Hindi

मे उनमे इनमे मै मे bindu (अनुस्वार) या chandrabindu (अनुनासिक) क्यों नहीं लगता

hindi grammar me main chandrbindu error

 Me, mai, inme, uname, Bindu ya chandrabindu kyon nahin lagta hai | मे उनमे इनमे मै मे बिन्दु (अनुस्वार)  या चन्द्रबिन्दु (अनुनासिक) क्यों नहीं लगता है।chandra bindu in hindi why not used anuasik anuswar में मैं मे बिंदु क्यों नहीं लगता है, क्यों? इस आर्टिकल में यह बताएँगे.

मे, मै मे चन्द्रबिंदु या बिंदु लगेगा? Hindi mein chandrabindu kab lagana chahie kab nahin?

Hindi spelling mistake: किसी भी शब्द के पंचमाक्षर (pancmakshar) पर कोई भी बिन्दी अथवा चन्द्रबिन्दी (Hindi Chandra bindi kya hai) नहीं लगती है। इसका कारण क्या है आइए विस्तार से हम आपको बताएं। क्योंकि ये दोनो अनुनासिक और अनुस्वार उनमे निहित हैं। हिंदी भाषा वैज्ञानिक भाषा है। इसके विज्ञान शास्त्र को देखा जाए तो जो पंचमाक्षर होता है उसमें किसी भी तरह का चंद्रबिंदु (chandrabindu) और बिंदु नहीं लगता है क्योंकि उसमें पहले से ही उसकी ध्वनि होती है। पांचवा अक्षर वाले शब्द पर चंद्रबिंदु और बिंदु नहीं लगाया जाता है। जैसे उनमे, इनमे, मै, मे कुछ शब्द है जिनमें चंद्र बिंदु बिंदु के रूप में लगाया जाता है लेकिन म पंचमाक्षर है। 

Hindi main panchma Akshar kise kahate Hain?

 

 

‘म’ पंचमाक्षर pancman Akshar है यानी पांचवा अक्षर है। यहां अनुनासिक और अनुस्वार नहीं लगेगा। क्योंकि पंचमाक्षर में खुद ही यह उच्चारण में पहले से होता है। पंचमाक्षर पांचवां अक्षर मे, मै, उनमे, इनमे, किनमे, 

 पंचमाक्षर अक्षर कौन-कौन से होते हैं? panchama Akshar in Hindi

कौन-कौन se panchma Akshar hai? वर्णमाला (alphabet in Hindi) के हर वर्ग के पांचवें वर्णों के समूह को पंचमाक्षर या पंचमाक्षर’ कहते हैं। (पञ्चमाक्षर = पञ्चम अक्षर = पाँचवाँ अक्षर)। देवनागरी में ङ, ञ, ण, न और म पंचमाक्षर होते हैं। सर स्वयं अनुनासिक और अनुस्वार हैं। मतलब की चन्द्रबिन्दु  और बिन्दु का उच्चारण वाले होते हैं। इसलिए यहां पर यह नहीं लगता है। जैसे मैं ग़लत है; मैं सही है। नही ग़लत है। नहीं सही है; क्योंकि ह अक्षर शब्द पांचवां यानी पंचमाक्षर नहीं है। नहीं है और इसमें अनुनासिक का प्रयोग हुआ है जो बिंदु के रूप में कारण होता है जबकि यहा चंद्रबिन्दु होता है इसलिए यह इस तरह से सही होगा।

 नहीं में ह पंचमाक्षर नहीं है‌‌। अनुनासिक और अनुस्वार का उच्चारण आता है तो हिंदी मे उनमे बिन्दु और चंद्रबिन्दु लगाया जाता है- 

नहीं, किन्हीं
इसमे अंतिम अक्षर है। इसलिए इसमे बिंदी लगा हुआ है, यह सही है। क्योंकि ह पंचमाक्षर नहीं है। ‘व’ भी पंचमाक्षर नहीं है

*

*

 

हिंदी वर्णमाला के वर्ग में कौन-कौन से पांचवां अक्षर हैं?


क वर्ग मे  पांचवां अक्षर

च वर्ग मे  पांचवां अक्षर ञ

ट वर्ग मे  पांचवां अक्षर ण

त वर्ग मे पांचवां अक्षर न

प  वर्ग मे  पांचवां अक्षर म

 वर्णमाला से संबंधित पीडीएफ डाउनलोड करे
अनुनासिक स्वर किसे कहते हैं? Hindi mein anunasik kise kahate Hain anunasik likhate samay savdhani

 जिस वर्ण में चंद्रबिन्दु लगा होता है, उसे अनुनासिक को अक्षर  कहते हैं। (Hindi mein chandrabindu jo Laga hota use anunasik kahate Hain.)

शब्दों का उच्चारण मे हवा नाक और मुंह दोनों से बाहर निकलती है।  गाँव village, मुँह mouth, धुँधले unclear, कुआँ, चाँद moon, भाँति justlike, काँच glass.

Rashtrapati ka Arth Hindi राष्ट्रपति शब्द का अर्थ, समास

About the author

admin

नमस्कार दोस्तो!
New Gyan हिंदी भाषा में शैक्षणिक और सूचनात्मक विषयवस्तु (Educational and Informative content) के साथ ज्ञान की बातें बतलाता है। हिंदी-भाषा में पढ़ाई-लिखाई, ज्ञान-विज्ञान, साहित्य, तकनीक आदि newgyan website नया ज्ञान आपको बताता है। इंटरनेट जगत में यह उभरती हुई हिंदी की वेबसाइट है। हिंदी भाषा से संबंधित शैक्षिक (Educational) साहित्य (literature) ज्ञान, विज्ञान, तकनीक, सूचना इत्यादि नया ज्ञान, new update, नया तरीका बहुत ही सरल सहज ढंग से प्रस्तुत करते हैं।
ब्लॉग के संस्थापक Founder of New gyan
अभिषेक कांत पांडेय- शिक्षक, लेखक- पत्रकार, ब्लॉग राइटर, हिंदी विषय -विशेषज्ञ के रूप में 15 साल से अधिक का अनुभव है। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं और इंटरनेट पर विभिन्न विषय पर लेख प्रकाशित होते रहे हैं।
शैक्षिक योग्यता- इलाहाबाद विश्वविद्यालय से फिलासफी, इकोनॉमिक्स और हिस्ट्री में स्नातक। हिंदी भाषा से एम० ए० की डिग्री। (MJMC, BEd, CTET, BA Sanskrit)
प्रोफेशनल योग्यता-
इलाहाबाद विश्वविद्यालय से पत्रकारिता मे डिप्लोमा की डिग्री, मास्टर आफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन, B.Ed की डिग्री।
उपलब्धि-
प्रतिलिपि कविता सम्मान
Trail social media platform writing competition winner.
प्रतिष्ठित अखबार में सहयोगी फीचर संपादक।
करियर पेज संपादक, न्यू इंडिया प्रहर मैगजीन समाचार संपादक।

Leave a Comment