Career

CBSE New Vocational course 2023

cbse new courses
Written by Abhishek pandey


नए व्यवसायिक कोर्स सीबीएसई बोर्ड 2023
New professional course in CBSE Board
सीबीएसई बोर्ड वोकेशनल कोर्स के द्वारा अपने कैरियर को दिजिए नई पहचान
सीबीएसई स्कूल के छात्रों को जूता निर्माण पाठ्यक्रम (Shoes Making Syllubus) के द्वारा आत्मनिर्भर बनने के लिए सुनहरा अवसर दे रहा है।

career option

अक्सर छात्र 12वीं में विज्ञान एवं गणित विषय लेकर पढ़ाई करते हैं। परंतु बहुत से छात्रों का विज्ञान एवं गणित विषय में रूचि ना होने के बावजूद भी इन विषयों की पढ़ाई करते हैं। जिससे उनका कैरियर नहीं बन पाता है।
यदि वह अपनी रूचि के अनुसार व्यावसायिक यानी कि वैकेशनल कोर्स Vocational course करें तो वह भविष्य में अच्छे व्यवसायी एवं जॉब क्रिएटर्स Job Creaters बन सकते हैं।

shoes making course


सीबीएसई बोर्ड CBSE Board ने इसी के संदर्भ में स्कूलों में छात्रों को जूता निर्माण पाठ्यक्रम (Shoes Making Syllubus) का निर्माण करने जा रहा है। जिसमें केंद्रीय पादुका प्रशिक्षण संस्थान Central Shoes Making Training Institute के सहयोग से पाठ्यक्रम Syllubus को चार स्तर पर तैयार किया गया है। 45% काम पूरा हो चुका है। पाठ्यक्रम पूरा हो जाने पर इसे सीबीएससी CBSE को भेजा जाएगा। सीबीएसई बोर्ड CBSE Board द्वारा मंजूरी मिलने पर कक्षा 6 से लेकर 12वीं तक के छात्र कौशल शिक्षा Skill Education के तहत इस कार्यक्रम को पढ़कर अपने भविष्य को एक नई पहचान देंगे।

CBSE new course for your career 2023

कैरियर का चुनाव कैसे करें

भारत में जूता निर्माण (Shoes Making) पारंपरिक कैरियर से हटकर अब नए कार्य के संदर्भ में देखा जा रहा है। वैश्विक स्तर (Global Level) पर यह एक व्यवसाय बनता जा रहा है।
सीबीएसई बोर्ड CBSE Board भारत में नया बदलाव लाने के लिए इसे स्कूली शिक्षा से ही जोड़कर छात्रों को जूता निर्माण (Shoes Making) करना सिखाएगी। राष्ट्रीय शिक्षा नीति (National Education Policy) में कौशल शिक्षा (Skill Education) के अंतर्गत 23 विशेष पाठ्यक्रम तैयार किए जा रहे हैं। इसमें जूता निर्माण (Shoes Making) को भी शामिल किया गया है।

See also  kvs admission onlinen form for class 1: 27 मार्च 2023 से शुरू | how online registration form |Result

आगरा को जूता निर्माण पाठ्यक्रम (Shoes Making Syllubus) तैयार करने की ज़िम्मेदारी मिली है। पिछले वर्ष जी डी गोयनका पब्लिक स्कूल (GD Goyenka Public School) में आयोजित स्किल एक्सपो (Skill Expo) में सीबीएससी के निदेशक डॉ विश्वजीत साहा सीएफटीआई (सेंट्रल फुटवियर ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट केंद्रीय पादुका प्रशिक्षण संस्थान) CFTI Central Footwear Training Institute के साथ मिलकर जूता निर्माण (Shoes Making Syllubus) पर पाठ्यक्रम बनाने की योजना तैयार की थी जिसकी ज़िम्मेदारी जी डी गोयनका पब्लिक स्कूल (GD Goyenka Public School)
के प्रधानाचार्य पुनीत वशिष्ठ को दी गई है। पुनीत वशिष्ठ ने बताया छात्रों को जूता कटिंग (Shoes Cutting) से लेकर डिजाइनिंग ₹Desining) तक सिखाई जाएगी पाठ्यक्रम को इस तरह तैयार किया जा रहा है कि छात्र अगर 12वीं के बाद किसी कारण आगे शिक्षा ग्रहण नहीं कर पाते हैं, तब भी वे इतने दक्ष होंगे कि वह स्वरोजगार करके अपना भविष्य संवार सकें।

अक्सर यह देखा जाता है कि बहुत से छात्र अन्य छात्रों की देखा देखी विषयों का चुनाव कर अपने भविष्य के साथ खिलवाड़ कर लेते हैं। यदि उन्हें स्कूली स्तर पर इस बात की पूरी जानकारी और मोटिवेशन दिया जाए कि वो अपनी योग्यता के अनुसार या रूचि के अनुसार विषयों का चुनाव कर भविष्य के लिए अभी से तैयारी करके पढ़ाई करें। इससे उनका आर्थिक भविष्य खतरे में ना पड़े।

See also  Career नेटवर्क मार्केटिंग में कैसे सफल बने? How to become successful in network marketing?

About the author

Abhishek pandey

Author Abhishek Pandey, (Journalist and educator) 15 year experience in writing field.
newgyan.com Blog include Career, Education, technology Hindi- English language, writing tips, new knowledge information.

Leave a Comment

हिंदी में बेस्ट करियर ऑप्शन, टिप्स CBSE Board Exam tips 2024 एग्जाम की तैयारी कैसे करें, मिलेगा 99% अंक