन्हीं संकेत बिंदुओं पर लिखा जाता है। आप इन संकेत बिंदुओं के आधार पर ही अनुच्छेद लिखें। इसे नजर अंदाज न करें। नहीं तो आप अनुच्छेद अच्छा नहीं लिख सकेंगे। इन संकेत बिंदु के आधार पर ही अनुच्छेद लिखना चाहिए।

यदि अनुच्छेद लिखने के लिए संकेत बिंदु नहीं दिया गया है तब अनुच्छेद लेखन के विषय को ध्यान में रखकर उसका एक खाका यानी रूपरेखा बनाकर लिखना चाहिए।

(2) अनुच्छेद में शब्द सीमा  निर्धारित होती है। प्रश्न में अनुच्छेद की शब्द सीमा के बारे में पहले से लिखा होता है। उतने शब्दों में ​ही लिखना चाहिए। सीबीएसई बोर्ड में 80 से 100 शब्दों में अनुच्छेद लिखने के लिए आता है। में आप विषय से अलग या उस विषय के कई पक्ष लिखने की कोशिश करेंगे तो अनुच्छेद बड़ा हो जाएगा। परीक्षा में विषय से हटकर अनावश्यक बातें न लिखें।

(3) अनुच्छेद की भाषा सरल, स्पष्ट और अभिव्यक्ति प्रभावशाली होनी चाहिए। ताकि पढ़नेवाला आपके अनुच्छेद लेखन से प्रभावित हो सके।

(4) अनुच्छेद लिखते समय दोहराव से बचें। बार-बार एक ही बात को दोहराते हैं तो सीमित शब्दों में लिखे जाने वाले अनुच्छेद प्रभावशाली नहीं रहते हैं। बार-बार वही बात दोहराने से अनुच्छेद प्रभाशाली नहीं होता है। पढ़ने वाले की रुचि खत्म हो जाती है।

(5) अनुच्छेद छोटा होता है। इसलिए ध्यान दें कि अनावश्यक शब्द न लिखें। शब्दसीमा और विषय के शीर्षक को ध्यान में रखते हुए अपने अनुच्छे को लिखें।

(6)  अनुच्छेद में हर वाक्य के बाद आने वाला दूसरा वाक्य पहले वाक्य के बातों को स्पष्ट करेनवाला हो और उससे सबंधित फिर एक नया वाक्य हो इस नियम का पालन जरूर करना चाहिए। कहने का अर्थ है कि बात को स्पष्ट करनेवाला वाक्य जहां आवश्यक हो होना चाहिए। इस तरह लिखने से आपके अनुच्छेद में एकरूपता बनी रहती है।

(7) अनुच्छेद के विषय से संबंधित किसी कविता की पंक्तियां या मुहावरे जो अनुच्छेद को और प्रभावशाली बना देता है। अनुच्छेद में आपके विचार भी प्रभावशाली तरीके से पाठक को समझ आएगा। इसलिए मुहावरे, दोहा, कविता की कुछ पंकितयां देश की एकता, पर्यावरण संरक्षण, संस्कृति इत्यादि पर याद कर लेना चाहिए।

(8)  अनुच्छेद का विषय निष्कर्ष के रूप में समझ में आ जाए इसलिए अनुच्छेद के अंत की   एक-दो पंक्तियों में अनुच्छेद का निष्कर्ष अवश्य लिखना चाहिए।

 अनुच्छेद की विशेषताएं क्या क्या है?


 1 प्रभावशाली अनुच्छेद में एक स्थान पर एक विचार या भाव को व्यक्त करना चहिए। एक वाक्य में कई विचार नहीं होते हैं। एक वाक्य में एक बात कहें। अगली पंक्ति में दूसरी बात कहें और वाक्यों को लिंक करें।

(4) अनुच्छेद स्वयं में स्वतन्त्र और पूर्ण रचना होती है। इसमें कोई भी वाक्य अनावश्यक (फालतू) नहीं होता।

(5)अनुच्छेद में विचारों की एक के बाद एक कड़ी होती है। यानी विचारों को एक क्रम में रखा जाता है। पहले शुरुआत, फिर उसके बाद बीच का भाग और अंत में निष्कर्ष वाले वाक्य होना चाहिए। पाठक तक विचार आसानी से पहुंचाता है।

(7) हिंदी- भाषा में अनुच्छेद की भाषा सरल और स्पष्ट होनी चाहिए।  इसमें हिंदी में स्वीकार किए गए अंग्रेजी शब्द, जैसे- स्कूल, कॉलेज का भी प्रयोग किया जा सकता है लेकिन हिंदी के अर्थ वाले अंग्रेजी के शब्द प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए।

अनुच्छेद और निबंध में क्या अंतर है


  अनुच्छेद और निबंध लेखन में अंतर समझ लेंगे तो अच्छा अनुच्छेद लिख पाएंगे इसलिए यहां पर इन दोनों के बीच दिए गए अंतर को बताया गया है –

निबंध में भूमिका और उपसंहार विस्तार से लिखा जाता है परंतु अनुच्छेद छोटा होता है इसलिए इसमें लेखक बिना भूमिका के तुरंत विषय आरंभ कर देता है।

 निबंध में मूल विचार को कई तरीके से विस्तार देकर लिखा जाता है जबकि अनुच्छेद- लेखन में इसी विषय के किसी एक पक्ष के बारे में लिखा जाता है इसलिए विशेष से भटकाव नहीं होना चाहिए। अनुच्छेद में लेखक मूल विषय से जुड़ा रहता है और संक्षेप में अपनी बात अनुच्छेद में प्रस्तुत करता है।

Anuchek lekhan ke udharan in hindi

निम्नलिखत​ में से किसी एक विषय पर आधार बिंदुओं के आधार पर 80 से 100 शब्दों का एक अनुच्छेद लिखिए:—

विषय— हिन्दी राष्ट्रभाषा या राजभाषा? या भारत में हिन्दी की वर्तमान स्थिति

संकेत बिंदु
हिन्दी की वर्तमान स्थिति
राजभाषा के रूप में स्वीकृति।
निष्कर्स
 

 ‘निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल। बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।।’- हमारी भाषा ही हमारी पहचान है, अपनी भाषा के ज्ञान से ही हमारे जीवन की अज्ञानता दूर होती है। इसका स्थान कोई विदेशी भाषा नहीं ले सकती है। इसलिए संपूर्ण भारत को एकता के सूत्र में हिन्दी भाषा ही जोड़ती है। परन्तु हिन्दी भाषा को आज हाशिए पर रखा जा रहा है। महात्मा गाँधी ने हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाए जाने का समर्थन किया था। उन्होंने हिन्दी को जनमानस की भाषा कहा था। तकनीक, चिकित्सा, विधि इत्यादि के क्षेत्रों में हिन्दी भाषा को नज़रअंदाज किया गया। आज भी अंग्रेजी का वर्चस्व है। हिन्दी को ​अधिकारिक रूप से भारत की राष्ट्रभाषा होने का गौरव मिलना चाहिए। परंतु राजनीति, क्षेत्रीयता और सांप्रदायिकता के विवादों के कारण हिन्दी को राष्ट्रभाषा के रूप में स्वीकृ​त नहीं किया गया। 14 सितंबर, 1949 को संविधान सभा ने हिन्दी को राजभाषा के रूप में ही स्वीकृत किया। प्रतिवर्ष 14 को सितंबर को हिन्दी—दिवस के रूप में मनाया जाता है। देशहित सर्वोपरि है इसलिए हमें एकता ​के सूत्र में बाँधने वाली भाषा हिन्दी को ज्ञान, विज्ञान एवं तकनीकी विषयों में समृद्ध बनाना चाहिए। हिन्दी भाषा का अधिक से अधिक प्रयोग करना चाहिए। इसे गौरवपूर्ण स्थान दिलाने के लिए हमें वचनबद्ध होना चाहिए। —————————————————–

समय का सदुपयोग | समय का महत्व समय की आवश्यकता| समय की जरूरत samay ka mahatva Anuched 2022


सीबीएससी बोर्ड CBSE BOard Anuched Lekhan samay ka sadupyog अनुच्छेद क्लास 10th and 9th class समय का सदुपयोग 2022 Term 2


संकेत बिंदु के आधार पर समय का सदुपयोग शीर्षक पर 100 से 150 शब्दों में एक अनुच्छेद लिखिए

———————————————————————

  • समय का महत्व/ समय का सदुपयोग
  • समय पालन की आवश्यकता
  • समय के साथ चलना

——————————————————————

“काल करे सो आज कर, आज करे सो अब। पल में प्रलय होएगी, बहुरि करेगा कब॥” समय के महत्व को बताता यह कबीर का दोहा है,  जिसने अपना लिया उसका जीवन बदल जाता है।  जो व्यक्ति समय की कद्र करता है, वह जीवन में आगे बढ़ता है। जिसने  समय को नजरअंदाज किया उसे समय ठोकर मार देता है। जितने भी महापुरुष हुए हैं उन्होंने समय के साथचल कर ही सफलता अर्जित की है। समय के पालन की आवश्यकता हर मनुष्य के जीवन में आवश्यक है। छात्र जीवन में समय का पालन करने वाला सामाजिक और व्यावसायिक दोनों जीवन में सफल होता है। आज पल पल में समय बदल रहा क्योंकि आज तकनीक और कम्प्यूटर का युग है, ऐसे में समय के साथ चलना आवश्यक है। जो समय के साथ स्वयं को नहीं बदलते उनका अस्तित्व समाप्त हो जाता है। वर्तमान में हमें सजग होकर समय के साथ चलना चाहिए। अपने लक्ष्य को पाने के लिए समय का पालन जरूरी है।

———————————————————————————————————————– 

anuchchhed lekhan udaharan sahit,  अनुच्छेद कैसे लिखें


Paragraph Writing Definition, Tips, Examples, अनुच्छेद-लेखन की परिभाषा 

Paragraph Writing (अनुच्छेद-लेखन) – All Board Examination, CBSE, UP, MP etc. Board class 9 to 10 asking in the examination.


Copy right


अनुच्छेद लेखन की प्रैक्टिस के लिए नीचे दिए गए कई आर्टिकल आप के लिए उपयोगी हो सकते हैं इन्हें भी पढ़ें-


Read also

अनुच्छेद लेखन CBSE Board Class 9

अनुच्छेद लेखन paragraph writing in hindi पूरी जानकारी

क्षितिज भाग 2 कक्षा 10 में चलने वाली किताब सीबीएसई बोर्ड हिंदी पाठ्यक्रम के सभी एमसीक्यू पढ़ें जो आपकी परीक्षा के लिए इंपोर्टेंट है.

संदेश लेखन massege writing में आपको दिक्कत हो रही है तो इस पर क्लिक करें और जानें सबसे सरल ढंग से संदेश लेखन हाईस्कूल की बोर्ड परीक्षाओं के लिए बहुत उपयोगी.

भारतीय आजादी के गुमनाम स्वतंत्रता सेनानी

कौन है प्रथम हिंदी विज्ञान साहित्य के लेखक जानिए

हमें हिंदी साहित्य क्यों पढ़ना चाहिए?

 

About the author

admin

A. K Pandey,
Teacher, Writer, Journalist, Blog Writer, Hindi Subject - Expert with more than 15 years of experience. Articles on various topics have been published in various magazines and on the Internet.
Educational Qualification- MA (Hindi)
Professional Qualification-
Diploma in Journalism from Allahabad University, Master of Journalism and Mass Communication, B.Ed., CTET

3 Comments

Leave a Comment