Education New Knowledge

Budget in Hindi परिभाषा, बजट जनरल नॉलेज

Written by Abhishek pandey

Budget In Hindi: इस लेख के माध्यम से बजट के बारे में हिंदी में जानकारी परिभाषा अर्थ और बजट के कितने प्रकार होते संपूर्ण सामान्य ज्ञान (general Knowledge) यहां पर दिया जा रहा है क्योंकि 2023 का बजट (Budget) जारी होने वाला है।

हर साल सरकार द्वारा आम बजट प्रस्तुत किया जाता है। बजट को हिंदी में क्या कहा जाता है? बजट का अर्थ क्या होता है? बजट (budget) कैसे प्रस्तुत किया जाता है? इन सभी बातों की पूरी जानकारी हमारे इस आर्टिकल में सरल, सहज शब्दों में आपको मिलने वाला है इसलिए budget in Hindi लेख को पूरा जरूर पढ़े।

Union Budget जनरल नॉलेज

Union Budget 2023-24: संसद का आम बजट 31 जनवरी 2023 से शुरू हुआ। बजट सत्र 6 अप्रैल तक चला। सेंट्रल गवर्नमेंट बजट 2023-24 जिसे आम बजट भी कहते हैं।‌ बजट सत्र की शुरुआत लोकसभा और राज्यसभा के संयुक्त सत्र से शुरू हुआ। जनरल नॉलेज आम बजट 2023 के बारे में पूरी जानकारी-

GK Budget Updated: भारतीय संविधान के अंतर्गत हर (financial year) में संविधान (constitution) के अनुच्छेद (Article)112 के अनुसार हर साल सरकार को संसद में केंद्रीय बजट (Union budget) या बजट प्रस्तुत करना आवश्यक होता है।

बजट की परिभाषा (Budget Definition) What Is Budget in Hindi?

Budget: एक निश्चित अवधि के लिए पैसे को खर्च करने की योजना बनाना और उसे लागू करना बजट कहलाता है।

सरल शब्दों में कहें तो पैसे को किस तरीके से और किन-किन चीजों को खरीदने में खर्च करना है, इसका लेखा जोखा बजट कहलाता हैं। बजट आय-व्यय (income- expenditure) का लेखा-जोखा होता है। आमदनी और खर्च में यदि आमदनी कम और खर्चे ज्यादा हो तो उसे घाटे का बजट कहा जाता है। यदि आमदनी ज्यादा हो और खर्च कम हो तो इसे फायदे का बजट कहा जाता है क्योंकि इसमें पैसा बचता है जिसे हम इन्वेस्ट कर सकते हैं।

जब कोई देश भविष्य में खर्च करने के लिए यानी कि एक वित्तीय वर्ष के लिए पूर्वानुमान लगाता है कि कितना पैसा किन-किन मदों पर कहां-कहां खर्च करना है, इस लेखा-जोखा (calculations) को बजट (budget) कहा जाता है। आय (income) और खर्चों में संतुलन बनाए रखकर बजट सरकार बनाती है। किसी भी देश के वित्त मंत्रालय बजट बनाता है और वित्त मंत्री इसे प्रस्तुत करता है। भारत में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (finance minister Nirmala Sitharaman) 2023 का बजट प्रस्तुत करने वाली है।

See also  Hindi MCQ class 10th: questions CBSE board NCERT solution sample paper

बजट का अर्थ (Meaning of Budget)


Budget यह एक फ्रांसीसी शब्द है। जो रोमन लिपि में लिखा जाता है लेकिन इसका अर्थ फ्रांसीसी भाषा में बटुआ यानी पर्स होता है।

बजट आगामी वित्तीय वर्ष के लिए वह लेखा-जोखा है जिसे लिपिबद्ध करके वित्तीय योजना बनाई जाती है। एक नाम अर्थशास्त्र की शाखा microeconomics (व्यष्‍टि अर्थशास्त्र) में बजट के अवधारणा (concept) को इस तरह से बताया गया है कि जब दो या दो से अधिक वस्तुओं के बीच व्यापार को दिखाया जाता है तो इसे बजट लाइन कहा जाता है। वहीं अन्य शब्दों में कहा जा सकता है कि बजट एक संगठनात्मक योजना है, जिसमें मुद्राओं का लेखा-जोखा होता है।

  • साधारण भाषा में केंद्रीय बजट फाइनेंसियल साल के लिए आयोजित होता है।
  • वित्तीय वर्ष- 1 अप्रैल से शुरू होता है और अगले साल साल 31 मार्च को खत्म होता है।
  • इस बार वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल 2023 से शुरू होकर अगले साल 21 मार्च 2024 को खत्म होगा और इसका बजट पिछली बार की तरह यूनियन बजट वित्त मंत्री (financial Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने 1 फरवरी 2023 को संसद के बजट सत्र में पेश किया गया (करेंगे)।

Budget Today

  • Budget updated Today: संसद से बजट सत्र 31 जनवरी 2023 शुरू हुआ।
  • संसद में बजट सत्र 6 अप्रैल 2024 तक चलने का अनुमान।
  • संसद सत्र लोकसभा और राज्यसभा के संयुक्त सत्र से आरंभ होगी।
  • (President) राष्ट्रपति द्रौपदी मूर्मू दोनों सदनों को एक साथ संबोधित करेंगे। पहला संबोधन राष्ट्रपति जी का होगा।

How many types of budgets बजट के प्रकार

यह बात स्पष्ट कर दें कि बजट एक तरह से खर्चों का अनुमान है। इस दृष्टि से या नजरिए से बजट तीन तरह के होते हैं-

बजट के प्रकार, खर्चों के आधार पर
ये होते हैं, तीन तरह के
1.
संतुलित बजट (Balance Budget),
2.
अधिशेष बजट (Surplus Budget)
3.
घाटे का बजट (Deficit Budget)

1.संतुलित बजट की परिभाषा (Balance Budget)

यह बजट बहुत आदर्श बजट होता है इसमें आय और व्यय बराबर होते हैं। यानी जितने खर्च होता है, उतनी आमदनी भी होती है।

2. अधिशेष बजट (Surplus Budget)

फायदे का बजट होता है, जब खर्चों से ज्यादा आमदनी हो। दूसरे शब्दों में समझिए-सरप्लस बजट में जितना अनुमान आमदनी की की जाती उससे ज्यादा आमदनी होता है और खर्च कम रहता है तो इस तरह से अधिक पैसा बचता है जिसे सरकार कल्याणकारी योजना में खर्च करती है। अधिशेष बजट (Surplus Budget कहा जाता है।

3.घाटे का बजट (Deficit Budget)

वित्तीय वर्ष के लिए आमदनी का अनुमान लगाकर बजट बनाया जाता लेकिन आमदनी कम हो जाती है तो बजट घाटे का हो जाता है। इस तरह के बजट को घाटे का बजट Deficit Budget कहा जाता है।

See also  Pariksha Pe Charcha 2024: master class का फायदा कैसे उठाए

सरकारी बजट कितने तरह के होते हैं? (What are the types of Government Budget?)

सरकार द्वारा प्रस्तुत होने वाला बजट 3 तरह के होते हैं। ‌

  1. परिचालन या चालू बजट (Operating Or Current Budget)
  2. पूंजी या निवेश बजट (Capital Or Investment Budget)
  3. नकदी या नकदी प्रवाह बजट (Cash And Cash Flow Budget)

बजट 2022-23 किसने प्रस्तुत किया? (Who Presented The Budget 2022-23?)

वर्तमान वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2023 को प्रस्‍तुत करने जा रही हैं। general budget 2023 finance minister Nirmala Sitaraman.

भारत का वार्षिक बजट क्या है? financial year

Budget in Hindi General Knowledge भारत सरकार का केंद्रीय बजट जो संविधान के अनुच्छेद 112 के तहत है, इसे वार्षिक वित्तीय विवरण (Yearly finance Report) भी कहा जाता है। जिसे भारत के गणराज्य का वार्षिक बजट नाम से संबोधित किया जाता है।
यह बजट आने वाले वित्तीय वर्ष जो 1 अप्रैल से शुरू होकर 31 मार्च को खत्म होता है उसके लिए खर्चों का ब्यौरा तैयार करना एक तरह से पूर्वानुमान है, इसे ही बजट कहा जाता है।

इस बार का बजट 1 अप्रैल 2023 से 31 मार्च 2024 तक का तैयार हुआ है। यह भारत का वित्तीय वर्ष है जिसे अंग्रेजी में financial year कहते हैं। Budget in Hindi All information.

Budget Shabd ka Arth?

असल में बजट (budget) शब्द फारसी शब्द Bougette से लिया गया है। इसका अर्थ पर्स या पैसा रखने का थैला होता है। Budget in Hindi में वार्षिक विवरण कहा जाता है.

Budget GDP Tax

देश का बजट GDP के आधार पर बनाया जाता है। जीडीपी को सकल घरेलू उत्पाद कहा जाता है। जीडीपी की परिभाषा यह है कि साल भर में देश में वस्तुओं का उत्पादन और सेवाओं को अगर बाजार मूल्य में बदल दिया जाए तो जो धन राशि बनती है, वही जीडीपी कहलाती है। किसी जीडीपी के आधार पर अगले साल का बजट बनाया जाता है।

सरकार को जो इनकम होती है उसे सरकारी राजस्व कहा जाता है। हम नागरिकों से जो टैक्स वसूला जाता है वह राजस्व का 85% इन्हीं टैक्सों से आता है। अब प्रश्न उठता है कि टैक्स कितने प्रकार के होते हैं तो Tax दो तरह के होते हैं-

indirect tax
direct tax

Direct Tax को हिंदी में प्रत्यक्ष कर कहते हैं। व्यक्तिगत आय पर लगने वाला टैक्स income tax कहां जाता है इसके अलावा,corporate tax, होता है यह सब डायरेक्ट्रिक्स के उदाहरण हैं।

Indirect Tax

इस tax को हिंदी में अप्रत्यक्ष टैक्स कहते हैं, indirect टैक्स को कस्टमर से वसूला जाता है। इस टैक्स के दायरे में GST , Customs duty, Petrol excise

अंतरिम बजट क्या है? (What Is Interim Budget?

आपको बता दें कि अंतरिम का मतलब होता है अस्थाई। जब कोई नई सरकार सत्ता में आने वाली होती है तो इस संक्रमण काल के समय जो बजट प्रस्तुत किया जाता है उसे अंतरिम बजट कहते हैं। इसमें नीतिगत फैसले होते हैं और खर्चों के साथ कमाई का अनुमान होता है।

See also  Hindi 10 nirala: NCERT Solutions for Class 10 Hindi Chapter 5: सूर्यकांत त्रिपाठी निराला| Extra questions for 2023


केंद्रीय बजट से क्या मतलब है?

केंद्रीय बजट को अंग्रेजी में Union Budget कहा जाता। बजट के बारे में विवरण भारत के संविधान के आर्टिकल 112 में दिया गया है। 1 साल का केंद्रीय बजट जिसे संविधान में वार्षिक वित्तीय विवरण (annual finance detail) कहा गया है। 1 साल यानी 1 अप्रैल से 31 मार्च तक के होने वाले खर्च और आय का अनुमान लगाते हुए जो विवरण प्रस्तुत किया जाता है उसे बजट कहते हैं।

बजट से लाभ

किसी भी देश का बजट या किसी भी कंपनी का बजट या किसी घर का बजट इसलिए बनाया जाता है कि हम वित्तीय प्रबंधन सही ढंग से कर सके। पैसा कहां खर्च करना है और कितना खर्च करना है पैसे की आमदनी कहां से आएगी इन सब बातों का ध्यान रखने से हम सही खरीदारी और सेवा प्राप्त कर सकते हैं और अपने जीवन को बेहतर तरीके से बजट से चला सकते हैं क्योंकि सही बजट होने पर ही हम अपनी आर्थिक स्थिति के अनुरूप ही खर्चे करके अपने जीवन को सुगम बना सकते हैं। इसलिए बजट बहुत ही लाभकारी होता है इसे सही ढंग से और डिटेल के साथ बनाना चाहिए।

बजट बनाने से लाभ


Budget in Hindi : सम्मानजनक जीवन जीने के लिए यानी जितनी चादर हो उतना पैर फैलाना चाहिए अर्थात जितनी आमदनी हो उतना ही खर्च करना चाहिए। बजट बनाते समय यह कहावत चरितार्थ होती है। इसके साथ ही बजट के द्वारा हमने आय स्रोतों पर भी पैसा लगाते हैं जिससे की कमाई हो सके या बजट का एक नया और सबसे सर्वोत्तम पहलू है कि हम निवेश कितना कहां और कैसे करें।

बजट में सभी बातें समाहित होती है। चाहे देश का बजट हो चाहे घर का बजट हो अगर बजट घाटे का होता है तो उसकी पूर्ति करने के लिए अतिरिक्त कमाई करनी होती है या फिर कर्ज लेना होता है।
इसलिए बजट Budget बनाते समय हर तरह की दृष्टिकोण को रखना जरूरी है कितना खर्च और कितना आमदनी है, इस बात पर व्यावहारिक तरीके से चर्चा करना जरूरी होता और इसीलिए जब किसी देश का बजट बनाया जाता है तो पहले बजट अनुमानों पर कई सर्वे और चर्चाएं विभागों में की जाती है, इन्हीं चर्चाओं रिपोर्टों के अनुमान के आधार पर वित्तीय वर्ष यानी आगामी वित्तीय वर्ष के लिए बजट बनाई जाती है, बजट हमेशा भविष्य के खर्चो और आमदनी का ब्यौरा होता है।

About the author

Abhishek pandey

Author Abhishek Pandey, (Journalist and educator) 15 year experience in writing field.
newgyan.com Blog include Career, Education, technology Hindi- English language, writing tips, new knowledge information.

Leave a Comment

हिंदी में बेस्ट करियर ऑप्शन, टिप्स CBSE Board Exam tips 2024 एग्जाम की तैयारी कैसे करें, मिलेगा 99% अंक