Alankar hindi objective question answer CBSE Class 9, 10, 11, 12 सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Alankar hindi objective question answer CBSE Class 9, 10, 11, 12

  Alankar hindi objective question answer  CBSE Class 9, 10, 11, 12

अलंकार Alankar# Cbse# 

Multiple and objective Question very Impotent for you. Given Question Answer for total syllabus of CBSE Class 9 to 12 अलंकार पर आ​धारित प्रश्न सीबीएसई बोर्ड के न्यू पैटर्न पर। कक्षा 9 के सिलेबस में है। कक्षा 10 में भी अलंकार से प्रश्न पूछ लेता है। ये प्रश्न अपछित काव्यांश या पठित कविता में से अलंकार पहचानने वाला प्रश्न होता है।

 Alankar-hindi-objective-question-answer-CBSE-Class-9-10-11-12

  1. अलंकार काव्य के सौंदर्य में अभिवृद्धि करते हैं। काव्य की शोभा अलंकार बढ़ाता है।
  2. अलंकार के दो भेद होते हैं- 1. शब्दालंकार 2. अर्थालंकार
  3. जहाँ पर वर्णों की आवृत्ति अनुप्रास अलंकार कहलाती हैं। यहां पर वर्ण का मतलब अक्षर से है।
  4. एक शब्द का अलग अलग अर्थ में एक से अधिक बार प्रयोग यमक अलंकार कहलाता है।इसे सरल भाषा में समझें—अर्थात जब एक ही शब्द एक या दो से अधिक बार आता है परंतु उसके मतलब अलग अलग होता है। तो उसे कहते हैं।
  5.  जहाँ एक शब्द एक ही बार प्रयोग में आए लेकिन उसका अर्थ अलग-अलग हो तो उसे श्लेष अलंकार कहते हैं। श्लेष शब्द का शाब्दिक अर्थ होता है— चिपका हुआ। यहां पर एक ही शब्द में कई अर्थ होते हैं।
  6.  अत्यंत सादृश्यता के कारण (यानि समानता यानि एक जैसा बताने के लिए)  एक वस्तु या प्राणी की तुलना दूसरी प्रसिद्ध वस्तु या प्राणी से की जाती है तो यह तुलना उपमा अलंकार कहलाता है।
  7.  जहाँ अत्यंत समानता के कारण उपमान का आरोप कर अभेद कर दिया जाए वहां रूपक अलंकार होता है। सरल शब्दों में उपमेय यानी साधारण वस्तु और विशिष्ट वस्तु की तुलना करते समय दोनों का भेद खत्म हो जाए जिसे परिभाषा में अभेद आरोप कहा गया है। उदाहरण देखें—
    मैया मैं तो चंद्र—खिलौना लैहों।
    यहाँ चंद्रमा और खिलौना में कोई भेद नहीं रह जाता है। यानि अभेद आरोप हो गया है। इसलिए ये रूपक अलंकार हुआ।

  8. जहाँ उपमें में उपमान की संभावना व्यक्त की जाती है, उसे उत्प्रेक्षा अलंकार कहते हैं।
  9.  जहाँ जड़ और चेतन का आरोप हो वहाँ मानवीकरण अलंकार होता है।
  10. जब किसी वस्तु पदार्थ अथवा बातों को बढ़ा चढ़ाकर कहा जाए, वहां अतिशयोक्ति अलंकार होता है।


अलकांर के संबधित प्रश्न जिसमें इन टॉपिक को कवर किया गया है। अलंकार 

  Alankar-hindi-objective-question-answer-CBSE-Class-9-10-11-12
अलंकार की परिभाषा

काव्य की शोभा बढ़ाने वाले तत्त्वों को अलंकार कहते हैं। अलंकार के दो भेद हैं-

    शब्दालंकार— जहां शब्दों के चत्मकार के कारण काव्य की शोभा बढ़ती है, उसे शब्दालंकार कहते हैं। जैसे— कंकन किंकिन नूपुर धुनि सुनि।

यहाँ पर ‘न’ की आवृत्ति पाँच बार हुई है। इसलिए यह इन काव्य पंक्तियों में अनुप्रास अलंकार है।
शब्दालंकार के भेद—
अनुप्रास अलंकार Anuprash Alankar
यमक अलंकार Yamak alnkar
श्लेष अलंकार shlesh alankar

 
    अर्थालंकार— जहाँ अर्थों के चत्मकार के कारण काव्य की शोभा बढ़ती है, उसे अर्थालंकार कहते हैं।
प्रमुख अर्थालंकार हैं— उपमा अलंकार
रूपक अलंकार`
उत्प्रेक्षा अलंकार
मानवीकारण अलंकार
अतिशयोक्ति अलंकार

 Alankar-hindi-objective-question-answer-CBSE-Class-9-10-11-12

ऊपर अलंकार Alankar Relted से रिलेटेड टॉपिक दिया है। ये टापिक  CBSE BOARD के अलंकार Alnakar के हिन्दी के सिलेबस से लिया गया है। class 9, 10, 11, 12  में Question पूछे जाते हैं। अलंकार (Alankar) से जितने भी ऑब्जेक्टिव टाइप के क्वेश्चन (Objective Type Question) बनते हैं, उसे उत्तर सहित दिया गया है। जब तक प्रश्न का उत्तर नहीं करते हैं, तब तक इसमें महारत हासिल नहीं होती है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन आंसर, फिल द ब्लैंक्स और सही गलत क्वेश्चन आंसर दिया गया आप इसे सॉल्व करें और अपने उत्तरों से मिलान करें।

 

निम्नलिखित पंक्तियों में कौन सा अलंकार है-


1 उदित उदयगिरि मंच पर रघुवर बाल पतंग।
विकसे संत—सरोज सब, हरषे लोचन—भृंग।।


Answer- रूपक अलंकार


व्याख्या—इस दोहे में उदयगिरि को मंच कहा गया है। रघुवर पर बाल पतंग यानी जिसका मतलब सूर्य संतों पर सरोज का और लोचनों यानी आंख पर भृंगों यानी भंवरों का अभेद आरोप हो जाता है, इसलिए रूपक अलंकार है।


अगर आप इस दोहे का अर्थ पढ़ना चाहे तो अलंकार स्पष्ट हो जाएगा। आप दूसरे प्रश्न पर आगे पढ सकते हैं।


भावार्थ — प्रकरण यह है कि ये दोहा है। सीता स्वयंर के समय है। जब राजा जनक की सभी में सभी उपस्थित है। भगवान शिव का धनुष तोड़ने के लिए श्री राम अपने गुरु से अनुमति लेते हैं।  इसी अवसर के बारे में तुलसीदास जी लिखते हैं कि जब सूरज का उदय होता है तब रोशनी इतनी तीव्र होती है कि चकाचौंध के कारण हम स्पष्ट देख नहीं पाते हैं। परंतु जब सूर्य अपनी पूरी अवस्था में चमकने लगता है। मतलब यह है कि दोपहर के 12:00 बजे तो देखना और भी कठिन हो जाता है।
श्रीराम जी बालक रूपी सूरज के समान है। जबकि शिव का धनुष्य दोपहर के तेज सूर्य की भांति चमकता हुआ दिखाई दे रहा है। इस तरह तुलसीदास कहते हैं कि हम श्रीराम जी के सुंदर तेज को सहन कर पा रहे हैं। सभा में रखे शिव रखे धनुष की तीव्रता हमारी आंखें बर्दाश्त नहीं कर पा रही है। आंखें चौंधिया जा रही हैं। यहां पर उदयगिरी के मंच पर बाल—पतंग आदि शब्दों के माध्यम से रूपक गढ़ा गया है इसलिए रूपक अलंकार की छटा बिखरी हुई है।

2. आए महंत बसंत कौन—अलंकार है?

Anser- मानवीकरण अलंकार है। 

क्योंकि बसंत को मानव की तरह कहा है।

 

3. जिस वीरता से शत्रुओं का सामना उसने किया।
 असमर्थ हो उसके कथन में मौन वाणी ने लिया।।

 इन पंक्तियों में कौन सा अलंकार है?

 Answer- अतिशयोक्ति अलंकार

 Explation- मैथिलीशरण गुप्त की रचना जयद्रथ-वध से पंक्तियां ली गईं। इन पंक्तियों में युद्ध में वीरता का वर्णन किया गया है और इसके उत्तर में कहा गया ​कि युद्ध में उसकी वीरता को किसी शब्दों में बखान नहीं किया जा सकता है। यहां पर बात बढ़ा—चढ़ा कर कही जा रही है। इसलिए यहाँ  अतिशयोक्ति अलंकार है।

अलंकार से सबंधित खाली स्थान भरो प्रश्नों पर प्रेक्टिस की कजिए नीचे की की वर्ड दिया है। वाक्य के खाली स्थान पर कौन—सा उचित शब्द आएगा बताइए।

दिए गए इन शब्दों को वाक्य के खाली स्थान (Fill in the Blanks) पर उचित शब्द भरिए। ​

मानवीकरण अलंकार, संभावना, उपमा अलंकार, श्लेष अलंकार, अभिवृद्धि, अलंकार, चिपका हुआ, आवृत्ति, यमक अलंकार,रूपक अलंकार,

  नीचे आंसर दिया है, अपने उत्तरों को चेक जरूर करें।

 
1 अलंकार काव्य के सौंदर्य में—————— करते हैं।

2 काव्य की शोभा ————— बढ़ाता है।


3 वर्णों की ————— अनुप्रास अलंकार कहलाती हैं।


4 एक शब्द का अलग अर्थ में एक से अधिक बार प्रयोग ————— कहलाता है।


5 जहां एक शब्द एक ही बार प्रयोग में आए लेकिन उसका अर्थ अलग-अलग हो तो उसे ———— हैं।

 
6 श्लेष शब्द का शाब्दिक अर्थ——————होता है। 

7 अत्यंत समानता के कारण एक वस्तु या प्राणी की तुलना दूसरी प्रसिद्ध वस्तु या प्राणी से की जाती 

है तो यह तुलना ———— कहलाता है।


8 जहाँ अत्यंत समानता के कारण उपमान का आरोप कर अभेद कर दिया जाए वहां ———— होता है।


9 जहाँ उपमें में उपमान की ———— व्यक्त की जाती है, उसे उत्प्रेक्षा अलंकार कहते हैं।


10 जहाँ जड़ और चेतन का आरोप हो वहाँ ————— होता है।

Please check your Answer

 नीचे आंसर दिया है, अपने उत्तरों को चेक जरूर करें।

1 अभिवृद्धि
2 अलंकार
3 आवृत्ति
4 यमक अलंकार
5 श्लेष अलंकार
6 चिपका हुआ
7 उपमा अलंकार
8 रूपक अलंकार
9 संभावना
10 मानवीकरण अलंकार

 

आशा है कि  CBSE Board Alnkar Hidi objective  question class 9 10 11 12 के लिए बहुत उपयोगी है। इस questions answer से आपको अलंकार समझ में आया होगा।

Manviya Karuna Ki Divya Chamak MCQ CBSE Class 10



Cbse board class 10th hindi Multiple choice question answer hindi subjects 2020-21

Sandesh Lekan Hindi CBSE board  class 10, new syllabus  

 

newgyan.com

टिप्पणियां

Popular Article

लघु-कथा' CBSE BOARD CLASS 9 NEW SYLLABUS LAGHU KATHS LEKHAN

'लघु-कथा' CBSE BOARD CLASS 9 NEW SYLLABUS LAGHU KATHA LEKHAN  लघु और कथा शब्द से मिलकर बना हुआ है। लघु का अर्थ होता है- छोटा और कथा का अर्थ होता है-कहानी। इस तरह लघुकथा का अर्थ हुआ कि 'छोटी कहानी'। छात्रों हिंदी साहित्य को दो भागों में बाँटा गया है, पहला गद्य साहित्य और दूसरा काव्य साहित्य।  गद्य साहित्य के अंतर्गत कहानी, नाटक, उपन्यास, जीवनी, आत्मकथा विधाएँ आती हैं। इसी में लघु-कथा विधा भी 'गद्य साहित्य' का एक हिस्सा है। कहानी उपन्यास के बाद यह विधा सर्वाधिक प्रचलित भी है। आधुनिक समय में इंसानों के पास समय का अभाव होने लगा और वे कम समय में साहित्य पढ़ना चाहते थे तो  'लघु-कथा' का जन्म हुआ। लघु कथा की परंपरा हमारे संस्कृति में 'पंचतंत्र' और 'हितोपदेश' की छोटी कहानियों  से भी  रही है। इन कहानियों को लघु-कथा भी कह सकते हैं। आपने भी छोटी-छोटी लघु कहानियाँ अपने बड़ों से जरूर सुनी होगी।  'पंचतंत्र' में इस तरह की लघु-कथाओं में जीव-जंतु यानी जानवरों और पक्षियों के माध्यम से मनुष्य को नीति की शिक्षा यान

Laghu Katha Lekhan CBSE Board

    लघु कथा कैसे लिखें, उदाहरण से समझें CBSE board hindi  प्रस्थान बिंदु के आधार पर लघु कथा (laghu katha)  लिखना। CBSE Board 9th class Laghu Katha lekhan दसवीं बोर्ड की कक्षा 9 के सिलेबस में और कई  बोर्ड की परीक्षा में इस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं।  (new syllabus 2020 Laghu Katha lekhan)    दिए गए प्रस्थान बिंदु (prasthan Bindu) का मतलब है कि दो या चार लाइन लघुकथा के दिए होते हैं। उसके बाद आपको 80 से 100 शब्दों में लघुकथा को पूरा करना होता है। उसका एक शीर्षक (title) लिखना होता है।  नई शिक्षा नीति 2020 (New Education Policy) में भाषा में रचनात्मक लेखन (Creative Writing) को बढ़ावा दिया गया है। इसलिए  हिंदी Hindi, अंग्रेजी, मराठी  उर्दू किसी भी भाषा के पेपर में संवाद लेखन, लघुकथा, लेखन अनुच्छेद, (anuchchhed lekhan) लेखन विज्ञापन लेखन, (Vigyapan lekhan) सूचना लेखन (Hindi mein Suchna lekhan) जैसे टॉपिक में नई शिक्षा नीति के ( new education policy 2020) अंतर्गत सिलेबस में रखे गए हैं।  लघुकथा लेखन 9 व 10 की परीक्षा में पूछा जाता है Laghu katha lekhan in Hindi in board examination आप ह

Sandesh Lekan Hindi CBSE board class 10, new syllabus

   Message Writing : संदेश लेखन का प्रारूप व उदाहरण Sandesh Lekan Hindi CBSE board class 10, new syllabus New syllabus CBSE board, New Topic Sandesh Lekhan  आज हम संदेश लेखन  (message writing) के बारे में चर्चा करेंगे।  कई बोर्ड की परीक्षाओं में (CBSE board MP Board UP Board) और कंपटीशन यह आजकल संदेश लेखन पर प्रश्न आता है। इन प्रश्नों को करने के लिए आपको संदेश लेखन का ज्ञान होना जरूरी है। सीबीएससी बोर्ड के हाईस्कूल में इस बार संदेश लेखन 5 अंक का बोर्ड की परीक्षा में आएगा।   नई एजुकेशन पॉलिसी  (new education policy 2020) में  कई सब्जेक्ट  के सिलेबस में बदलाव होने वाला है। रटने की जगह समझने वाली और व्यवहारिकता कुशलता बढ़ाने वाली। इसीलिए इस बार CBSE बोर्ड की परीक्षा के सिलेबस में बदलाव किया गया है।  लेखन करना आपको आना चाहिए। जिसमें पत्र लेखन (letter writing in Hindi), अनुच्छेद लेखन (paragraph writing in Hindi), संदेश लेखन (message writing), सूचना लेखन, संवाद लेखन (dialogue writing in Hindi), सार लेखन (summary writing in Hindi) इन सब की जरूरत  पढ़े लिखे इंसान को पड़ती  है।  लेखन  कार्यालय

Laghu katha prasthan bindu ke adhar per kaise likhe/ लघु कथा प्रस्थान बिंदु के आधार पर कैसे लिखें?

    लघु कथा प्रस्थान बिंदु के आधार पर कैसे लिखें? Laghu katha prasthan bindu ke adhar per kaise likhe लघुकथा लेखन उदाहरण सहित    कई बोर्ड की परीक्षाओं (board examination CBSE board) में लघुकथा (laghu Katha) लिखने को दिया जाता है। स्टेट बोर्ड (State board) की परीक्षा में भी लघुकथा पर प्रश्न (question of laghu katha) पूछता है। लघु कथा कैसे लिखा (How To write short story in hindi) जाए? आज हम laghu katha टॉपिक पर चर्चा करने जा रहे हैं। छात्रों सीबीएसई बोर्ड की कक्षा 9 के नए (CBSE board syllabus class 9 session 2020-21) सिलेबस 2020 के अनुसार हिंदी यह पाठ्यक्रम में प्रस्थान बिंदु के आधार पर लघु कथा लिखने का प्रश्न इस बार आएगा। CBSE class 10 B hindi syllabus. लघु कथा लेखन पूछा जाता है। According to the new syllabus 2020 of class 9 of CBSE board students, this question of writing short story based on the point of departure in Hindi syllabus will come this time.  निम्नलिखित   प्रस्थान बिंदु के आधार पर 100 से 150 शब्दों में एक लघुकथा लिखिए। (Write a short story in 100 to 150 words based on t