सूरदास पाठ वन लाइन क्वेश्चन आंसर Surdas answer mcq class 10th

Surdas answer mcq class 10th

सूरदास पाठ वन लाइन क्वेश्चन आंसर

Surdas online  answer mcq class 10th

1.सीबीएसई क्लास 10th आपके पाठ से लिया गया सूरदास की प्रसिद्ध रचना सूरदास की प्रसिद्ध भ्रमरगीत से लिया गया है।

2.गोपियां उद्धव के सामने श्री कृष्ण के प्रति अपने अनन्य प्रेम को व्यक्त करती हैं।

उत्तर: गोपियां श्री कृष्ण के भक्ति मार्ग की ओर आकृष्ट हैं।

3.भ्रमरगीत का क्या अर्थ है?

उत्तर: भ्रमरगीत शब्द का  अर्थ है- भ्रमर का गान अथवा गुंजन। भ्रमर का शाब्दिक अर्थ भंवरा होता है। सूरदास के भ्रमरगीत के माध्यम से गोपियों के भक्ति प्रेम को प्रकट किया है। 

उद्धव के योग ज्ञान को कड़वी ककड़ी बताया है और भंवरे के माध्यम से उद्धव पर व्यंग्य किया है। गोपियों का कहना है कि उनका मन श्री कृष्ण के भक्ति में एकाग्र है।

4.गोपियों ने स्वयं को हारिल पक्षी के समान क्यों बताया है?

Surdas ke Pad MCQ question class 10th Kshitij

गोपिया कहती हैं, कृष्ण तो हमारे लिए हारिल पक्षी की लकड़ी के समान है अर्थात उनकी भक्ति प्रेम में डूबी हुई हैं, उन्हें छोड़ नहीं सकती हैं। वे मन, कर्म, वचन से भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति में डूबी हुई हैं।

See also  हिंदी व्याकरण: New MCQ TOP Hindi Grammar Objective Questions PDF Download

गोपियों ने अपनी तुलना हारिल की पक्षी से क्योंकि है?

उत्तर : श्री कृष्ण के प्रति अपने एकनिष्ठ प्रेम के कारण स्वयं की तुलना हारिल की पक्षी से की है जो सदैव अपने पैरों में लकड़ी लिए उड़ता है।

एम सी क्यू क्वेश्चन सूरदास MCQ Surdas

1. गोपियां सोते जाते दिन-रात किसने के नाम का जाप करते हैं-

उत्तर- कन्हैया /श्री कृष्ण

2. नंद-नंदन शब्द का प्रयोग कविता में किसके लिए हुआ है-

उत्तर- श्री कृष्ण के लिए

3. गोपियों ने उद्धव के योग संदेश को किस की संज्ञा दी है-

उत्तर : कड़वी ककड़ी के संज्ञा दी है।‌

क्योंकि गोपीयां, भक्ति मार्ग में श्रीकृष्ण के प्रति एकनिष्ठ हैं।

सूरदास के पद के अनुसार गोपियों ने राजा का धर्म क्या बताया है?

गोपियों के अनुसार राजा का धर्म प्रजा के हित में कार्य करना। प्रजा को सताना राजा का धर्म नहीं होता है।

Leave a Comment