Medical Career 2023: मेडिकल में करियर, पूरी जानकारी

0

करियर को लेकर परेशान है तो medical field में career बना कर आप अपने सपने पूरे कर सकते हैं। इस पोस्ट में हम Career in Medicine के बारे में बताने जा रहे हैं। यदि आप class 10th के छात्र है या 12वीं के आपको यह आर्टिकल जरूर पढ़ना चाहिए। medical career के बारे में संपूर्ण ज्ञान यहां पर हम प्रस्तुत कर रहे हैं। हमारे साथ आर्टिकल में बने रहे।

Career in medical 2023

छात्र मेडिकल में कैरियर बनाना चाहते हैं तो यहां पर हम आपको विशेष सरल तरीके से जानकारी दे रहे हैं। कैरियर इन मेडिकल में किस तरह से कैरियर बनाएं Get complete information about how to make a career in medical in Hindi. पूरी जानकारी आपको यहां दी जा रही है।

medical career 2023: डॉक्टरी करने के लिए सबसे लोकप्रिय डिग्री MBBS की होती है। allopathy चिकित्सा सेवा में एमबीबीएस की डिग्री बहुत ही महत्वपूर्ण होती है। इसके बाद हायर डिग्री MD होती है। मेडिकल में रिसर्च और पीएचडी की डिग्री भी होती है। जो सबसे बड़ी डिग्री होती है।

12वीं के छात्र को एमबीबीएस की डिग्री के लिए अपना लक्ष्य बनाना चाहिए। छात्रों आपको बता दें कि एलोपैथी के अलावा homeopathy and ayurvedic चिकित्सा पद्धति में भी आप बैचलर की डिग्री करके डॉक्टर बन सकते हैं।
होम्योपैथिक की बैचलर डिग्री को BHMS कहते हैं जबकि आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति की डिग्री को BAMS कहते हैं।

Doctors on demand

इंडिया में medical career 2023 science field में डॉक्टरों की बहुत डिमांड है। डॉक्टरी करने के लिए आपको MBBS की डिग्री हासिल करनी होगी। MBBS की Undergraduate Degree को आप अपना लक्ष्य बनाए। Undergraduate Course MBBS.
जैसे आपकी MBBS डिग्री कंप्लीट हो जाएगी तो उसके बाद आपको डॉक्टर के रूप में प्रेक्टिस कर सकते हैं।
ध्यान देने वाली बात यह है कि diagnosis करने की महारत हासिल करने के लिए मेहनत करनी पड़ती है। अच्छे संस्थान से degree करने के बाद आप डॉक्टरी की प्रैक्टिस करके अपने को और बेहतर बना सकते हैं। डॉक्टर की डिग्री के बाद आप government sector और private sector दोनों संस्थान में किसी एक में काम कर सकते हैं, मान सम्मान, पैसा यहां बहुत मिलता है।
एक डॉक्टर को प्रैक्टिस करते समय रोगी के रोग का इलाज सफलतापूर्वक करने का अनुभव होना चाहिए। जितना अच्छा डायग्नोसिस आप करेंगे रोगी को फायदा मिलेगा आप का एक्सपीरियंस बढ़ता है और जॉब के ढेरों और सर और खूब पैसा भी मिलता है।

12वीं के बाद मेडिकल कोर्स (medical course after 12th)

मेडिसिन में कई तरह के कोर्स हैं, जानकारी आपको दी जा रही है। 12वीं करने के बाद आप अपना शानदार कैरियर मेडिकल में बना सकते हैं कौन कौन से मेडिकल के क्षेत्र में कोर्स है इसके बारे में पूरी जानकारी नीचे हम प्रस्तुत कर रहे हैं।

अंडरग्रेजुएट कोर्सेज undergraduate course

class 12th पास करने के बाद मेडिसिन के अंडर ग्रैजुएट कोर्स है, जो इस तरह से है। 12वीं के बाद आप एलोपैथिक mbbs डॉक्टर बन सकते हैं। अंग्रेजी चिकित्सा पद्धति यानी एलोपैथिक में डिमांड बहुत है। इसलिए आप mbbs डिग्री कर सकते हैं।
एमबीबीएस डिग्री का फुल फॉर्म Bachelor of Medicine, Bachelor of Surgery होता है।

एमबीबीएस कोर्स की अवधि– यह कोर्स 5 साल का होता है। इस डिग्री प्रोग्राम को पूरा करने के लिए आपको 6 महीने की ट्रेनिंग भी करनी होती है। एमबीबीएस डिग्री की उपाधि सबसे शानदार होती है।

बैचलर आफ होम्योपैथी मेडिसिन एंड सर्जरी– कई चिकित्सा पद्धति होती जिसमें से अंग्रेजी चिकित्सा पद्धति यानी एलोपैथी चिकित्सा पद्धति के अलावा होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति और आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति भी होती है। छात्र 12वीं के बाद मेडिसिन में अंडरग्रेजुएट कोर्स पूरा कर सकते हैं, इसकें बाद छात्रों को एमबीबीएस डॉक्टर का शानदार टाइटल मिल जाता है। एमबीबीएस बैचलर ऑफ़ मेडिसिन का संक्षिप्त रूप है- एमबीबीएस. कोर्स की अवधि 5 वर्ष की होती है, जिसमें डिग्री प्रोग्राम पूरा करने के लिए 6 माह की ट्रेनिंग भी शामिल है।

पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज

मेडिसिन की फील्ड में पोस्ट ग्रेजुएशन को एमडी डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन के नाम से जाना जाता है। मेडिसिन के क्षेत्र में या सबसे बड़ी सुपर स्प्लेंडर स्पेशलाइजेशन डिग्री होती है। इसको करने में आपको 3 साल का समय लगता है।

डॉक्टोरल कोर्सेज

मेडिकल लाइन में सबसे बड़ी सुपर डिग्री डॉक्टोरल कोर्सेज (doctorol courses) कहलाती है। पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री के बाद रिसर्च की डिग्री शुरू होती है। doctor of medicine MD degree के बाद पीएचडी डिग्री हासिल कर सकते है। 3 से 4 साल का समय इसमें लगता है। मेडिकल से संबंधित आपको थीसिस तैयार करना होता है। इस thesis को आप कुछ समय अवधि के अंदर करना अनिवार्य होता है।

Medical College Admission Process

चिकित्सा क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज में एडमिशन किस तरह से लिया जाए इसके बारे में आपको जानकारी दे रहे हैं। medical entrance preparation के लिए NEET entrance test की कड़ी प्रवेश परीक्षा में शामिल होना पड़ता है।
डॉक्टरी का पैसा आज सबसे बड़ा पैसा भी माना जाता है। इसमें खुद से कमिटमेंट करके इस प्रोफेशनल एग्जाम में आना चाहिए। पेशेंट की जिंदगी बचाना डॉक्टर का एक बड़ा कर्तव्य होता है। इस कर्तव्य के प्रति जितना आप संवेदन होंगे आप इस इस क्षेत्र में उतने ही आगे निकलेंगे।

Medical Undergraduate Courses

क्लास 12th पास करने के बाद मेडिकल क्षेत्र के MBBS, BHMS, BAMS आदि किसी एक चिकित्सा पद्धति का अंडरग्रेजुएट कोर्स कर सकते हैं।
यदि आप एलोपैथी यानी अंग्रेजी चिकित्सा पद्धति के डॉक्टर बनना चाहते हैं तो आपको एमबीबीएस कोर्स करना होगा। इस कोर्स में प्रवेश लेने के लिए 12वीं की कक्षा में फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी विषय का कॉन्बिनेशन होना चाहिए। कम से कम 55% अंक से pass होना जरूरी है।

Post Graduate Course MD

डॉक्टर बनने के बाद पीजी कोर्स एमडी कर सकते हैं। एमडी का फुल फॉर्म डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन कहलाता है। इसके लिए योग्यता एमबीबीएस की डिग्री और इंटर्नशिप का एक्सपीरियंस होना जरूरी है।

doctorol course PHD

This is the highest degree in the field of medical which is called PhD. इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन होना जरूरी है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस डिग्री कोर्स को पीएचडी के बराबर रखा गया है। इसमें मेडिकल से संबंधित रिसर्च स्पेशलाइजेशन किया जाता है।

सैलरी

मेडिकल की डिग्री में एमबीबीएस की डिग्री सबसे अधिक के डिमांड पर रहती है। इसमें कैरियर बनाने वाले युवा को बेस्ट सैलरी मिलती है। योग्यता के आधार पर प्राइवेट संस्थानों में सैलरी बढ़ती जाती है। शुरुआती सैलरी ढाई से ₹300000 है। सरकारी संस्थान में जैसे-जैसे अनुभव पड़ता है वहां सैलरी भी बढ़ती इसके साथ प्राइवेट संस्थान में भी सैलरी आकर्षक होती है। कई लोग जॉब छोड़कर अपना क्लीनिक या हॉस्पिटल शुरू करते हैं इसका यही कारण है कि वह सैलरी से अधिक पैसा कमाना चाहते हैं और अपने बिजनेस को खड़ा करके उससे कई गुना अच्छे पैसे कमा पाते हैं। इसलिए एमबीबीएस की डिग्री वाले कैंडिडेट को आसानी से सैलरी वाली जॉब मिलती है।

एमबीबीएस एंट्रेंस एग्जाम लिस्ट

अब बात करते हैं कि आप एमबीबीएस करना चाहती हैं तो कौन-कौन से एंट्रेंस एग्जाम में बैठकर एमबीबीएस की डिग्री के लिए प्रवेश ले सकते हैं‌। यहां लिस्ट दी जा रही है।

Medical Entrance Test 2023 MBBS, BMAS, BHMS, MD course
all India post graduate medical entrance examNEET 2023
Delhi University post graduate medical entrance examwebsite
डॉक्टोरल कोर्स एग्जाम-medical career 2023
NEET- SS
JIPMR DM
NEET 2023
Medical Entrance Examination TEST

MBBS course Syllabus /Branches

Human anatomy

इंसानी शरीर के बारे में बेसिक जानकारी human anatomy बेसिक जानकारी दी जाती है। जिसमें मानव शरीर की microscopic and maicroscopic संरचना के बारे में जानकारी दी जाती है।

Biochemistry

बायोकेमिस्ट्री ब्रांच में human bodies मैं होने वाली केमिकल प्रोसेस के बारे में बताया जाता है। केमिकल प्रोसेस हमारे शरीर में किस तरह से इफेक्ट डालती हैं उसके बारे में जानकारी उसमें दी जाती है।

Orthopedics

जैसा कि आप जानते हैं कि हमारा शरीर हड्डी और पंजर से टिका हुआ है। हड्डियों के बारे में और मांसपेशियों के बारे में स्टडी किया जाता है। आपको बता दें कि आर्थोपेडिक में एमडी कोर्स भी एमबीबीएस करने के बाद स्पेशलाइजेशन के रूप में किया जा सकता है।

Radio therapy

कैंसर की समस्या से छुटकारा दिलाने में रेडियोथैरेपी एक बहुत बड़ा चिकित्सा तरीका है। शरीर में कई ऐसे सेल्स होते हैं जो बहुत तेजी से बढ़ने लगते हैं और कैंसर का रूप ले लेते हैं इन समस्याओं से समाधान के लिए रेडियोथैरेपी बहुत ही कारगर है इस ब्रांच में इसी के बारे में अध्ययन कराया जाता है। खास तौर पर radio therapy में x-ray Gama range electron beams protons की स्टडी कराई जाती है।

Ophthalmology

एमबीबीएस डिग्री में इस ब्रांच में ophthalmology
के बारे में बताया जाता है। इंसानी आंखों की संरचना और यह काम कैसे करती है इसके बारे में डीप स्टडी समझाई जाती है। आंखों की बीमारियों से संबंधित जानकारी दी जाती है। आई सर्जन के रूप में मास्टर की डिग्री एमबीबीएस के बाद किया जा सकता है।

Anesthesiology

अनेस्थेसियोलॉजी चिकित्सा क्षेत्र में बहुत महत्वपूर्ण है। यानी कि मरीज को बेहोश करके उसके सर्जरी करना। Anesthesiology ब्रांच में बताया जाता है कि उसी शरीर के अंग को किस तरीके से अचेतन किया जाता है ताकि मरीज को दर्द का एहसास ना हो। Anesthesiology का अर्थ आम भाषा में शरीर को सुन्न करने का तरीका है।

Human physiology

शरीर की संरचना कई तरह के मल्टीपल फंक्शन से काम करती है। human physiology में इन्हीं बातों को बताया जाता है। human physiology शरीर के mechanical physical bio electrical biochemical फंक्शन के बारे में जानकारी देता है। एमबीबीएस के साथ इन में से किसी एक विषय पर पोस्टग्रेजुएट एमडी की डिग्री कर सकते हैं।

FAQ

मेडिसिन में MBBS Full form क्या है

medical field medical career 2023 में MBBS को undergraduate डिग्री या पहला professional degree कहा जाता है। इस डिग्री में medical student को Trained किया जाता है। मेडिसिन कैसे दिया जाए, रोगी को कैसे diagnosis किया जाए, इन सब के लिए योग्य बनाया जाता है। MBBS degree कंप्लीट करने वाले स्टूडेंट्स को डॉक्टर की उपाधि दी जाती है।

एमबीबीएस डिग्री कोर्स में क्या पढ़ाया जाता है?

medical career 2023, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि एमबीबीएस डिग्री कोर्स में कई चीजों की स्पेशलाइजेशन के बारे में बताया जाता जिसके बारे में हम यहां आपको कुछ प्रारंभिक जानकारी प्रदान कर रहे हैं। एमबीबीएस डिग्री 5 साल का होता है।

Medical career scope क्या है?

चिकित्सा सेवा यानी मेडिकल में कैरियर बनाने वाले के लिए इस क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं। डॉक्टरी पेशा की डिग्री एमबीबीएस हासिल करने के बाद प्राइवेट और सरकारी संस्थानों में आसानी से जॉब मिल जाती है क्योंकि यहां पर इन प्रोफेशनल्स की बहुत ही कमी है। यदि आपका अनुभव और स्पेशलाइजेशन एमडी कोर्स भी आपने किया है तो आपको अच्छे सैलरी वाली जॉब भी मिलती है। प्राइवेट और सरकारी संस्थान में आप जॉब कर सकते हैं यहां 2 से लेकर ₹400000 महीना तक आपके अनुभव नॉलेज के अनुसार सैलरी मिलती है। इसके अलावा इसमें स्कोप है।‌आप अपना क्लीनिक या अस्पताल भी खोल सकते हैं।

Agripreneur word meaning in hindi कृषि उद्यमी new career 2023

Career नेटवर्क मार्केटिंग में कैसे सफल बने? How to become successful in network marketing?

India best university 2023 list : भारत की बेहतरीन विश्वविद्यालय

online degree course / world online college list name

Leave A Reply

Your email address will not be published.