2024 में फिर बनेगी भाजपा की सरकार! मोदी बनेंगे फिर प्रधानमंत्री, जाने चुनावी विश्लेषण

Indian general election analysis 2024

Last Updated on April 10, 2024 by Abhishek pandey

2024 के चुनाव का बिगुल बज चुका है। हर कोई के मन में बस यही सवाल है कि क्या भाजपा लगातार तीसरी बार केंद्र में सरकार बना पाएगी। इस आर्टिकल में हम चर्चा करेंगे कि किस तरीके से भाजपा 2024 में फिर इतिहास रच सकती है। ‌ 

पीएम नरेंद्र मोदी का दूसरा कार्यकाल पूरा होने वाला है और तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं। ‌ इस तरह से केंद्र में 2014 से 2024 तक कुल 10 साल प्रधानमंत्री रह चुके हैं। एक दशक का यह बहुत बड़ा समय है। इन 10 सालों में अपनी उपलब्धि के बारे में जनता के सामने कौन-कौन से मुद्दे रखेंगे की मोदी की गारंटी जनता को पसंद आजाए।

इस बार 2024 लोकसभा चुनाव में अगर बीजेपी को बहुमत मिलती है तो पीएम मोदी अगले 5 साल के लिए फिर प्रधानमंत्री बन सकते हैं। ‌

2024 चुनावी विश्लेषण

2024 का चुनाव जिन मुद्दों पर लड़ा जा रहा है, उसमें बीजेपी को कितना फायदा हो सकता है? चर्चा इस आर्टिकल के जरिए की जा रही है। ‌ यह बता देना जरूरी है कि यहां पर लेखक द्वारा विचार (analysis) प्रस्तुत किया जा रहा है, जो अलग-अलग मीडिया रिपोर्टों और तर्कों के विश्लेषण पर आधारित है। ‌

यह कोई सर्वे नहीं है बल्कि जनता को प्रभावित करने वाले मुद्दों को आधार बनाकर इस आर्टिकल में बताया जा रहा है कि भाजपा को किन किन चुनावी मुद्दों से फायदा और नुकसान हो सकता है। ‌ एक तरह से वोटर के मन में क्या है? यह भी पता चल रहा है।

See also  Savitribai Phule Jayanti 2024 सावित्रीबाई फुले पर जनरल नॉलेज

भाजपा को फायदा पहुंचाने वाले मुद्दे 

आस्था और विकास के अपने मुद्दे पर भाजपा चुनाव लड़ रही है। इन मुद्दों के जरिए जनता को अपनी ओर आकर्षित कर रही है। ‌ वैसे नरेंद्र मोदी (PM Modi) बहुत बड़े चेहरे के रूप में जनता की पहली पसंद बनी हुई है। कई मीडिया सर्वे में यह बात सामने आई है। लेकिन किन कांग्रेस और विपक्षी दल खुद में एकजुट नहीं है ऐसे में फायदा भाजपा को मिलना तय है। ‌

इस चुनाव में भाजपा अपने कार्यों और नरेंद्र मोदी के चेहरे के रूप में सामने आ रही है। ‌ जबकि इसके खिलाफ विपक्ष के पास कोई मजबूत चेहरा नजर नहीं आता है।

जम्मू कश्मीर धारा 370 हटाना राज्य का दर्जा दिलाना, अयोध्या राम मंदिर का निर्माण और प्राण प्रतिष्ठा, धार्मिक स्थलों का विकास, भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने ये मुद्दे भाजपा के लिए मील का पत्थर साबित होने वाला है। जो जनता को प्रभावित कर सकते हैं। इसलिए अपनी उपलब्धि के तौर विज्ञापन में भाजपा ( Bhartiya Janata party) इन्हीं मुद्दों के साथ आगे बढ़ रही है। ‌ इस नजरिया से देखा जाए तो इस बार फिर मोदी सरकार बनने की प्रबल संभावना नजर आ रही है। ‌ 

भाजपा को नुकसान पहुंचाने वाले मुद्दे

विपक्ष की भूमिका में भले ही कांग्रेस के राहुल गांधी सामने नजर आ रहे हैं लेकिन जनता क्या उन्हें पसंद कर रही है, इस पर भी सवाल उठ रहा है। लेकिन यहां एक बात स्पष्ट कर दे जिस तरह से कांग्रेस द्वारा लोकसभा चुनाव 2024 के लिए जारी किए गए मेनिफेस्टो (Congress manifesto 2024 for general election PDF file) में बेरोजगारी और महंगाई और न्याय के मुद्दे को प्रमुखता दी गई है, इन मुद्दों पर भाजपा को नुकसान हो सकता है। सवालउठना है कि बेरोजगारी और महंगाई एक बड़ा मुद्दा इस चुनाव में बन पाएगा। ‌

See also  CBSE Examination 2024 : परीक्षा में उत्तर लिखने का सही तरीका क्या है?

चुनाव की तारीखों की घोषणा हो गई 

18वीं लोकसभा के चुनाव यानी 2024 की तैयारी देशभर में धूमधाम से हो रही है। आपकी जानकारी के लिए बता दे 16 मार्च 2024 को लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा की गई है। ‌ चुनाव आयोग ज्ञानेश कुमार और सुखबीर सिंह सिंधू के साथ मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने चुनाव की तिथि घोषित की जा चुकी है।

चुनाव की तारीख 2024 एक नजर में 

सात चरणों में चुनाव आयोजित किया जाएगा। 

चुनाव के परिणाम 4 जून 2024 को जारी किया जाएगा।

केंद्र सरकार के साथ कुछ राज्यों के विधानसभा चुनाव इस बार एक साथ कराया जारहा है। 

चुनाव भारत (India general election 2024) में सबसे लंबी समय तक चलने वाला आम चुनाव होगा। 

कुल 44 दिन यह चुनाव चलेगा।

आपको बता दे कि 16 जून 2024 को 17वीं लोकसभा का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। ‌ केंद्र सरकार के चुनाव के साथ ही आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा और सिक्किम राज्यों में विधानसभा चुनाव भी आयोजित हो रहा है। 

पहले चरण का चुनाव 19 अप्रैल को 21 राज्यों के 102 सीटों पर मतदान किया जाएगा। 

दूसरे चरण में 26 अप्रैल को 12 राज्यों के 88 सीट के लिए मतदान का आयोजन होगा। 

7 मई 2024 को तीसरे चरण का चुनाव आयोजित होगा, जिसमें 12 राज्यों के 88 सीटों पर मतदान होगा। 

चौथे चरण का चुनाव 13 मई को 10 राज्यों के 96 सीटों पर वाटर अपना मत डालेंगे। 

पांचवें चरण का मतदान 20 मई को आठ राज्यों के 49 सीटों के लिए आयोजित होगा।

See also  CTET 2024 Admit Card जारी हुआ (लेटेस्ट अपडेट)

छठवें चरण का चुनाव 25 में को सात राज्यों के 57 सीटों पर मतदान आयोजित होगा। ‌

आखिरी (Last) सातवें चरण का चुनाव 1 जून को आठ राज्यों के 57 सीटों पर होगा। 

परिणाम (election result date) की तारीख 4 जून 2024 है।

पोटेंशियल सुपर पावर का अर्थ हिंदी में और भारतीय राजनीति में इसका महत्व

प्राइमरी के लिए BEd की जगह ITEP कोर्स योग्यता वाले टीचर बन सकेंगे, एडमिशन के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरें

Author Profile

Rinki pandey
रिंकी पांडेय पिछले 5 साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में राजनीति के विभिन्न मुद्दों पर अपने विचार प्रकट करती रही हैं। एक कुशल गृहिणी होने के साथ ही राजनीति की रिपोर्ट और खबरे में भी रुचि रखती हैं। अपने विचारों से अवगत कराने के लिए लिखना भी शुरू किया है। उनके विचार आम भारतीय के विचार भी हैं जो एक नए नजरिए समाज को प्रदान करता है। ‌ आपके लेखन को खूब पसंद किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी में बेस्ट करियर ऑप्शन, टिप्स CBSE Board Exam tips 2024 एग्जाम की तैयारी कैसे करें, मिलेगा 99% अंक