Education Knowledge Nibandh

Gandhi Jayanti 2022: 153वीं गांधी जयंती पर पढ़ें, बापू जी के अनमोल विचार

Gandhi Jayanti 2022: 152वीं गांधी जयंती पर पढ़ें



बापू जी के अनमोल विचार (thought of Gandhi) आइए जानें गांधी जी के संदेश हिंदी में और उनके विचार पढे़ं।


भारत के गुजरात राज्य के पोरबंदर डिस्ट्रिक्ट में जन्म लेने वाले गांधी जी के विचार (thought) पूरी दुनिया में अपनाए जाते हैं। 2nd October is the the birthday of Mahatma Gandhi everyone celebrate Gandhi Jayanti. 2021  गांधी जी के अनमोल विचारों  को संयुक्त राष्ट्र संघ भी अपनाता है। इसलिए 2 अक्टूबर के दिन अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस  (everyone celebrating  Mahatma Gandhi Jayanti as a International  non violence day.) के रूप में मनाने की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा शुरु हुआ है। महात्मा गांधी की 151वीं जयंती 2 अक्टूबर पूरे विश्व में मनाया जाता है। 


Mahatma Gandhi ji Jayanti 2021 

गांधी जी का जन्मदिन खुशियों का दिन है। every world citizen celebrate the non violence day 2 October 20021: दुनिया का कोई ऐसा कोना नहीं है जहां पर पढ़े-लिखे लोग महात्मा गांधी के बारे में न जानते हैं। everyone know about the Mahatma Gandhi belong the India and given Anmol thought.   महात्मा गांधी Mahatma Gandhi के सत्य और अहिंसा के विचारों को भली-भांति तरीके से जानते हैं।

महात्मा गांधी का परिचय

Mahatma Gandhi ke Anmol Vachan

जन्मतिथि date of birth Mahatma Gandhi

2 अक्टूबर अट्ठारह सौ उन्नहतर 1869 ई०

जन्म स्थान the birthplace of Mahatma Gandhi 

भारत के गुजरात राज्य में स्थित पोरबंदर जिला 

पिता का नाम  father name 

करमचंद गांधी

माता का नाम name of mother 

पुतलीबाई

शिक्षा दीक्षा education

अल्फ्रेड हाई स्कूल, राजकोट, यूनिवर्सिटी कॉलेज, लन्दन


महात्मा गांधी हिंदी निबंध महात्मा गांधी जयंती 2 अक्टूबर

Mahatma Gandhi Jayanti : दोस्तों 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की जयंती Gandhi Jayanti है। इस दिन को अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस  International  non violence day  के रूप में मनाया जाता है। पूरी दुनिया में महात्मा गांधी का सबसे श्रेष्ठ स्थान है। महात्मा गांधी अपने विचारों (Mahatma Gandhi thought) से दुनिया को प्रभावित किया है। सत्य और अहिंसा के उनके विचार (the thought of non violence)  भारतीय संस्कृति की आत्मा है, जो वेदों और बौद्ध साहित्य में  बताया गया है।  

अपने विचारों से प्रभावित करने वाले महात्मा गांधी दुनिया के हर विश्वविद्यालय में  पढ़ाए जाते हैं। Mahatma Gandhi ke Anmol vichar पर हजारों लोगों ने डॉक्टरेट की डिग्री यानी पीएचडी की है। उनका सत्याग्रह Satyagraha का सबसे पहला प्रयोग अफ्रीका की धरती पर सफल हुआ था। अफ्रीका के मूल निवासियों और वहां पर रहने वाले भारतीयों पर गोरे अंग्रेज भेदभाव करते थे। उन पर जुल्म करते थे। गोरे अंग्रेजों के खिलाफ उन्होंने आवाज उठाई और अफ्रीका के मूल निवासियों और वहां रहने वाले भारतीयों को सम्मान की  जिंदगी दिलाई। 

अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने उस समय इस बात को प्रमुखता से प्रचारित किया था और फिर गांधी जी जब अपने स्वदेश (भारत) लौटकर आए तो उन्होंने यहां पर अंग्रेजों  द्वारा भारतीयों पर हो रहे अत्याचार से बड़ा दुखी थे। भारत को आजाद कराने के लिए हम सबके चहेते महात्मा  गांधी ने अपना सब कुछ न्योछावर  करने का प्रण लिया। 

 

The thought of Satya aur Ahinsa by Mahatma Gandhi nibandhin hindi


सत्य और अहिंसा के अपने विचार के बल पर उन्होंने भारत को एकता के सूत्र में स्थापित किया।

 (Father of Nation nahatma Gandhi) महात्मा गांधी के प्रति देशवासियों का प्रेम और भारत की आजादी के लिए उनका संघर्ष अंग्रेजों की आंख की किरकिरी बन गयी।

 इधर उत्साही युवाओं ने क्रांति का नारा देकर अंग्रेजो के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) भगत सिंह (Bhagat Singh)  अशफाक उल्ला खां  जैसे युवा क्रांतिकारियों ने अंग्रेजों (British Empire) के नाक में दम कर दिया था। भारत में आजादी की क्रांति की खबर इंग्लैंड पहुंच गयी। अब अंग्रेज समझ गए थे कि भारत में एक पल भी नहीं रह पाएंगे। इसके बाद उन्होंने भारत छोड़ने  की घोषणा की। 15 अगस्त 1947 को भारत को आजादी मिल गई। 


गांधी जी का संदेश 


 दोस्तो! हमारे  बच्चों और युवाओं के दिलों- दिमाग में भारत की आजादी के लिए संघर्ष करनेवाले वीर स्वतंत्रता सेनानियों (Indian freedom fighter) की कुर्बानी का ज्ञान होना जरूरी है।  the father nation of Mahatma Gandhi के योगदान और बलिदान को  हमेशा हमें याद रखना चाहिए ताकि हमारी पीढ़ी अपनी आजादी और अपनी संस्कृति की अस्मिता की रक्षा कर सकें।

 इसलिए 2 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस  International non violence day के रूप में गांधी जयंती Mahatma Gandhi birthday  पूरी दुनिया में मनाई जाती है।

 महात्मा गांधी के संदेश विचारों the great thought  प्रमुख बातें सत्य, अहिंसा सत्याग्रह, स्वराज और हिंदी को राष्ट्रभाषा  का दर्जा दिलाने इत्यादि है।    इसके अलावा उन्होंने शैक्षिक, आर्थिक, राजनीतिक, प्रदूषण से रोकथाम के लिए, भारतीय संस्कृति, मानवता, सर्वोदयवाद, मानव सम्मान इत्यादि ऐसे अनेक विचार दिएँ, जो  पूरी दुनिया के लिए बहुत उपयोगी हैं। इन विचारों का स्रोत भारतीय संस्कृति ही है,  इसलिए हमें  महात्मा गाँधी Mahatma Gandhi  जी पर गर्व करना चाहिए। 


  30 जनवरी 1948 को हम सब को छोड़कर  महात्मा गांधी इस दुनिया से विदा हो गए।  लेकिन उनके विचार mahatma gandhi anmol vichar आज भी हम भारतीयों और पूरी दुनिया को सत्य और अहिंसा के मार्ग पर ले जा रही है। लोकतांत्रिक व्यवस्था और नागरिक अधिकार के लिए उनके सिद्धांत आज ही पूरी दुनिया के लिए आदर्श है। 


 आइए आज! 2 अक्टूबर के दिन महात्मा गांधी के अनमोल वचन और संदेशों (mahatma gandhi ke anmol vachan) को पढ़ें और महात्मा गांधी को याद करते हुए श्रद्धांजलि दीजिए। 

 



महात्मा गांधी के अनमोल विचार (Gandhi Jayanti 2021)


इंसान अपनी सोच से बना हुआ एक प्राणी है वह जैसा सोचता है वैसा ही बन जाता है। 


जो काम आप  खुद  कर सकते हैं वह काम दूसरों से ना करवाएं।


शारीरिक उपवास के साथ-साथ मन का उपवास न हो तो वह दुर्भाग्य पूर्ण और हानिकारक हो सकता है।


आप नम्र तरीके से दुनिया को हिला सकते 


शुद्ध हृदय से निकला हुआ वचन कभी निष्फल नहीं होता।


जो डरता है वह खोता है।


मनुष्य जब एक नियम तोड़ता है तो बाकी अपने आप टूट जाते हैं।


अपनी बुराई हमेशा सुनें, अपनी तारीफ कभी न सुनें ।


अपनी बुराई हमेशा सुनें, अपनी तारीफ कभी न सुनें।


WITHOUT ACTION, YOU AREN’T GOING ANYWHERE


FREEDOM IS NOT WORTH HAVING IF IT DOES NOT INCLUDE THE FREEDOM TO MAKE MISTAKES

About the author

admin

Hello friends!
New Gyan tells the words of knowledge with educational and informative content in Hindi & English languages. new gyan website tells you new knowledge. This is an emerging Hindi & English website in the Internet world. Educational, knowledge, information etc. new knowledge, new update, new method in a very simple and easy way.
Founder of Blog Founder of New gyan.

A. K Pandey - Teacher, Writer - Journalist, Blog Writer, Hindi Subject - Expert with more than 15 years of experience. Articles on various topics have been published in various magazines and on the Internet.
Educational Qualification- Master of Art. Professional Qualification-
Diploma in Journalism from Allahabad University, Master of Journalism and Mass Communication, B.Ed.

Leave a Comment