नई शिक्षा new education policy के महत्वपूर्ण पहलू

0

new education policy update 2023

new education policy: नई शिक्षा में महत्वपूर्ण बदलाव आया है कि 3 से 6 साल के बच्चों के लिए early childhood care Education शुरू किया जाएगा। इसका फायदा यह होगा कि बच्चे 3 से 6 साल की उम्र में पढ़ाई के लिए तैयार होंगे और वह अपने आसपास के वातावरण से बेहतर शिक्षा हासिल कर सकते हैं। nep new education policy के बारे जानकारी आपको उपलब्ध करा रहे हैं। national education policy 2022 new education policy pdf सरकार द्वारा जारी कर दिया गया है। नई नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2023 लागू होने वाली है। शिक्षा नीति हिंदी में जानकारी हर प्रश्नों की यहां पर उपलब्ध कराई जा रही है। यह आपके लिए उपयोगी है। नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2023, नई शिक्षा नीति हिंदी में जानिए- importance of education policy in Hindi

Early Childhood Education क्या होता है?

अर्ली चाइल्डहुड एजुकेशन का अर्थ है, बच्चे को प्री-स्कूल के पहले विकास संबंधी एजुकेशन प्राप्त कर सकेंगे।‌ integrated child development service (ICDS) शुरू किया जा रहा है यानी कि स्कूली शिक्षा से पहले की शिक्षा है।‌ इसे आम भाषा में आंगनबाड़ी कहा जाता है। पाठ्यक्रम का बंधन नहीं होगा और इस तरह से वह अपने सामाजिक वातावरण में रहकर स्कूल और विद्यालय से शिक्षा प्राप्त कर पाएंगे।

नई शिक्षा नीति के अनुसार कक्षा 9 से 12वीं की पढ़ाई का प्रारूप क्या होगा?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नई शिक्षा नीति में अब पढ़ाई का प्रारूप कक्षा 9 से 12th तक का अलग-अलग प्रकार का होगी, जिसमें शुरुआती प्राइमरी 5 साल का उसके बाद 3 साल की शिक्षा के बाद उस तीसरा चरण 3 साल की शिक्षा और फिर उसके बाद के अगला चरण 4 साल की शिक्षा पर आधारित होगा जिसको।

New education policy का उद्देश्य क्या है?

नई शिक्षा नीति का उद्देश्य है कि आधुनिक युग की शिक्षा को खड़ा करना। अंतरराष्ट्रीय स्तर भारत के ज्ञान को महत्व दिलाना। शिक्षा व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन करके नई आधुनिक तकनीक जान वाली शिक्षा जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना मुकाम बना सके। नए बदलाव में दुनिया भर के देशों की शिक्षा के बराबर खड़ा होना और अपनी शिक्षा व्यवस्था के बल पर विश्व समुदाय में अपना नया मुकाम बनाना। नई शिक्षा नीति भारतीय युवाओं को योग्य शिक्षित बनाना ताकि उन्हें रोजगार प्राप्त हो सके और शिक्षित होकर भी देश की सेवा कर सके।

नई शिक्षा नीति में भारत के प्रत्येक बच्चे को 2030 तक सुनिश्चित शिक्षा देना लक्ष्य है।

New National Education Policy 2022 नई शिक्षा नीति का प्रारूप क्या है?

नई शिक्षा नीति में पढ़ाई का प्रारूप निम्नलिखित पैटर्न के आधार पर होगा। new education policy pattern 5+3+3+4 पढ़ाई का पैटर्न है।

आपको बता दें कि नई शिक्षा नीति में 3 साल की स्कूल पढ़ाई होगी। उसके बाद 12 साल की स्कूल इन जो माध्यमिक स्तर तक का होगा। कुल मिलाकर 3 साल बच्चे को आंगनबाड़ी अनिवार्य शिक्षा खेल खेल में दी जाएगी जहां पर किसी भी तरह के पाठ्यक्रम और इम्तिहान का बंधन नहीं होगा।

उसके बाद से 12 साल की स्कूलिंग शिक्षक औपचारिक रूप से शुरू हो जाएगी। इसके अंतर्गत छात्रों को व्यवसायिक शिक्षा से भी जोड़ा जाएगा।

नई शिक्षा नीति में स्पष्ट प्रावधान पढ़ाई के साथ कक्षा 6 से लेकर 10वीं तक विद्यार्थी विद्यार्थियों को बढ़ाई कुशलता से भी जोड़ा जाएगा इसके लिए उन्हें उपयोगी कला जैसे लकड़ी के फर्नीचर बनाना, बिजली के सामान का प्रयोग, मिट्टी के बर्तन बनाने का तरीका की कक्षाएं भी स्किल बढ़ाने वाली चलेंगी।

इसके अलावा कंप्यूटर कोडिंग आदि का ज्ञान भी दिया जाएगा इन सब का जिक्र मार्कशीट पर होगा।

क्या मातृभाषा में शिक्षा प्रदान की जाएगी?

बिल्कुल नई शिक्षा नीति (new education policy) में मातृभाषा में भी शिक्षा प्रदान की जाएगी कक्षा पांचवी तक की शिक्षा मातृभाषा या स्थानीय भाषा में प्रदान करने का विकल्प है। 3 भाषा ज्ञान को भी छात्र सीख सकते हैं अंतरराष्ट्रीय भाषा जैसे अंग्रेजी, क्षेत्रीय भाषा जैसे हिंदी और अपनी मातृभाषा।

कोई चाहे कोई भी विषय लेकर study कर सकता है?

new education policy 2023 असल में आप फिजिक्स से पढ़ने वाला छात्र कला के सब्जेक्ट भी चुनकर पढ़ सकता है। नई शिक्षा नीति में छात्र साइंस के विषयों के साथ कला के विषय पढ़ाई के लिए चुन सकता है। Geography सब्जेक्ट के साथ ही वह Maths सब्जेक्ट भी पड़ सकता है। माध्यमिक स्तर पर सब्जेक्ट चयन की कोई बाध्यता नहीं होगी।‌वह कोई भी सब्जेक्ट पड़ सकता है।

कक्षा 6 से ही वोकेशनल कोर्स शुरू कराया जाएगा जिसमें कोडिंग की पढ़ाई पर भी जोर दिया गया है। कक्षा 6 से 8 तक के विद्यार्थियों के लिए स्थानीय कुशल लोगों के द्वारा शिक्षा भी दी जाएगी जिसमें बढ़ई का काम, विद्युत आदि रिपेयरिंग, मिट्टी के बर्तन खिलौने बनाना जैसी उपयोगी कला के बारे में ज्ञान दिया जाएगा। बकायदा प्रैक्टिकल करके इन सब के बारे में प्रोजेक्ट वर्क कराया जाएगा।

नई शिक्षा नीति में बैग लेस पीरियड bagless period क्या है?

कक्षा 6 से दसवीं तक की पढ़ाई के दौरान 10 दिन बिना बैग की पढ़ाई होगी अर्थात छात्रों को बैग नहीं लाना है, जिसे बैग लेस पीरियड bagless period कहा जाता है। इसमें स्थानीय व्यवसायिक विशेषज्ञों की मदद ली जाएगी और कक्षा 6 से दसवीं तक के छात्र को बढ़ाई माली कुमार कलाकार आदि उन्हें उपयोगी कला की जानकारी देंगे।

नई शिक्षा नीति के अनुसार सकल घरेलू उत्पाद का कितना प्रतिशत शिक्षा में खर्च किया जाएगा?

आपको बता दें न्यू एजुकेशन पॉलिसी 2020 अनुसार देश का सकल घरेलू उत्पाद का 6% शिक्षा में खर्च किया जाएगा पहले यह 1.7% था।

नई शिक्षा नीति के अनुसार शिक्षा का माध्यम स्थानीय और क्षेत्रीय भाषा होगा क्या?

कक्षा 5 से नीचे तक की कक्षाओं में और उसके बाद कक्षा 8 तक घरेलू भाषा मातृभाषा स्थानीय भाषा में शिक्षा प्रदान करने की पहल की जाएगी इसमें क्षेत्रीय भाषा भी है। बच्चों को 3 भाषाएं सिखाई जाएंगी जो राज्य स्तर की और क्षेत्रों के अनुसार और छात्रों की पसंद के अनुसार होगी।

नई शिक्षा नीति में साइन लैंग्वेज का क्या विकास किया जाएगा?

बिल्कुल नई शिक्षा नीति में भारतीय साइन लैंग्वेज को स्टैंडर्डाइज्ड किया जाएगा। नेशनल और स्टेट लेवल के सिलेबस में इसको शामिल किया जाएगा। भारतीय साइन लैंग्वेज उन छात्रों के लिए कारगर होगा जो सुन नहीं पाते हैं उनके लिए टेस्टबुक और कंटेंट तैयार किया जाएगा।

new education policy (नई शिक्षा नीति) के अनुसार कौन-कौन से स्ट्रीम होंगे?

NEP के अनुसार स्कूली शिक्षा में विज्ञान मानविकी और गणित के अलावा शारीरिक शिक्षा कला और शिल्प के साथ व्यवसायिक स्किल को डिवेलप करने के लिए स्कूली पाठ्यक्रम में इन्हें शामिल किया जाएगा।

नई शिक्षा नीति का मुख्य आधार क्या है?

नई शिक्षा नीति में पढ़ाई में इस बात पर बल दिया जाएगा कि मुख अवधारणाओं विचारों अनुप्रयोग और समस्या समाधान पर केंद्रित पाठ्यक्रम होना चाहिए। शिक्षण और सीखने की प्रक्रिया संवादात्मक तरीके से किया जाए।‌

new education policy 2023 के बारे में महत्वपूर्ण पहलू आपको बताया गया है आशा है कि यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। शिक्षा जगत से संबंधित और भी ढेरों बौद्धिक आर्टिकल के लिए आप हमारी वेबसाइट पर विजिट करते हैं।

इन्हें भी पढ़ें

संयुक्त अरब अमीरात शिक्षा प्रणाली UAE education system / Indian school CBSE (Hindi)

आपका बच्चा पढ़ने में कमजोर है तो ये टिप्स जरूर पढ़ें / child weak in reading

Leave A Reply

Your email address will not be published.