लाइफस्टाइल

What is power nap Take a power nap if you want to stay freshक्या है पावर नैप फ्रेश रहना है तो पावर नैप लीजिए पावर नैप के फायदे

क्या है पावर नैपफ्रेश रहना है तो पावर नैप लीजिएपावर नैप के फायदे


What is power nap
Take a power nap if you want to stay fresh
Benefits of power nap

ऑफिस में काम करने के दौरान झपकी लेने को भले ही काम के प्रति लापरवाही से जोड़कर देखा जाए लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है। इससे आपकी वर्किंग पावर पर पॉजिटिव इफेक्ट पड़ता है।

ऑफिस में कुछ देर की झपकी लंबे समय तक काम करने के कारण होने वाली शारीरिक और मानसिक थकान को दूर कर देती है। इसका व्यक्ति की याददाश्त, सोचने, समझने की शक्ति और वर्किंग पावर पर काफी अच्छा प्रभाव पड़ता है।

छोटी सी झपकी कितने फायदेमंद है आओ जाने


टेंशन फ्री

लगातार काम के दबाव के चलते तनाव और परेशानी होना आम बात है इसका असर हमारे ब्रेन पर पड़ता है और हम थके थके से रहते हैं। अपनी पावर और एनर्जी को रिचार्ज करने के लिए झपकी लेना जरूरी हो जाता है। जब कभी आप टेंशन में या थके हुए फील करे तो बस अपनी टेबल पर सिर टिकाए और जरा सी देर के लिए एक झप्पकी ले लीजिए।

जबकि आपको रखती है सजग


अगर रात को आपकी नींद पूरी नहीं हुई तो जाहिर है ऑफिस में आपके काम पर इसका असर पड़ता है। अपने काम के बीच में जरा सी झपकी आपको सावधान और सजग करने में मदद करती है।

मेमोरी पर इसका पॉजिटिव इफेक्ट पड़ता है
थकान दिमाग मेमोरी पावर को कमजोर बना देती है। दिमाग आसानी से कुछ भी सीख नहीं पाता है। पावर नैप यानी झपकी आपके मस्तिष्क की सेल को और मसल्स को रिलीफ करती है यानी आराम पहुंचाती है।
थका हुआ दिमाग विषाक्त पदार्थ का निर्माण करने लगता जिससे मस्तिष्क की कार्यक्षमता पर नेगेटिव इफेक्ट पड़ता है।
आप थके थके और सुस्त रहने लगते हैं। थोड़ी देर की झपकी ब्रेन की सेल्स को राहत पहुंचाती है और आपको रखती है टेंशन फ्री।

दिल को बेहतर बनाता है


थके हुए मन और शरीर का नकारात्मक प्रभाव आपके होंठ पर भी पड़ता है इसलिए जब किए थे पर पड़ने वाली अतिरिक्त दबाव को दूर करती है या दिल की धड़कन को भी कंट्रोल करती है और साथ ही ब्लड प्रेशर को भी सामान रखती है। 
जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती है उन्हें हमेशा नेप लेने की सलाह दी जाती है, यानी एक छोटी सी झपकी आपके ब्लड प्रेशर को सामान्य बना देती है।

और मूड रहता है फ्रेश


कुछ देर की झपकी आपके मूड को भी फ्रेश बनाए रखती है। यह उन लोगों के लिए खास तौर पर मददगार है, जो अधिक दबाव में काम करते हैं। नाइट शिफ्ट में काम करने वाले विद्यार्थी और मीडिया कर्मी के लिए खास तौर पर मददगार है। पावर नैप इनके मन और शरीर को शांत रखने  में मदद करती है।

कितना ले झपकी (नैप) और कितना होगा इसका असर आइए जाने पॉइंट में

छोटी सी झपकी आपको बनाए फ्रेश

10 से 20 मिनट की झपकी

 इसे नैनो नैप कहते हैं नैनो नैट लेने से कंधों पर पड़ने वाले तनाव से राहत मिलती है।

2 से 5 मिनट की झपकी 

इसे माइक्रो नैप कहते हैं इससे आलस दूर रहता है और बने रहते हैं आप तरोताजा।


5 से 18 मिनट की झपकी

 इसे मिनी नैप कहते हैं। मिनी नैप लेने से व्यक्ति की अवरनेंस  और वर्किंग पावर पर अच्छा असर पड़ता है। मेमोरी भी दुरुस्त रहती है।

20 मिनट की झपकी

 इसे पावर नैप कहते हैं पावर नैप लेले से व्यक्ति को माइक्रो मिनी दोनों नैप्स के मिलते हैं फायदें।
यह भी पढ़ें
छोटी सी झपकी आपको बनाए फ्रेश
रिसर्च लिखने और पढ़ने में दिमाग अलग-अलग तरह से सोचता है

मैथ का भूत हटाओ ये टिप्स अपनाओ

मातापिता चाहते हैं कि उनका बच्चा अच्छी आदतें सीखें और अपने पढ़ाई में आगे रहें, लेकिन आप चाहे तो बच्चों में अच्छी आदत का विकास कर सकते ..

प्यार में धोखा: कारगर टिप्स

About the author

admin

नमस्कार दोस्तो!
New Gyan हिंदी भाषा में शैक्षणिक और सूचनात्मक विषयवस्तु (Educational and Informative content) के साथ ज्ञान की बातें बतलाता है। हिंदी-भाषा में पढ़ाई-लिखाई, ज्ञान-विज्ञान, साहित्य, तकनीक आदि newgyan website नया ज्ञान आपको बताता है। इंटरनेट जगत में यह उभरती हुई हिंदी की वेबसाइट है। हिंदी भाषा से संबंधित शैक्षिक (Educational) साहित्य (literature) ज्ञान, विज्ञान, तकनीक, सूचना इत्यादि नया ज्ञान, new update, नया तरीका बहुत ही सरल सहज ढंग से प्रस्तुत करते हैं।
ब्लॉग के संस्थापक Founder of New gyan
अभिषेक कांत पांडेय- शिक्षक, लेखक- पत्रकार, ब्लॉग राइटर, हिंदी विषय -विशेषज्ञ के रूप में 15 साल से अधिक का अनुभव है। विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं और इंटरनेट पर विभिन्न विषय पर लेख प्रकाशित होते रहे हैं।
शैक्षिक योग्यता- इलाहाबाद विश्वविद्यालय से फिलासफी, इकोनॉमिक्स और हिस्ट्री में स्नातक। हिंदी भाषा से एम० ए० की डिग्री। (MJMC, BEd, CTET, BA Sanskrit)
प्रोफेशनल योग्यता-
इलाहाबाद विश्वविद्यालय से पत्रकारिता मे डिप्लोमा की डिग्री, मास्टर आफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन, B.Ed की डिग्री।
उपलब्धि-
प्रतिलिपि कविता सम्मान
Trail social media platform writing competition winner.
प्रतिष्ठित अखबार में सहयोगी फीचर संपादक।
करियर पेज संपादक, न्यू इंडिया प्रहर मैगजीन समाचार संपादक।

Leave a Comment