Hindi MCQ Veyakaran

new hindi varnamala pdf notes and MCQ questions

 varnamala pdf: New varnamala pdf notes and MCQ questions,  2022 New varnamala pdf notes and MCQ questions हिन्दी वर्णमाला से सम्बन्धित वस्तुनिष्ठ प्रश्न उत्तर Hindi Varnamala Question Answer hindi veyakaran Notes and MCQ new update for all Examination question answer.  New gyan hindi bring for hindi grammar MCQ General hindi.

 
mcq varnmala
 

Update हिन्दी वर्णमाला Notes and Pdf  download MCQ reading 

वर्ण किसे कहते हैं- Varn kise kahte hi

वह ध्वनि जिसके छोटे टुकड़े नहीं किए जा सकते हैं उसे  वर्ण कहते हैं। (alphabet in Hindi) वर्ण के दो भेद होते हैं। varan ke kitane bhed hote hi

  • स्वर Vowels 

  • व्यंजन consonants

 

जिन ध्वनियों के उच्चारण के समय  मुंह से हवा बिना किसी रूकावट के बाहर निकलती है, उसे स्वर (swar) कहते है। स्वर का उच्चारण स्वतंत्र रूप से होता है इसे बोलने के लिए किसी वर्ण की जरूरत नहीं होती है।

 

हिंदी में कुल 11 स्वर (total swar in hindi 11) होते हैं जिसे स्वरमाला कहते हैं। Hindi language 11 vowels

 

स्वर निम्नलिखित है- these are vowels in Hindi languages are

अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ऋ, ए, ऐ, ओ, औ

 

Ayogvah आयोगवाह

 

 यह वर्णमाला में ऐसे  अक्षर है,  जो न तो स्वर है और न ही व्यंजन consonants है। अं अः

 

स्वर Vowels  के प्रकार (how many vowels in Hindi)

 

स्वर Vowels  को 3 तरीके से बांटा जा सकता है।

  • हृस्व स्वर

  •  दीर्घ स्वर

  •  प्लुत स्वर

 

हृस्व स्वर- जिन स्वरों के उच्चारण में कम समय लगता है उसे हृस्व स्वर कहते हैं- अ, इ, उ, ऋ, इनकी संख्या 4 है।

 

 

What is the dirgha Swar in Hindi

 

दीर्घ स्वर- जिन स्वरों के उच्चारण में हृस्व स्वर से दुगना समय लगता है, उसे दीर्घ स्वर कहते हैं इसका उदाहरण निम्नलिखित है-

आ, ई, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ

इनकी संख्या 7 है।

 

 

वर्णमाला किसे कहते हैं? (What is the alphabet in Hindi grammar)
 

वर्ण के निश्चित क्रम को वर्णमाला कहा जाता है

 

हिंदी वर्णमाला 

 
नीचे वर्णमाला का निश्चित क्रम दिया गया है।
 

 

वर्ण के दो भेद होते हैं। 

 

  • स्वर Vowels 

  • व्यंजन consonants

 

जिन ध्वनियों के उच्चारण के समय  मुंह से हवा बिना किसी रूकावट के बाहर निकलती है, उसे स्वर कहते है। स्वर का उच्चारण स्वतंत्र रूप से होता है इसे बोलने के लिए किसी वर्ण की जरूरत नहीं होती है।

 

हिंदी में कुल 11 स्वर होते हैं जिसे स्वरमाला कहते हैं।

 

स्वर निम्नलिखित है-

अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ऋ, ए, ऐ, ओ, औ

 

Ayogvah आयोगवाह

 यह वर्णमाला में ऐसे  अक्षर है,  जो न तो स्वर है और न ही व्यंजन consonants है। अं अः

 

स्वर Vowels  के प्रकार

 

स्वर Vowels  को 3 तरीके से बांटा जा सकता है।

  • हृस्व स्वर

  •  दीर्घ स्वर

  •  प्लुत स्वर

 

हृस्व स्वर- जिन स्वरों के उच्चारण में कम समय लगता है उसे हृस्व स्वर कहते हैं- अ, इ, उ, ऋ, इनकी संख्या 4 है।

 

दीर्घ स्वर- जिन स्वरों के उच्चारण में हृस्व स्वर से दुगना समय लगता है, उसे दीर्घ स्वर कहते हैं इसका उदाहरण निम्नलिखित है-

आ, ई, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ

इनकी संख्या 7 है।

 

प्लुत स्वर- जिन स्वरों के उच्चारण में हृस्व स्वर से 3 गुना समय लगे उसे प्लुत स्वर कहते हैं।  ओऽम, आऽऽ

 

अनुस्वार (Semi nasal)– इस स्वर के बोलने में आवाज नाक से निकलती यानी नासिका से इसे अनुस्वार कहते हैं।

शब्दों के उदाहरण-रंग, गंगा, अंगूर

 

अनुनासिक (Semi nasal)- इसका उच्चारण नाक और मुंह दोनों से होता है। उसका चिन्ह ँ होता है। चाँद, आँख, पाँच, 

 

विसर्ग (Visarg)- इसका उच्चारण ‘ह’ के समान होता है। : को व्यंजन के पीछे लगाया जाता है।

जैसे- प्रातः, दुःशासन, अतः 

 

आगत ध्वनि- अंग्रेजी से हिंदी भाषा में आए हुए शब्दों के प्रयोग के लिए किस मात्रा का प्रयोग किया जाता है। इसे आगत ध्वनि कहते हैं इसका चिह्न है- डॉक्टर, कॉफी, टॉप इत्यादि

 

व्यंजन

 

ऐसी ध्वनियां जिन्हें स्वतंत्र तरीके से तो लिख सकते हैं लेकिन बिना स्वरों की मदद के उच्चारण (बोल) नहीं सकते हैं, उसे व्यंजन कहते हैं। हिंदी में मान व्यंजनों की संख्या कुल 33 होती है। संयुक्त और दूसरे व्यंजन मिलाकर 39 होती है।

 

व्यंजन 3 कितने तरह के होते हैं?

व्यंजन 3 तरह के होते हैं-

 

  1. स्पर्श व्यंजन Sparsh Vyanjan

  2.  अंतःस्थ व्यंजन antah stah Vyanjan

  3. ऊष्म व्यंजन ushm Vyanjan

व्यंजन माला (वर्णमाला चार्ट) varnamala pdf

 

मूल व्यंजन और संयुक्त व्यंजन की बनिया कहां-कहां से मुख से निकलती है इसके बारे में यह टेबल से समझे।

क वर्ग

कंठ स्पर्श व्यंजन

क 

5

वर्ग

तालव्य

 स्पर्श व्यंजन

5

ट वर्ग

 

मूर्धन्यस्पर्श व्यंजन 

5

त वर्ग

दंत्य स्पर्श व्यंजन

त 

5

प वर्ग

ओष्ठ्य स्पर्श व्यंजन 

5

अंतस्थ

 

4

ऊष्मा

 

4

संयुक्त

क्ष

त्र

ज्ञ

श्र

 

4

अन्य

ड़

ढ़

     

2

कुल व्यंजनों की संख्या

         

39

स्पर्श व्यंजन (Sparsh vyanjan)

 

जिन वर्णों का उच्चारण करते समय सांस वायु कंठ (गले), होठ (Lips),  जिह्वा (Tongue) को छूती  (toch) हुई बाहर निकलती है, उसे स्पर्श व्यंजन कहते हैं।

स्पर्श व्यंजनों की संख्या 25 होती है। ऊपर दिए गए लिस्ट में देखें। 

 

अंतस्थ व्यंजन – इन अल्फाबेट का उच्चारण करते समय  जीभ  मुँह के किसी भाग को पूरी तरीके से नहीं छूती है, ऐसे वर्णों के उच्चारण के कारण इन्हें अंतस्थ व्यंजन कहते हैं। य, र, ल, व, अंतस्थ व्यंजन है, इनकी संख्या 4 होती है।

 

ऊष्म व्यंजन-

 

जिन वर्णों के उच्चारण के समय मुंह द्वारा वायु तेजी से निकलती है और रगड़ खाने की वजह से  गर्म हो जाती है, उसे  ऊष्म व्यंजन कहते हैं। 

श, ष, स, ह होते हैं इनकी संख्या 4 है।

 

संयुक्त व्यंजन

जब दो  व्यंजन आपस में मिलकर एक नए व्यंजन की रचना करते हैं उसे संयुक्त व्यंजन कहते हैं। संयुक्त व्यंजन की संख्या 4 होती है।

 

त् +र = त्र  त्रिशूल त्रिशूल त्रिकालदर्शी मित्र

ष्+क= क्ष क्षत्रिय  क्षेत्र क्षमता

ज्+ञ= ज्ञ ज्ञानी, अज्ञात, यज्ञ

श्+र= श्र  श्रमिक श्रावण आश्रम

 

द्वित्व व्यंजन क्या होता है? What is the meaning of dwitya Vyanjan in hindi grammer

 

वर्णमाला से संबंधित बहुविकल्पीय प्रश्न MCQ Varnmala mcq new updated

 

वर्णमाला से संबंधित बहुविकल्पीय प्रश्न MCQ Varnmala mcq new updated 2022 MCQ प्रश्नों का उत्तर नीचे दिया गया है-varan vichar MCQ objective type question in Hindi most important part every competition and every class
 
1. निम्नलिखित में से कौन सा अंतस्थ व्यंजन नहीं है-
i. य
ii. र
iii. ट
iv. व 
 
2. निम्नलिखित में से कौन सा संयुक्त व्यंजन (sanyukt Vyanjan ) नहीं है-
 
i.त्र
ii. ज्ञ
iii. ऋ
iv. श्र
 
3. इसमें से कौन सा स्वर (Swar) का प्रकार नहीं है-
 
i. हृस्व स्वर
ii. दीर्घ स्वर
iii. प्लुत स्वर
iv. आयोगवाह
 
4. हिंदी भाषा में मूल व्यंजनों की संख्या कितनी होती है? How many main consonant in Hindi language?
 
i. 39
ii. 33
iii. 52
iv. 30
 
5. हिंदी में मिलाकर कितने वर्ण होते हैं- How many total alphabet in hindi?
 
i . 52
ii. 39
iii. 33
iv. 44
 
6. अंतस्थ व्यंजन व्यंजनों की संख्या कितनी है-
 
i. 3
ii 4
iii 5
iv 6
 
 
उत्तरमाला स्वर और व्यंजन (MCQ questions answer these are given)
 
1. iii. ट  अंतस्थ नहीं है। 
2. iii. ऋ एक स्वर है।
3. iv. अयोगवाह ना स्वर है ना व्यंजन है जाने के लिए ऊपर नोट्स देखें।
4. मूल व्यंजन की संख्या 33 होती है। अधिक जानकारी के लिए ऊपर नोट्स हैं।
5. हिंदी में मूल व्यंजन स्वर संयुक्त व्यंजन आगत व्यंजन आदि मिला दिया जाए तो 52 वर्ण यानि अल्फाबेट हिंदी में होते हैं। 
6. ii 4
 
Read more-

 



About the author

admin

Hello friends!
New Gyan tells the words of knowledge with educational and informative content in Hindi & English languages. new gyan website tells you new knowledge. This is an emerging Hindi & English website in the Internet world. Educational, knowledge, information etc. new knowledge, new update, new method in a very simple and easy way.
Founder of Blog Founder of New gyan.

A. K Pandey - Teacher, Writer - Journalist, Blog Writer, Hindi Subject - Expert with more than 15 years of experience. Articles on various topics have been published in various magazines and on the Internet.
Educational Qualification- Master of Art. Professional Qualification-
Diploma in Journalism from Allahabad University, Master of Journalism and Mass Communication, B.Ed.

1 Comment

Leave a Comment